लाइव टीवी

एक आंख खराब, वेल्डर का काम किया, उधार के जूतों से खेला, अब दिनेश कार्तिक की टीम को जिताया

News18Hindi
Updated: November 8, 2019, 9:55 PM IST
एक आंख खराब, वेल्डर का काम किया, उधार के जूतों से खेला, अब दिनेश कार्तिक की टीम को जिताया
जी पेरियास्‍वामी तमिलनाडु प्रीमियर लीग से सुर्खियों में आए थे.

तमिलनाडु की जीत के हीरो जी पेरियास्‍वामी (G Periyaswamy) रहे जिनके पास कुछ महीनों पहले तक अपने खुद के जूते भी नहीं थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2019, 9:55 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम: तेज गेंदबाज टी नटराजन (T Natarajan) और पदार्पण कर रहे जी पेरियास्वामी (G Periyaswamy) के तीन-तीन विकेटों की बदौलत तमिलनाडु (Tamil Nadu) ने शुक्रवार को यहां सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) टी20 टूर्नामेंट में ग्रुप बी के शुरुआती मैच में केरल (Kerala) को 37 रन से शिकस्त दी. बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद मेहमान टीम ने एम मोहम्मद (M Mohammed) (34 रन) के अंत में रन बनाने से निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 174 रन बनाए. इसेक बाद उसने केरल को आठ विकेट पर 137 रन ही बनाने दिए.

तमिलनाडु की जीत के हीरो जी पेरियास्‍वामी (G Periyaswamy) रहे जिनके पास कुछ महीनों पहले तक अपने खुद के जूते भी नहीं थे. लसित मलिंगा की तरह गेंद फेंकने वाले इस गेंदबाज ने तमाम संघर्षों को पीछे छोड़ते हुए काफी कम समय में अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ी है. उनके बारे में एक तथ्‍य यह भी है कि वे एक आंख से देख नहीं सकते.

syed mushtaq ali trophy 2019, g periyaswamy story, g periyaswamy bowling, tamil nadu vs kerala match, g periyaswamy tnpl, जी पेरियास्‍वामी स्‍टोरी, सैयद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी 2019, तमिलनाडु क्रिकेट टीम, तमिलनाडु केरल मैच, दिनेश कार्तिक मैच
जी पेरियास्‍वामी का गेंदबाजी एक्‍शन लसित मलिंगा जैसा है.


मोहम्‍मद ने 300 की स्‍ट्राइक से मारे रन

पहले बल्‍लेबाजी करते हुए अनुभवी मुरली विजय (Murali Vijay) और एन जगदीशन के जल्दी आउट होने के बाद फॉर्म में चल रहे बाबा अपराजित (35) और कप्तान दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) (33) ने तमिलनाडु को उबारा. लेकिन बाबा अपराजित रिटायर्ड हर्ट होकर पवैलियन लौट गए. विजय शंकर (25) और शाहरुख खान (28) ने मिडिल ऑर्डर ने आतिशी पारियां खेलीं. लेकिन मोहम्मद ने अंत में तीन चौके और इतने ही छक्के जड़कर टीम को 174 रन तक पहुंचाया. उन्‍होंने 300 से ज्‍यादा की स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए. केरल की ओर से बासिल थंपी ने सबसे ज्‍यादा 3 विकेट लिए लेकिन वे काफी महंगे भी साबित हुए. उन्‍होंने अपने कोटे के 4 ओवर में 49 रन लुटाए.

नाकाम रही केरल की बैटिंग
लक्ष्‍य का पीछा करते हुए केरल की शुरुआत खराब रही और कप्‍तान रोबिन उथप्‍पा 9 रन बनाकर आउट हो गए. उन्‍हें पहला मैच खेल रहे जी पेरियास्‍वामी ने टी नटराजन के हाथों कैच कराया. इसके बाद विष्‍णु विनोद (24) और रोहन कुन्‍नुमल (34) ने पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन एम मोहम्‍मद ने गेंद से कमाल दिखाते हुए विनोद को आउट किया. इसके बाद केरल के विकेट नियमित अंतराल पर गिरते रहे. सचिन बेबी (32) और मोहम्‍मद अजहरुद्दीन ने कोशिश की लेकिन ये दोनों भी बड़ी पारी नहीं खेल पाए. ऐसे में केरल की टीम 20 ओवर में 8 विकेट पर 137 रन ही बना सकी.
Loading...

g periyaswamy, g periyaswamy story, g periyaswamy struggle, g periyaswamy tnpl, g periyaswamy chepauk super gillies, tamilnadu premier league, जी पेरियास्वामी, जी पेरियास्वामी टीएनपीएल, जी पेरियास्वामी क्रिकेट, जी पेरियास्वामी तमिलनाडु प्रीमियर लीग
जी पेरियास्‍वामी को टीएनपीएल 2019 का प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया. वे फाइनल में प्‍लेयर ऑफ द मैच रहे थे.


टीएनपीएल के हीरो पेरियास्‍वामी पहले ही मैच में छाए
टी नटराजन ने 25 रन देकर 3 और जी पेरियास्‍वामी ने 36 रन देकर 3 विकेट लिए. मुरुगन अश्विन और एम मोहम्‍मद को एक विकेट मिला. तमिलनाडु के लिए पेरियास्‍वामी का प्रदर्शन सुर्खियां बटोरने वाला रहा. यह खिलाड़ी कुछ महीने पहले हुई तमिलनाडु प्रीमियर लीग से खबरों में आया था. वे इस टूर्नामेंट को जीतने वाली चेपॉक सुपर गिलीज टीम के सदस्‍य थे.
पेरियास्‍वामी ने फाइनल में 5 और टूर्नामेंट में सबसे ज्‍यादा 21 विकेट चटकाए थे. यह इस टूर्नामेंट के इतिहास में किसी भी गेंदबाज का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन है.
इस तरह के प्रदर्शन के बूते पेरियास्‍वामी को प्‍लेयर ऑफ द फाइनल और टूर्नामेंट चुना गया था. उनका गेंदबाजी एक्‍शन स्लिंग है और वे लसित मलिंगा की तरह गेंद डालते हैं.


संघर्षों से भरा रहा है पेरियास्‍वामी का जीवन
7 साल की उम्र में तमिलनाडु के इस क्रिकेटर को चिकन पॉक्‍स हो गया था. इसके चलते उनकी दायीं आंख की रोशनी चली गई थी. इसके चलते स्‍कूल में बच्‍चे उन्‍हें परेशान किया करते थे. ऐसे में 7वीं के बाद उन्‍हें स्‍कूल छोड़नी पड़ी. पेरियास्‍वामी के पिता गणेशन चाय की दुकान चलाते हैं और मां गंधमणि पालतू पशु चराती हैं. परिवार की मदद के लिए पेरियास्‍वामी ने भी वेल्‍डर के रूप में काम किया. तमिलनाडु क्रिकेट टीम के उनके साथी टी नटराजन ने ही उन्‍हें करियर बनाने में मदद की. तमिलनाडु प्रीमियर लीग में वे नटराजन के जूते पहनकर ही खेले थे.

वहीं ग्रुप के अन्य मैचों में विदर्भ ने त्रिपुरा को हराकर चार अंक अपने नाम किये जबकि राजस्थान ने मणिपुर को शिकस्त दी.

पांडे-राहुल के बिना कर्नाटक ने लगाई जीत की झड़ी, लगातार 15 टी20 मैच जीते

रोहित के कोच के बेटे ने बॉलिंग में बरपाया कहर, विरोधी टीम को मिली बुरी हार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 9:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...