सूर्य को मिल गया अपनी चमक दिखाने का मौका, विध्वंसक बल्लेबाजी से अंग्रेजों को किया चकाचौंध

सूर्यकुमार यादव को टी20 सीरीज के तीन मैच में मौका मिला. (फोटो-AP)

सूर्यकुमार यादव को टी20 सीरीज के तीन मैच में मौका मिला. (फोटो-AP)

मुंबई में 14 सितंबर 1990 में जन्में 30 वर्षीय सूर्यकुमार यादव की विस्फोटक बल्लेबाजी किसी भी विरोधी टीम में खलबली मचाने की क्षमता रखती है. सूर्यकुमार यादव ने 2010 में अपने पदार्पण रणजी मैच में ही दिल्ली के खिलाफ 73 रन की शानदार पारी खेली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 10:53 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. लगातार अपने शानदार प्रदर्शन से टीम इंडिया के दरवाज़े खटखटा रहे सूर्यकुमार यादव के लिए आखिरकार वह समय आ ही गया जब उन्हें भारतीय टीम के लिए चुन लिया गया. दुबई में आईपीएल 2020 में भी सूर्यकुमार यादव ने अपने बल्ले का जलवा दिखाया और 16 मैच की 15 पारियों में उन्होंने 480 रन बनाए, जिसमें उनकी चार शानदार तूफानी अर्द्धशतकीय पारियां शामिल थीं. स्ट्राइक रेट रही 145.01 की. डोमेस्टिक क्रिकेट के साथ ही आईपीएल में सूर्यकुमार यादव के प्रदर्शन को देखते हुए, ऐसी संभावना थी उन्हें ऑस्ट्रेलियाई दौरे के लिए भारतीय टीम में जगह मिल जाएगी. लेकिन उनका टीम में चयन नहीं हुआ. जिसको लेकर कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स और कुछ पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों के बीच चर्चा भी रही, कि उनका चयन होना था.

विजय हजारे ट्रॉफी में किया धमाकेदार प्रदर्शन

मुंबई के आतिशी बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने यहां भी हार नहीं मानी और डोमेस्टिक क्रिकेट में, खासतौर से विजय हजारे ट्रॉफी 2021 के शुरुआती मैचों में बढ़िया प्रदर्शन कर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर खींचा. विजय हजारे ट्रॉफी में सूर्यकुमार यादव ने पांच ग्रुप लीग मैचों में 332 रन बनाए, जिसमें उनकी 133 रनों की शानदार धुआंधार पारी भी शामिल थी. 66.40 की औसत से रन बनाने वाले सूर्यकुमार यादव ने 151.59 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की. इस प्रदर्शन को देखते हुए अंततः उन्हें उन्हें इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेली जाने वाली पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुन लिया गया.

सीरीज के दूसरे मैच में सूर्यकुमार यादव के सामने वह सुनहरा लम्हा भी आ ही गया, जिसका हर खिलाड़ी ख्वाब देखता है, यानी उन्हें टीम इंडिया की कैप मिल गई. यह बात अलग है कि इस मैच में सूर्यकुमार यादव को बल्लेबाpr में अपने तेवर दिखाने का मौका नहीं मिल सका. हां इस मैच में उन्होंने बढ़िया फील्डिंग करते हुए एक शानदार कैच भी लपका. दो मैचों में रेस्ट के बाद सीरीज के तीसरे मैच में रोहित शर्मा की वापसी हुई और सूर्यकुमार यादव को अंतिम ग्यारह में स्थान नहीं मिल सका.
जोफ्रा आर्चर की गेंद पर साहसिक छक्का

सीरीज के चौथे मैच में एक बार फिर सूर्यकुमार यादव को टीम में सम्मिलित किया गया. टीम में न सिर्फ उनकी वापसी हुई, बल्कि टी20 इंटरनेशनल मैच में उन्होंने धमाकेदार आगाज़ करके अपनी बल्लेबाज़ी की चकम से अंग्रेज़ खिलाड़ियों को चकाचौंध कर दिया. रोहित शर्मा के जल्दी आउट होने के बाद उन्हें तीसरे नंबर पर मैदान पर उतारा गया. यहां शायद ही किसी ने यह सोचा होगा कि टी20 इंटरनेशनल मैच में पहली बार बल्लेबाज़ी कर रहे सूर्यकुमार यादव जोफ्रा आर्चर की एक ऐसी शॉर्ट पिच तेज़ व सटीक बाउंसर को, जिस पर कई बल्लेबाज अपना संतुलन खो सकते हैं, उस ख़तरनाक गेंद को वे शानदार तरीके से लगभग हुक करते हुए 6 रन के लिए स्टैंड्स में भेज देंगे. इस अद्भुत व साहसिक शॉर्ट ने न सिर्फ रोमांचित कर दिया, बल्कि लोगों को अंचंभे में डाल दिया.

सूर्यकुमार यादव ने जोरदार शुरुआत तो की ही साथ ही इस राह पर तेजी से चले और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए मात्र 37 गेंदों में अर्द्धशतक जड़ दिया. यादव ने 183.87 की स्ट्राइक रेट से अपनी 57 रनों की विस्फोटक पारी के दौरान 6 चौके और 3 छक्के लगाए और अंग्रेज़ गेंदबाज़ों के नाक में दम कर दिया.



रणजी के पदार्पण मैच में भी बनाया अर्द्धशतक

सूर्यकुमार यादव ने 2010 में अपने पदार्पण रणजी मैच में ही दिल्ली के खिलाफ 73 रन की शानदार पारी खेली थी. उन्होंने मुंबई के लिए पूरा डोमेस्टिक सत्र खेला और वे जल्दी ही रणजी सत्र में मुंबई के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में आ गए. उन्होंने ओडिशा के खिलाफ दोहरा शतक भी बनाया. इसके बाद अगले ही मैच में एक और शतक बनाया. सूर्यकुमार यादव की सफलता का सिलसिला दिलीप ट्रॉफी में भी बदस्तूर जारी रहा और यहां भी उन्होंने एक सैकड़ा लगाया. सूर्यकुमार यादव के लिए अगला घरेलू सत्र अच्छा नहीं रहा, लेकिन यादव ने 2013-14 के डोमेस्टिक सत्र में एक बार फिर अच्छी वापसी की और मुंबई के सबसे सबसे अधिक रन बनाने वाले शीर्ष तीन बल्लेबाजों में शामिल रहे. स्वाभाविक रूप से स्ट्रोक प्लेयर सूर्यकुमार यादव की प्रतिभा को देखते हुए मुंबई इंडियंस ने 2011 में उन्हें अपनी टीम में शामिल किया. आईपीएल 2014 के ऑक्शन में सूर्यकुमार यादव को कोलकाता नाइट राइडर्स ने अनुबंधित किया.

यह भी पढ़ें:

India vs England Match Preview: निर्णायक मुकाबले में होगी बादशाहत की जंग, भारत-इंग्लैंड की नजरें सीरीज जीत पर

India vs England: हार के बाद इंग्लैंड की पूरी टीम पर लगा जुर्माना, ऑयन मॉर्गन ने भी मानी गलती

आंकड़ों के आइने में सूर्य

सूर्यकुमार यादव ने अब तक 101 आईपीएल मैचों की 86 पारियों में 134.57 की स्ट्राइक रेट से 2024 रन बनाए हैं, जिसमें ग्यारह अर्द्धशतक शामिल हैं. कुल मिलाकर उन्होंने 172 टी20 मैचों में 3624 रन किए हैं. स्ट्राइक रेट 140.62 की रही है. लिस्ट ए के 98 मैचों में सूर्यकुमार यादव ने 2779 रन बनाए हैं, जिसमें उन्होंने 3 शतक और 17 अर्द्धशतक लगाए हैं. स्ट्राइक रेट 103.8 रही है. यादव ने अब तक 77 प्रथम श्रेणी मैचों में 44.01 की औसत से 5326 रन बनाए हैं, जिसमें उन्होंने 26 अर्धशतक और 14 शतक शामिल हैं. उनका उच्चतम योग 200 रन रहा है. सूर्यकुमार यादव के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए चयनकर्ताओं ने उन्हें भारत की वनडे टीम में भी शामिल किया है.

सूर्य में है विरोधी खेमे में खलबली मचाने की क्षमता..

मुंबई में 14 सितंबर 1990 में जन्में 30 वर्षीय सूर्यकुमार यादव की विस्फोटक बल्लेबाजी किसी भी विरोधी टीम में खलबली मचाने की क्षमता रखती है. शानदार फुटवर्क के साथ बैकफुट पर भी उतने ही मजबूत, टाइमिंग और परफेक्ट प्लेसमेंट के अलावा लाजवाब रिफ्लेक्सेस के साथ गजब के इम्प्रोवाइजर और गेंद को जल्दी से भांप लेने की क्षमता सूर्यकुमार यादव को एक सफल आक्रामक बल्लेबाज बनाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज