दूसरी बार सर्जरी के लिए तैयार नहीं थे रैना, मगर दर्द ने कर दिया मजबूर

सर्जरी के बाद सुरेश रैना (suresh raina) ने कहा कि वह सर्जरी नहीं करवाना चाहते थे, लेकिन जब दर्द बढ़ गया तो उन्हें मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा

भाषा
Updated: August 11, 2019, 2:11 PM IST
दूसरी बार सर्जरी के लिए तैयार नहीं थे रैना, मगर दर्द ने कर दिया मजबूर
पिछले सत्र में घुटने की चोट से जूझ रहे सुरेश रैना ने हाल ही में दूसरी बार सर्जरी करवाई
भाषा
Updated: August 11, 2019, 2:11 PM IST


भारतीय टीम से बाहर चल रहे मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना ने कहा कि दूसरी बार घुटने का ऑपरेशन कराने का फैसला मुश्किल था, क्योंकि उन्हें पता था कि इसके कारण वह कुछ महीनों के लिए क्रिकेट से दूर हो जाएंगे.

बायें हाथ के बल्लेबाज रैना ने कुछ दिन पहले घुटने का ऑपरेशन कराया. इस चोट के कारण वह पिछले सत्र से परेशान थे और इससे उबरने के लिए उन्हें कम से कम छह हफ्ते के कड़े रिलैबिलिटेशन से गुजरना होगा. इस वजह से वह महीने के अंत में शुरू होने वाले अधिकांश घरेलू सत्र से बाहर रहेंगे.

ऑपरेशन के लिए तैयार नहीं थे



रैना ने सोशल मीडिया पर लिखा कि ईमानदारी से कहूं तो दूसरी बार घुटने का ऑपरेशन कराने का फैसला कड़ा था, क्योंकि उन्हें पता था कि इसके कारण वह कुछ महीनों के लिए बाहर हो जाएंगे और कुछ हफ्ते पहले तक वह इसके लिए तैयार नहीं थे. इसके बाद दर्द बढ़ गया और उन्हें पता था कि इससे बाहर निकलने का सिर्फ एक तरीका है.

रैना ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वह जल्द ही अपने पैरों पर खड़े हो जाएंगे, मैदान पर उतरेंगे और जल्द ही अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए तैयार हो जाएंगे.
Loading...

लंबे समय से दर्द से जूझ रहे थे रैना

भारत की ओर से 18 टेस्ट, 226 वनडे और 78 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले रैना ने पिछली बार लीड्स में जुलाई 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भारत का प्रतिनिधित्व किया था.

उन्होंने कहा कि यह समस्या काफी पहले शुरू हो गई थी. 2007 में उन्होंने पहली बार घुटने की सर्जरी कराई और बाद में वह  मैदान पर उतरे. अपना शत प्रतिशत दिया. उन्होंने डॉक्टर्स और ट्रेनर्स को इसके लिए धन्यवाद दिया.

रैना ने खुलासा किया कि पिछले कुछ वर्षों से हालांकि दर्द हो रहा था. इस दर्द का उनके खेल पर असर नहीं पड़े, इसके लिए ट्रेनरों ने उनकी काफी मदद की, जिससे कि उनके घुटनों पर अधिक जोर नहीं पड़े.

मौके का फायदा उठाने वाला खिलाड़ी बनना चाहते हैं अय्यर

कोहली ने लिया बोतल खोलने का चैलेंज, पास खड़े रहे शास्त्री

 


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 2:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...