• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • टीम इंडिया है दुनिया की सबसे रोमांचक टेस्ट सीरीज की विजेता, रन के 4 हजारवें हिस्से से मिली थी जीत

टीम इंडिया है दुनिया की सबसे रोमांचक टेस्ट सीरीज की विजेता, रन के 4 हजारवें हिस्से से मिली थी जीत

India vs Australia Test Series 2001: वीवीएस लक्ष्मण ने दूसरे टेस्ट में शानदार 281 रन की पारी खेली थी. (AFP)

India vs Australia Test Series 2001: वीवीएस लक्ष्मण ने दूसरे टेस्ट में शानदार 281 रन की पारी खेली थी. (AFP)

India vs Australia Test Series 2001: टीम इंडिया ने 2001 में खेली गई तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS) को 2-1 से मात दी थी. टीम इंडिया ने प्रति विकेट 34.164 की औसत से रन बनाए. वहीं ऑस्ट्रेलिया ने प्रति विकेट 34.160 की औसत से रन बनाए थे. अंतर सिर्फ .004 का रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट का इतिहास काफी पुराना है. पहला टेस्ट 1877 में खेला गया था. ऐसे में सवाल उठता है कि किन दो टीमों के बीच हुई सीरीज को सबसे रोमांचक या नजदीकी कहा जा सकता है. अब तक 506 सीरीज ऐसी हुई हैं, जिसमें 3 या उससे अधिक टेस्ट खेले गए हैं. प्रति विकेट रन औसत के हिसाब से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2001 में खेली गई सीरीज सबसे रोमांचक मानी जा सकती है. टीम इंडिया ने सीरीज सीरीज भले ही 2-1 से जीती थी. लेकिन रन औसत का अंतर एक रन के 4 हजारवें हिस्से का रहा था.

    क्रिकइंफो के अनुसार, 2001 में खेली गई सीरीज में टीम इंडिया का प्रति विकेट रन औसत 34.164 का रहा था. वहीं ऑस्ट्रेलिया ने प्रति विकेट 34.160 के हिसाब से रन बनाए थे. यानी अंतर .004 का रहा. इसके अलावा 1975-76 में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को घर में हराया था, तब अंतर माइनस 0.02 का रहा था. वहीं 1994 में इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच ड्रॉ हुई सीरीज में अंतर 0.06 का था.

    टीम इंडिया ने फॉलोऑन के बाद जीता था टेस्ट

    टीम इंडिया को 2001 में तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में हार मिली थी. कोलकाता में खेले गए दूसरे टेस्ट में टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा. दूसरी पारी में वीवीएस लक्ष्मण ने शानदार 281 और राहुल द्रविड़ ने 180 रन बनाए. टीम ने 7 विकेट पर 657 रन बनाकर अंतिम दिन पारी घोषित कर दी. ऑस्ट्रेलिया को 384 रन का लक्ष्य मिला था. लेकिन मेहमान टीम दूसरी पारी में 68.3 ओवर में 212 रन बनाकर सिमट गई थी. इसके बाद तीसरा टेस्ट टीम इंडिया ने नजदीकी मुकाबले में 2 विकेट से जीता था. 155 रन के लक्ष्य को हासिल करने में टीम इंडिया ने 8 विकेट गंवा दिए थे.

    यह भी पढ़ें: INDW vs AUSW: मिचेल स्टार्क की पत्नी ने बनाया बड़ा कीर्तिमान, काेई महिला खिलाड़ी नहीं कर सकी है ऐसा

    यह भी पढ़ें: वरुण चक्रवर्ती T20 वर्ल्ड कप में जहीर खान का 2011 वाला कारनामा दोहरा सकते हैं, दिग्गज गेंदबाज का बड़ा बयान

    बड़े नेगेटिव अंतर के बाद भी टीमों को मिली जीत

    कई बार प्रति विकेट रन औसत के मामले में टीमों ने बड़े अंतर से पिछड़ने के बाद भी सीरीज जीती है. इंग्लैंड ने 2009 की एशेज सीरीज 2-1 से जीती थी. टीम का प्रति विकेट रन औसत 34.15 का था जबकि ऑस्ट्रेलिया का 40.65 का. यानी अंतर माइनस 6.49 का रहा था. इसके अलावा इंग्लैंड ने 1998 में साउथ अफ्रीका को 2-1 से मात दी थी. तब भी अंतर माइनस 6.03 का रहा था. वहीं 1891-92 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया था. लेकिन प्रति विकेट रन औसत का अंतर माइनस 5.99 का रहा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज