चयनकर्ताओं पर भड़के सुरेश रैना, कहा- दिक्‍कत है तो मुंह पर कहो

चयनकर्ताओं पर भड़के सुरेश रैना, कहा- दिक्‍कत है तो मुंह पर कहो
सुरेश रैना 2018 के बाद से ही टीम इंडिया से बाहर हैं

सुरेश रैना (Suresh Raina) ने कहा कि चयनकर्ताओं को और अधिक पेशेवर होना चाहिए.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण क्रिकेट ठप्‍प होने से क्रिकेटर सोशल मीडिया पर लाइव आ रहे हैं. भारतीय क्रिकेटर भी इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हो गए हैं और पिछले काफी समय से टीम से बाहर चल रहे लगभग सभी क्रिकेटर्स ने चयनकर्ता और सीनियर खिलाड़ियों के बीच बातचीत न होने का मुद्दा उठाया. एक बार फिर भारत के बेहतरीन फील्‍डर सुरेश रैना (Suresh Raina) ने ये मुद्दा उठाया.

रैना ने एक इंटरव्‍यू में चयनकर्ताओं पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यदि समस्‍या है तो मुंह पर बताओ. 2018 के बाद से ही टीम से बाहर चल रहे रैना ने खुलासा किया कि चयनकर्ताओं ने टीम से बाहर किए जाने का कोई कारण नहीं बताया.
हलांकि रैना टीम में वापसी की लगातार कोशिश कर रहे हैं. रैना ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ बातचीत न करने की चयनकर्ताओं की कमी की तरफ इशारा किया. भारतीय ऑलराउंडर ने कहा कि हर एक खिलाड़ी कड़ी मेहनत करता है और यह चयनकर्ता की जिम्‍मेदारी है कि वह उन्‍हें बाहर किए जाने का कारण बताए.

कई अच्‍छे चयनकर्ता मौजूद



फैनकोड से बात करते हुए रैना ने खिलाड़ी और चयनकर्ताओं के बीच के रिश्‍ते के बारे में खुलासा किया. उन्‍होंने बताया कि सीनियर खिलाड़ी अक्‍सर उनका समर्थन करते हैं. इस भारतीय खिलाड़ी ने कहा कि यहां दिलीप वेंगसरकर और किरण मोरे जैसे कई अच्‍छे चयनकर्ता हैं, जो जूनियर के साथ-साथ सीनियर खिलाड़ियों से भी अच्छा संवाद करते थे. रैना ने कहा कि वह इस बात को पसंद करेंगे यदि कोई चयनकर्ता सीधे उनके चेहरे पर समस्‍या बात दें.



आमने- सामने बात करने का अधिकार

रैना ने कहा कि एक चयनकर्ता को आमने सामने बात करने का अधिकार होता है और वो भी इसे पसंद करेंगे, क्‍योंकि उन्‍होंने अपने पिता और एमएस धोनी (MS Dhoni) से इसे सीखा है. रैना ने कहा कि अगर कोई दिक्‍कत है तो आप मेरे मुंह पर कहो. मैं इसे हल करूंगा. रैना ने नजरअंदाज किए जाने पर कहा कि उन्‍हें किसी भी खिलाड़ी से कोई भी परेशानी नहीं थी, मगर मुख्‍य मुद्दा यह है कि एक चयनकर्ता पर्याप्‍त रूप से पेशेवर नहीं हैं. यदि एक खिलाड़ी अपने देश को इतना कुछ देता है तो यह उसका अधिकार है कि उसे उसके सवालों के जवाब मिले.

आज ही के दिन पहली बार आईपीएल चैंपियन बनी थी मुंबई, धोनी ने कर दी थी बड़ी 'गलती

युवराज सिंह की फोटो पर 'एक्स गर्लफ्रेंड' ने किया कमेंट, पत्नी हेजल कीच के पास पहुंची 'शिकायत'
First published: May 26, 2020, 9:20 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading