टीम इंडिया के इस अहम सदस्य ने ठीक से नहीं निभाई जिम्मेदारी, होगी छुट्टी!

मुख्य कोच रवि शास्‍त्री और कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद 45 दिन के लिए बढ़ा दिया गया है, लेकिन इन सभी में एक कोच के प्रदर्शन पर पैनी नजर रखी जा रही है.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 2:50 PM IST
टीम इंडिया के इस अहम सदस्य ने ठीक से नहीं निभाई जिम्मेदारी, होगी छुट्टी!
वर्ल्ड कप से टीम इंडिया की हार के बाद कोच रवि शास्‍त्री की भी काफी आलोचना की जा रही है. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 2:50 PM IST
वर्ल्ड कप 2019 से भारतीय टीम की विदाई के बाद नाराजगी और आलोचनाओं का दौर जारी है. कोई कप्तान विराट कोहली के फैसलों पर सवाल उठा रहा है तो कोई टीम मैनेजमेंट पर अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाने का आरोप लगा रहा है. इन सबके बीच टीम इंडिया के एक अहम सदस्य पर वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में हार की गाज गिर सकती है.

भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में 18 रन से हार का सामना करना पड़ा था. ऐसे में भारतीय टीम और कोचिंग स्टाफ की काफी आलोचना की जा रही थी. हालांकि मुख्य कोच रवि शास्‍त्री और कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद 45 और दिन के लिए बढ़ा दिया गया है, लेकिन इन सभी में एक कोच के प्रदर्शन पर पैनी नजर रखी जा रही है.



इससे कहीं बेहतर काम कर सकते थे  संजय बांगड़
दरअसल, टीम इंडिया के सहायक कोच संजय बांगड़ के बारे में भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कुछ लोगों का मानना है कि उन्होंने अपनी जिम्मेदारी ठीक तरह से नहीं निभाई है. वह इससे कहीं बेहतर काम कर सकते थे. आम धारण ये है कि भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण की अगुआई में गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया. वहीं फील्डिंग कोच आर श्रीधर के होने का असर भी टीम की फील्डिंग पर देखने को मिला है जो पहले से काफी सुधरी है. मगर यही बात बल्लेबाजी इकाई के बारे में नहीं कही जा सकती. खासकर इसे लेकर भी काफी सवाल उठाए जा रहे हैं कि टीम के अंदर नंबर चार पर किसी एक बल्लेबाज की भूमिका तय ही नहीं हो सकी.

icc, cricket, sanjay bangar, icc cricket world cup 2019, india vs new zealand semifinal, ravi shastri, आईसीसी, क्रिकेट, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019, इंडिया वस न्यूजीलैंड सेमीफाइनल, संजय बांगड़, रवि शास्‍त्री
भारतीय टीम के सहायक कोच संजय बांगड़ के प्रदर्शन पर क्रिकेट बोर्ड की पैनी नजर है. (फाइल फोटो)


मध्यक्रम में लगातार बदलाव के चलते हुआ नुकसान
बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने फोन पर IANS को बताया कि मध्यक्रम में लगातार बदलाव के चलते टीम इंडिया को काफी नुकसान पहुंचा और ऐसा सिर्फ वर्ल्ड कप में ही नहीं हुआ बल्कि पिछले कुछ सीजन से यही स्थिति चली आ रही है और बांगड़ इसका कोई समाधान निकाल पाने में असफल साबित हुए हैं. यहां तक कि बांगड़ ने नंबर चार के लिए चुने गए विजय शंकर को बिल्कुल फिट बताया था वो भी तब जबकि उसके अगले ही दिन वह चोट के चलते वर्ल्ड कप से बाहर हो गए. बीसीसीआई को यह बात भी नागवार गुजरी है.
Loading...

बीसीसीआई के अधिकारी ने बताया कि ऐसे में जबकि हम खिलाड़ियों के साथ पूरी तरह खड़े हैं, जिन्होंने टूर्नामेंट में एक खराब दिन को छाेड़कर अच्छा प्रदर्शन किया है, वहीं सपोर्ट स्टाफ के भविष्य पर फैसला लेने से पहले उनके निर्णयों और रवैये की भी समीक्षा की जाएगी.

टीम मैनेजर की भूमिका पर भी उठे सवाल
बोर्ड इस टूर्नामेंट में टीम मैनेजर सुनील सुब्रह्मण्‍यम की भूमिका को लेकर भी नाराज है. इसके अनुसार, सुनील का प्राथमिक काम अपने दोस्तों के लिए टिकट और पास का इंतजाम करने का ही रह गया था, जबकि उनकी मुख्य जिम्मेदारी उनके लिए प्राथमिकता में ही नहीं थी.

यह भी पढ़ें- जोफ्रा आर्चर ने 4 साल पहले ही कर दी थी वर्ल्ड कप की भविष्यवाणी, एक-एक बात हो रही सच!

बड़ा खुलासा : सेमीफाइनल में नंबर चार पर खेलना चाहते थे कोहली, इन लोगों ने कर दिया था मना
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...