धोनी के फैसलों में दखल न दें, उन्हें अकेला छोड़ दो, इस दिग्गज विकेटकीपर ने कही ये बड़ी बात

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 2:49 PM IST
धोनी के फैसलों में दखल न दें, उन्हें अकेला छोड़ दो, इस दिग्गज विकेटकीपर ने कही ये बड़ी बात
वर्ल्ड कप के बाद से ही एमएस धोनी के संन्यास की चर्चाएं तेज हो गई थी

सैयद किरमानी (Syed Kirmani) ने कहा कि एमएस धोनी (MS Dhoni) के पास टीम को देने के लिए अभी भी काफी कुछ है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 2:49 PM IST
  • Share this:


वर्ल्ड कप के बाद से ही भारत के दिग्गज विकेटकीपर- बल्लेबाज एमएस धोनी (MS Dhoni) के संन्यास की चर्चाएं तेज होने लगी थी. यही नहीं इस पर दो गुट भी बन गए. जिसमें से गुट उन्हें अभी भी खेलते हुए देखना चाहता है और वहीं दूसरे गुट का मानना है कि धोनी को ये जिम्मेदारी आ रहे युवाओं को दे देनी चाहिए. धोनी के संन्यास को लेकर सिर्फ उनके फैंस के बीच ही डिबेट नहीं हो रही, बल्कि पूर्व क्रिकेटर्स भी इसमें अपनी अलग- अलग राय रखते हैं.

पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी (Syed Kirmani) का मानना है कि धोनी के पास अभी भी भारतीय क्रिकेट टीम को देने के लिए काफी कुछ है और उन्हें अपने भविष्य के फैसले को लेकर अकेला छोड़ देना चाहिए. किरमानी ने कहा कि उन्हें अकेला छाेड़ दे. एक समय होगा, जब वह संन्यास ले लेंगे, लेकिन अभी हमें उनके संन्यास के बारे में बात करना छोड़ देना चाहिए.

धोनी अब तक के सर्वश्रेष्ठ कप्तान

पूर्व विकेटकीपर ने कहा कि जिस तरह से उन्होंने टीम इंडिया की कप्तानी की है, उससे वह अब तक के सबसे सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं. वह टेस्ट, वनडे और टी20 में टीम को काफी आगे तक लेकर गए. उन्होंने कहा कि धोनी युवा भारतीय क्रिकेटर्स के लिए एक रोल मॉडल हैं. उन्हें रहना चाहिए. उन्हाेंने पहले ही टेस्ट क्रिकेट से संन्‍यास ले लिया था. यह उनका फैसला था. हमें उनके मामले में दखलअंदाजी नहीं करनी चाहिए. उन्होंने साथ ही ये भी पूछा कि क्या कोई और धोनी की तरह शोहरत कमा पाया.

किरमानी ने कहा कि धोनी के आसपास घूमने वाले सवाल हमेशा आते हैं, जब एक विकेटकीपर अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर पहुंच जाता है. फारुख इंजीनियर अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर थें तो हर कोई पूछ रहा था कि अगला कौन है और उसके बाद किरमानी आए. फिर किरन मोरे और धोनी आए.

आसान नहीं होती विकेटकीपिंग
Loading...


उन्होंने कहा कि कोई न कोई जरूर उनकी जगह लेगा. उनकी नजर में तीन चार योग्य विकेटकीपर हैं. क्रिकेट में विकेटकीपिंग आसान नहीं होती. उन्होंने कहा कि मैदान पर यह सबसे मुश्किल स्‍थान होता है. हर कोई सिर्फ ग्लव्स पहनकर विकेटकीपिंग नहीं कर सकता.


किरमानी ने ऋद्धिमान साहा ने बारे में कहा कि धोनी के 2014 में टेस्ट  क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वह इस फॉर्मेट में बतौर विकेटकीपर भारत की पहली पसंद थे. लेकिन चोट की वजह से उनकी जगह ऋषभ पंत को शामिल किया गया.


'भारतीय की 'मदद' से हेडिंग्ले टेस्ट जीता था इंग्लैड'

रवि शास्‍त्री के लिए विराट नहीं, ये शख्स है टीम में नंबर 2

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 2:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...