• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET SUNIL GAVASKAR SAID TEAM INDIA MAY NOT DOMINATE WORLD CRICKET LIKE WEST INDIES AND AUSTRALIA

वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया की तरह विश्व क्रिकेट पर राज नहीं कर पाएगा भारत? गावस्कर ने बताई वजह

सुनील गावस्कर ने कहा कि मौजूदा टीम इंडिया के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है. यही उसके विश्व क्रिकेट पर राज करने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा है. (PTI)

विराट कोहली(Virat Kohli) की अगुवाई वाली मौजूदा टीम इंडिया(Team India) ने बीते कुछ सालों में विश्व क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ी है. इसके बावजूद पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) को लगता है कि ये भारतीय टीम वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया की तरह शायद ही क्रिकेट की दुनिया पर राज कर पाए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट के टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि मौजूदा दौर की टीम इंडिया शायद उस तरह विश्व क्रिकेट पर राज नहीं कर पाएगी, जैसा पहले ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज ने किया है. गावस्कर को लगता है कि मौजूदा भारतीय टीम की तुलना 70-80 के दशक की वेस्टइंडीज की टीम से करना जल्दबाजी होगी. उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया प्रतिभाशाली है. फिर भी टीम के प्रदर्शन में निरंतरता का अभाव दिखता है. यही उसके विश्व क्रिकेट पर राज करने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा है.

    गावस्कर ने एक यूट्यूब शो पर बात करते हुए कहा कि मुझे यकीन नहीं है कि मौजूदा भारतीय टीम उस तरह से विश्व क्रिकेट पर अपनी धाक जमाएगी, जैसे कभी वेस्टइंडीज की थी. वो पांचों टेस्ट जीता करते थे. यहां तक कि ऑस्ट्रेलियाई टीम भी पांच में से चार मैच में जीत हासिल करती थी. मैं यकीन से नहीं कह सकता हूं कि मौजूदा टीम इंडिया भी ऐसा कर पाएगी. जबकि इस टीम में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. लेकिन वो लगतार बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाती है. बस यही वजह है, जिसके चलते मुझे अपनी सांस कुछ हद तक रोकनी पड़ती है.

    भारतीय टीम प्रतिभाशाली, लेकिन प्रदर्शन में निरंतरता की कमी: गावस्कर
    पूर्व भारतीय कप्तान ने आगे कहा कि क्रिकेट के खेल में हर बार 11 खिलाड़ी सफल नहीं होते हैं. लेकिन, उनमें से चार- दो बल्लेबाज और दो गेंदबाज सफल हो जाते हैं, तो आप अधिकतर मैच में जीत दर्ज करते हैं और टीम इंडिया ऐसा करने की काबिलियत रखती है. भारतीय टीमों नें बीते कुछ सालों में जबरदस्त क्रिकेट खेली है. टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में लगातार दो टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी है. इसके बाद कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को घरेलू टेस्ट सीरीज में 3-1 से हराया था.

    यह भी पढ़ें : पाकिस्तान में आजम खान के सेलेक्शन पर 'घमासान', पिता की सिफारिश से मिला मौका?

    वेस्टइंडीज लगातार तीन विश्व कप फाइनल खेला
    वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया ने लंबे वक्त तक क्रिकेट की दुनिया पर राज किया. जहां 70-80 के दशक में वेस्टइंडीज की तूती बोलती थी. वहीं, 90 के दशक में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अपनी धाक जमाई. अतीत में कैरेबियाई टीम की सफलता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि इस टीम ने 1975 और 1979 दोनों वनडे वर्ल्ड कप जीते. 1983 में भी ये टीम विश्व कप का फाइनल खेली थी. लेकिन कपिल देव की अगुवाली वाली भारतीय ने उलटफेर कर दिया था. हालांकि, इस दशक के खत्म होते-होते वेस्टइंडीज क्रिकेट भी ढलान पर आ गया.

    धोनी ने नहीं लगने दी थी रिटायरमेंट की भनक, ऋतुराज गायकवाड़ ने बताई उस दिन की कहानी

    ऑस्ट्रेलिय़ा ने लगातार 3 वनडे विश्व कप जीते
    दूसरी ओर, 1990 के बाद ऑस्ट्रेलिया ने विश्व क्रिकेट पर राज करना शुरू किया था. अक्टूबर 1999 से नवंबर 2007 के बीच ऑस्ट्रेलिया ने 93 में से 72 टेस्ट जीते थे. जबकि 11 मैच ड्रॉ कराए थे. वनडे में भी इस टीम की बादशाहत को लंबे वक्त तक कोई चुनौती नहीं दे पाया. इस टीम ने लगातार तीन वनडे वर्ल्ड कप 1999, 2003 और 2007 में जीते थे. वहीं, इस टीम ने लगातार दो बार 2006 और 2009 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी भी जीती थी.
    Published by:Saurabh Mishra
    First published: