होम /न्यूज /खेल /T20 World Cup: जब धोनी-युवराज की सुस्त रफ्तार ने छीन लिया भारत से वर्ल्ड कप

T20 World Cup: जब धोनी-युवराज की सुस्त रफ्तार ने छीन लिया भारत से वर्ल्ड कप

T20 World Cup Tales: एमएस धोनी, युवराज सिंह और रोहित शर्मा... यह वो नाम हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को गर्व करने के अ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

धोनी-युवराज की सुस्त रफ्तार बल्लेबाजी पड़ी भारत को भारी
2014 में दूसरी बार टी20 विश्व कप जीतने के अरमान रह गए अधूरे

T20 World Cup: 2007 में शुरू हुआ टी20 वर्ल्ड कप का सफर 2014 में अपने पांचवें पड़ाव पर पहुंचा. क्रिकेट का महाकुंभ इस साल बांग्लादेश में लगा. इसे टी20 क्रिकेट की बढ़ती पॉपुलैरिटी कहिए या इस खेल के प्रसार की कोशिश. लेकिन इस बार वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली टीमों की संख्या बढ़ा दी गई. पहली बार टी20 विश्व कप में 16 टीमों ने हिस्सा लिया. हर बार की तरह भारत और पाकिस्तान खिताब के दावेदार के तौर पर उतरे. वेस्टइंडीज खिताब का बचाव करने उतरा तो ऑस्ट्रेलिया को अब भी अपने पहले खिताब की तलाश थी. श्रीलंका दो बार फाइनल हार चुका था और उस पर यह साबित करने का दबाव था कि वह चोकर नहीं है. वहीं, एबी डिविलियर्स के दक्षिण अफ्रीका पर चोकर का दाग हटाने का दबाव था. कुल मिलाकर एक अनार और सौ बीमार…

बांग्लादेश में खेले गए इस वर्ल्ड कप की औपचारिक शुरुआत तो 16 मार्च को हुई. लेकिन असल मुकाबला यानी टूर्नामेंट का दूसरा दौर 21 मार्च से खेला गया. इस दूसरे दौर का आगाज भारत-पाक मुकाबले से हुआ. भारतीय टीम पिछले तीन विश्व कप में सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच पाई थी. इस कारण वह इस बार कोई कोरकसर नहीं छोड़ने वाली थी. टीम इंडिया ने अपने पहले ही मुकाबले, जो किसी फाइनल से कम नहीं था, में पाकिस्तान को बड़ी आसानी से रौंद दिया. चार साल पहले वर्ल्ड कप जीतने वाली पाकिस्तान की टीम भारत के सामने 130 रन ही बना सकी. भारत ने एक ओवर बाकी रहते ही यह मैच जीत लिया.

अश्विन-विराट ने सेमीफाइनल में दिलाई जीत
धोनी ब्रिगेड की जीत का यह सिलसिला लंबा चला और वह अपने चारों मैच जीतकर सेमीफाइनल में आ पहुंची. उसने वेस्टइंडीज को 7 विकेट, बांग्लादेश को 8 विकेट और ऑस्ट्रेलिया को 73 रन से हराया. विशाल अंतर की यह जीत बता रही थी कि भारत इस बार खिताब के लिए किस कदर बेताब था. सेमीफाइनल में उसका सामना दक्षिण अफ्रीका से हुआ. मुकाबला मुश्किल था, लेकिन रविचंद्रन अश्विन की गेंदबाजी और विराट कोहली की बैटिंग ने इसे आसान बना दिया. अश्विन ने 3 विकेट झटके और विराट ने 72 रन की खूबसूरत पारी खेली.

दूसरे छोर से श्रीलंका एक बार फिर फाइनल में आ धमका. पांच टी20 वर्ल्ड कप में यह तीसरा मौका था, जब लंका खिताब के लिए जोर आजमाइश करने जा रहा था. उसने सेमीफाइनल में गत चैंपियन वेस्टइंडीज की चुनौती ध्वस्त की.

बल्लेबाजों ने तोड़े विश्व कप जीतने के अरमान
इसके बाद आई 6 अप्रैल की तारीख. जब भारत और श्रीलंका की टीमों के बीच फाइनल खेला गया. एमएस धोनी, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, विराट कोहली की मौजूदगी में भारतीय टीम खिताब की तगड़ी दावेदार थी. और श्रीलंका अंडर एचीवर के तौर पर सामने था. इस मुकाबले की शुरुआत भारत की बैटिंग से हुई. और भारत की बैटिंग ही रही, जिसके लिए यह मैच याद किया जाना चाहिए. अपेक्षाकृत कमजोर माने जाने वाले श्रीलंका के गेंदबाजों ने ऐसी लाइन-लेंथ पकड़ी कि भारतीय बल्लेबाजों के हाथ-पांव फूल गए. विराट कोहली को छोड़ दें तो एक भी भारतीय बैटर श्रीलंकाई चीतों का ठीक से सामना नहीं कर सका. विराट ने 58 गेंद पर 77 रन बनाए. लेकिन बाकी बल्लेबाजों के स्कोर भी आपको जरूर जान लेने चाहिए.

ओपनर रोहित शर्मा 26 गेंद पर 29 रन और अजिंक्य रहाणे 8 गेंद पर 3 रन बनाकर आउट हुए. युवराज सिंह की बल्लेबाजी देख टेस्ट मैच याद आ गया. उन्होंने 21 गेंद पर 11 रन बनाए. कप्तान धोनी के खाते में 7 गेंद पर 4 रन दर्ज थे.

World Cup Tales: वेस्टइंडीज ने 32 साल बाद दिखाया दम और मात खा गई माही-सेना

VIDEO World Cup Tales: इंग्लैंड में पहली बार मना क्रिकेट वर्ल्ड कप का जश्न, भारत-ऑस्ट्रेलिया फिर फेल

युवराज, धोनी, रोहित और रहाणे की धीमी बैटिंग का नतीजा यह रहा कि भारत 20 ओवर में सिर्फ 130 रन बना सका. टी20 क्रिकेट में 131 का लक्ष्य तब तक बड़ा नहीं होता जब तक सामने वाली टीम सरेंडर ना कर दे. श्रीलंका ने ऐसा नहीं किया. उसने बड़ी आसानी से 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. इस तरह भारत ट्रॉफी के बेहद करीब पहुंचकर भी उसे अपने साथ नहीं ला सका.
रेस्ट इज हिस्ट्री.

Tags: India Vs Sri lanka, Ms dhoni, T20 World Cup, T20 World Cup 2022, Team india, Yuvraj singh

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें