• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • सुनील गावस्कर के लिए वेस्टइंडीज में बनाया गया खास गाना, हद दीवानगी का था आलम

सुनील गावस्कर के लिए वेस्टइंडीज में बनाया गया खास गाना, हद दीवानगी का था आलम

सुनील गावस्कर की गिनती दुनिया के महान बल्लेबाजों में होती है. (Instagram/Rohan Gavaskar)

On this Day, 10 July: 'लिटिल मास्टर' से मशहूर भारत के महानतम बल्लेबाजों में शुमार सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) के लिए वेस्टइंडीज में हद दीवानगी का आलम था. उनके लिए एक खास गाना तक बनाया गया, जिसे 70 के दशक में लॉर्ड रीलेटर ने लिखा था. यह गाना बाद में इतना मशहूर हुआ कि भारत और वेस्टइंडीज के मैचों में अक्सर बजा करता था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दुनिया के महान बल्लेबाजों में शुमार सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) आज यानी 10 जुलाई 2021 को अपना 72वां जन्मदिन मना रहे हैं. भारत के पूर्व कप्तान गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रन का आंकड़ा छूने वाले पहले बल्लेबाज हैं. वह भारत के बाद वेस्टइंडीज में काफी लोकप्रिय हैं. इसका उदाहरण यह है कि सुनील नरेन जैसे क्रिकेटर का नाम भी उन्हीं से प्रेरित होकर रखा गया था. वेस्टइंडीज में उनकी लोकप्रियता का आलम एक वक्त यह था कि उनपर एक गाना भी बनाया गया था.

    10 जुलाई 1949 को बॉम्बे (अब मुंबई) में जन्मे गावस्कर ने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत भी वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मुकाबले से की थी. उन्होंने पोर्ट ऑफ स्पेन में मार्च 1971 में अपने करियर का पहला टेस्ट मैच खेला था. पहले बल्लेबाज, फिर कप्तान और संन्यास लेने के बाद क्रिकेट कमेंटेटर... गावस्कर हर भूमिका में अव्वल ही साबित हुए.

    'लिटिल मास्टर' से मशहूर गावस्कर के लिए वेस्टइंडीज में गाना लिखा गया, जिसे 70 के दशक में लॉर्ड रीलेटर ने लिखा था. उसके बोल कुछ इस तरह थे -It was Gavaskar, the real master, just like a wall. You know the West Indies could not out Gavaskar at all.

    इसे भी पढ़ें, गावस्कर ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों की पंजाबी में गाली सुनकर पूछा था- ये 'पैंट' क्या है?

    यह गाना बाद में इतना मशहूर हुआ कि भारत और वेस्टइंडीज के मैचों में अक्सर बजा करता था. गावस्कर कभी किसी गेंदबाज को खुद पर हावी नहीं होने देते थे. वह छोटे कद के भले ही थे, लेकिन हर गेंदबाज उनके सामने गेंदबाजी करने से पहले थोड़ा सोच-विचार जरूर करता था और अलग ही रणनीति बनाता था. वह अगर क्रीज पर जम जाते तो किसी भी गेंदबाज को मुश्किल में डाल देते थे.



    भारतीय मैदानों में सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 14 टेस्ट मैच खेले थे. इन 14 टेस्ट मैचों में उन्होंने छह शतक जड़े. गावस्कर ने वेस्टइंडीज में 13 टेस्ट मैच खेले थे और 7 शतक लगाए. सुनील गावस्कर का करियर औसत 51 रनों के आस पास का है जबकि वेस्टइंडीज की पिचों पर उन्होंने 70 से ज्यादा की औसत से रन बनाए.

    इसे भी पढ़ें, युवराज बोले. ऋषभ पंत बन सकते हैं टीम इंडिया के कप्तान, वजह भी बताई

    गावस्कर के करियर की बात करें तो उन्होंने टेस्ट में 125 मैच खेले और कुल 10122 रन बनाए. इसके अलावा वनडे में उन्होंने 108 मैचों में 35 से ज्यादा की औसत से कुल 3092 रन बनाए जिसमें एक शतक और 27 अर्धशतक शामिल रहे. उन्होंने टेस्ट में 51 से ज्यादा की औसत से रन बनाए और कुल 34 शतक, 45 अर्धशतक ठोके. घरेलू क्रिकेट में मुंबई का प्रतिनिधित्व करने वाले इस दिग्गज के नाम 348 फर्स्ट क्लास मैचों में कुल 25834 रन दर्ज हैं जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 340 रन है. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 81 शतक और 105 अर्धशतक लगाए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज