सुनील गावस्कर का चयनकर्ताओं पर गंभीर आरोप, कहा-विराट को कप्तान चुनने में की गई प्रक्रिया की अनदेखी

सुनील गावस्कर के अनुसार, विराट कोहली वर्ल्ड कप तक के लिए कप्तान चुने गए थे. इसके बाद चयन समिति को उनकी दोबारा कप्तान के तौर पर नियुक्ति के लिए बैठक करनी चाहिए थी, जो नहीं की गई.

News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 5:01 PM IST
सुनील गावस्कर का चयनकर्ताओं पर गंभीर आरोप, कहा-विराट को कप्तान चुनने में की गई प्रक्रिया की अनदेखी
पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को प्रक्रिया की अनदेखी कर दोबारा कप्तान चुने जाने पर कड़ी टिप्पणी की है.
News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 5:01 PM IST
भारतीय टीम वेस्टइंडीज का दौरा करने के लिए पूरी तरह तैयार है. विराट कोहली की अगुआई में टीम सोमवार रात दौरे के लिए रवाना हो जाएगी. हालांकि पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने इस दौरे के लिए टीम की चयन प्रक्रिया पर सवाल खड़े कर दिए हैं. भारतीय क्रिकेट इतिहास के इस दिग्गज क्रिकेटर ने पूर्व विकेटकीपर एमएसके प्रसाद के नेतृत्व वाली चयन समिति पर विराट कोहली को दोबारा कप्तान चुनने की प्रक्रिया को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है.

मिड डे में लिखे अपने कॉलम में सुनील गावस्कर ने कहा है कि चयनकर्ताओं ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम के चयन से पहले विराट कोहली को कप्तान चुनने के लिए कोई बैठक नहीं की. इससे सवाल खड़ा होता है कि क्या विराट कोहली अपनी और चयन समिति की खुशी से कप्तान बने हैं.

वर्ल्ड कप तक के लिए कप्तान थे कोहली
गावस्कर आगे लिखते हैं कि जहां तक हमारी जानकारी है, उसके हिसाब से विराट कोहली वर्ल्ड कप तक के लिए कप्तान चुने गए थे. इसके बाद चयन समिति को विराट की दोबारा कप्तान के तौर पर नियुक्ति के लिए एक बैठक करनी चाहिए थी, फिर भले ही वह पांच मिनट के लिए ही क्यों न बैठते.

सुनील गावस्कर ने यह भी कहा कि इंडियन प्लेयर्स एसोसिएशन का गठन होना चाहिए, जिसमें मौजूदा क्रिकेटर भी शामिल हों. वर्ना यह एसोसिएशन लेम डक ऑर्गेनाइजेशन (कठपुतली) बनकर रह जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय चयन समिति भी कठपुतली ही है.

cricket, bcci, indian cricket team, virat kohli, sunil gavaskar, india vs west indies, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, सुनील गावस्कर, विराट कोहली, बीसीसीआई, इंडिया वस वेस्टइंडीज
सुनील गावस्कर ने एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली चयन समिति पर भी निशाना साधा.


दोबारा नियुक्ति के बाद चुनते खिलाड़ियों को
Loading...

गावस्कर के अनुसार, दोबारा नियुक्ति के बाद कप्तान को खिलाड़ियों के चयन के लिए होने वाली बैठक में अपने विचार रखने के लिए बुलाया जाता. दोबारा कप्तान चुनने में प्रक्रिया को नजरअंदाज करने के बाद यह मैसेज बाहर गया कि जहां केदार जाधव और दिनेश कार्तिक को अपेक्षाओं पर खरा न उतरने के लिए ड्रॉप कर दिया गया, वहीं विराट की कप्तानी तब भी कायम रही, जबकि वह टीम को फाइनल तक भी नहीं पहुंचा सके.

cricket, bcci, indian cricket team, virat kohli, sunil gavaskar, india vs west indies, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, सुनील गावस्कर, विराट कोहली, बीसीसीआई, इंडिया वस वेस्टइंडीज
विराट कोहली को जहां वेस्टइंडीज दौरे पर सभी प्रारूपों में टीम का कप्तान चुना गया है, वहीं रवि शास्‍त्री का कार्यकाल वेस्टइंडीज दौरे तक ही है.


चयन समिति पर साधा निशाना
टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले दस हजार रनों का आंकड़ा छूने वाले सुनील गावस्कर ने कम अनुभवी चयन समिति पर भी निशाना साधा. मौजूदा समिति में एमएसके प्रसाद के अलावा शरणदीप सिंह, देवांग गांधी, जतिन पराजंपे और गनन खोड़ा शामिल हैं. इनमें से अंतिम दो ने सिर्फ वनडे क्रिकेट खेला है. सुनील गावस्कर ने कहा, ''अब जल्द ही नई चयन समिति का चुनाव होगा. उम्मीद है कि इसमें ऐसे स्तर के लोग होंगे जिन्हें आसान शिकार नहीं बनाया जा सकेगा और जो मैनेजमेंट के सामने अपनी बात मजबूती से रख सकेंगे.''

वर्ल्ड कप में टीम की हार पर कहा था-धोनी को ऊपरी क्रम पर खेलना चाहिए था

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज ओपनर रहे सुनील गावस्कर ने वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में मिली हार के बाद भी टीम इंडिया की योजना पर सवाल उठाए थे. उनका मानना था कि न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में टीम प्रबंधन को अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को ऊपरी क्रम में भेजना चाहिए था. भारतीय टीम ने विश्व कप में नॉकआउट दौर के इस मुकाबले में महज पांच रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे.

यह भी पढ़ें- विराट के करियर का ऐसा 'दाग' जो उनकी कप्तानी छीन सकता है!

धोनी को मिली पोस्टिंग, इस फोर्स के साथ करेंगे कड़ी ट्रेनिंग
First published: July 29, 2019, 4:45 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...