Home /News /sports /

T20 World Cup: मेंटॉर धोनी का नहीं चला जादू, पहली परीक्षा में फेल! क्या अब भी मिलेगा मौका?

T20 World Cup: मेंटॉर धोनी का नहीं चला जादू, पहली परीक्षा में फेल! क्या अब भी मिलेगा मौका?

T20 World Cup 2021: एमएस धोनी (MS Dhoni) बतौर मेंटॉर पहले टूर्नामेंट में टीम इंडिया को सफलता नहीं दिला सके. (AP)

T20 World Cup 2021: एमएस धोनी (MS Dhoni) बतौर मेंटॉर पहले टूर्नामेंट में टीम इंडिया को सफलता नहीं दिला सके. (AP)

T20 World Cup 2021: एमएस धोनी (MS Dhoni) बतौर मेंटॉर टीम इंडिया (Team India) को सफलता नहीं दिला सके. बीसीसीआई (BCCI) ने उनके अनुभव और आईसीसी टूर्नामेंट में सफलता के कारण उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी थी. लेकिन टीम सिर्फ 4 मैच खेलकर ही टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है. आज नामीबिया (Namibia) से होने वाले मैच का कोई औचित्य नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. एमएस धोनी (MS Dhoni) को टी20 वर्ल्ड कप से पहले टीम का मेंटॉर बनाया गया था. तब उम्मीद लगाई जा रही थी कि टीम टूर्नामेंट में (T20 World Cup 2021) अच्छा प्रदर्शन करेगी. लेकिन टीम इंडिया (Team India) सिर्फ 4 मैच खेलकर ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई. अभी टीम का एक मुकाबला बाकी भी है. यानी धोनी पहली परीक्षा में टीम इंडिया को सफलता नहीं दिला सके. धोनी ने मेंटॉर बनने के लिए बीसीसीआई (BCCI) से किसी तरह के पैसे भी नहीं लिए थे. तब उनकी खूब वाहवाही हो रही थी, लेकिन खराब रिजल्ट के बाद उन पर भी सवाल उठेंगे. टीम टूर्नामेंट के अंतिम मुकाबले में आज नामीबिया (Namibia) से भिड़ेगी, लेकिन इस मैच का कोई औचित्य नहीं है. यह बतौर टी20 कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का अंतिम मैच है. इसके अलावा कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) भी इसके बाद टीम इंडिया के साथ नहीं रहेंगे.

एमएस धोनी को मेंटॉर बनाए जाने के पीछे यह तर्क दिया गया था कि कि वे भारत के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक हैं. इसके अलावा उन्होंने टीम के कई खिलाड़ियों के साथ लंबे समय तक खेला है. फिर आखिर कहां चूक हो गए, यह विश्लेषण करने वाली बात है. टीम के पास विराट काेहली, रोहित शर्मा, कोच रवि शास्त्री जैसे दिग्गज भी थे. मैदान पर धोनी को हार्दिक पंड्या, ऋषभ पंत, विराट कोहली, वरुण चक्रवर्ती के साथ कई बार तैयारी करते हुए भी देखा गया, लेकिन ये खिलाड़ी मैच में कुछ खास नहीं कर सके.

धोनी सीएसके को चैंपियन बनाकर आए थे

एमएस धोनी से इसलिए भी उम्मीद थी, क्योंकि वे आईपीएल 2021 में सीएसके (CSK) को चैंपियन बनाकर आ रहे थे. सीएसके टूर्नामेंट की (IPL 2021) सबसे उम्रदराज टीम थी. फिर भी टीम ने टी20 में धाक जमाते हुए चाैथी बार खिताब जीता था. धाेनी ने अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को 2007 में टी20 वर्ल्ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्ड कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब दिलाया था. टीम 2013 के बाद से आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सकी है. इस कारण भी सभी धोनी की ओर देख रहे थे.

अब राहुल द्रविड़ पर है टीम का दारोमदार

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को टीम इंडिया का नया कोच बना दिया गया है. उन्हें 2023 तक के लिए जिम्मेदारी दी गई है. यानी तब तक एमएस धोनी का टीम इंडिया से जुड़ना संभव नहीं है. द्रविड़ पहले से जूनियर खिलाड़ियों को तैयार करते रहे हैं. इसके अलावा अब टीम को दो कप्तान भी मिलने वाले हैं. विराट कोहली (Virat Kohli) टी20 वर्ल्ड कप के बाद टी20 टीम की कमान छोड़ रहे हैं. द्रविड़ को 2022 टी20 वर्ल्ड कप और 2023 वनडे वर्ल्ड कप के अलावा वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भी खुद को साबित करना होगा.

यह भी पढ़ें: T20 world Cup Semifinal lineup: पाकिस्तान की भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से, रिकॉर्ड बराबरी का, न्यूजीलैंड को भी मिलेगी टक्कर

यह भी पढ़ें: T20 World Cup: विराट कोहली और रवि शास्त्री की 5 गलतियां जो टीम इंडिया को ले डूबीं! आईसीसी टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन जारी

नए खिलाड़ियों को तैयार करने पर जोर

अगला टी20 वर्ल्ड कप 2022 में ऑस्ट्रेलिया में होना है. ऐसे में राहुल द्रविड़ के पास एक साल से भी कम का समय है. ऐसे में उनकी नजर युवा खिलाड़ियों पर होगी, जो अभी आईपीएल 2021 में अच्छा प्रदर्शन करके आ रहे हैं. इसमें प्रमुख रूप से ऋतुराज गायकवाड़, वेंकटेश अय्यर, मोहम्मद सिराज, आवेश खान हैं. इसके अलावा सीनियर गेंदबाज युजवेंद्र चहल की भी टीम में वापसी हो सकती है.

Tags: BCCI, Cricket news, Ms dhoni, Rahul Dravid, Ravi shastri, T20 WC, T20 World Cup, T20 World Cup 2021, Team india, Virat Kohli

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर