सिर्फ पसीने से गेंद चमकाने के पक्ष में नहीं टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच भरत अरुण, कह दी ये बड़ी बात

सिर्फ पसीने से गेंद चमकाने के पक्ष में नहीं टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच भरत अरुण, कह दी ये बड़ी बात
मैच खेलने से पहले टीम इंडिया को एक महीने तक करना होगा अभ्यास

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से आईसीसी की क्रिकेट कमेटी ने गेंद को लार से चमकाने पर बैन लगाने की सिफारिश की है

  • Share this:
नई दिल्ली. एक ओर जहां आईसीसी की क्रिकेट कमेटी ने गेंद को लार से चमकाने पर बैन की सिफारिश की है, वहीं दूसरी ओर टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) का मानना है कि सिर्फ पसीन से गेंद चमकाने से काम नहीं चलने वाला है. भारत के गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) का मानना है कि गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल की आदत को छोड़ना मुश्किल होगा लेकिन इस इसकी जगह ‘कृत्रिम पदार्थ’ के इस्तेमाल के खिलाफ नहीं हैं जब तक कि सभी टीमों को इसके उपयोग का समान अवसर मिले. कोविड-19 महामारी के प्रकोप को देखते हुए अनिल कुंबले की अगुआई वाली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की क्रिकेट समिति ने स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों के तहत लार के इस्तेमाल को प्रतिबंध करने का प्रस्ताव रखा है.

कई खिलाड़ी बाहरी पदार्थ के प्रयोग के पक्ष में
कई शीर्ष खिलाड़ियों और कोचों का मानना है कि गेंद और बल्ले के बीच संतुलन बनाए रखने के लिये गेंद को चमकाने के लिए कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल की इजाजत मिलनी चाहिए. अरुण (Bharat Arun) ने हाल में पीटीआई-भाषा से बातचीत के दौरान कहा, 'जहां तक बाहरी पदार्थ के उपयोग का सवाल है तो जब तक यह सभी टीमों के लिए समान हैं तो इसका इस्तेमाल क्यों ना किया जाएा.'
उन्होंने कहा, 'लार का इस्तेमाल करने की आदत को छोड़ना काफी मुश्किल होगा लेकिन हमारे ट्रेनिंग और अभ्यास सत्र के दौरान हमें इस आदत को छोड़ने का प्रयास करना होगा.'
पैट कमिंस भी चाहते हैं बाहरी पदार्थ का इस्तेमाल
दुनिया के नंबर 1 टेस्ट गेंदबाज और इंडियन प्रीमियर लीग के सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी पैट कमिंस  (Pat Cummins) भी लार पर प्रतिबंध लगने के कारण बाहरी पदार्थ के इस्तेमाल का पक्ष ले चुके हैं. आईसीसी ने गेंद पर पसीने के इस्तेमाल को प्रतिबंधित नहीं किया है जिससे कोरोना वायरस नहीं फैलता लेकिन कमिंस चाहते हैं कि खेल की वैश्विक संस्था गेंदबाजों के लिए कुछ और पहल करे. कमिंस ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट से बातचीत करते हुए लिखा,'पसीना बुरा नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि हमने इससे कुछ अधिक की जरूर है. यह कुछ भी हो, वेक्स या कुछ और जो मुझे नहीं पता.'



वॉर्न ने कहा- भारी करो गेंद
पूर्व महान स्पिनर शेन वार्न ने हाल में सुझाव दिया था कि गेंद को एक तरफ से भारी किया जाए जिससे कि स्विंग कराने में मदद मिले. वॉर्न ने स्काई स्पोर्ट्स के क्रिकेट पॉडकास्ट पर कहा, 'गेंद को एक तरफ से भारी क्यों नहीं बनाया जाए जिससे कि यह हमेशा स्विंग करे. यह टेप लगी हुई टेनिस की गेंद या लॉन बाल्स की तरह होगी.'

कुंबले ने हालांकि स्टार स्पोर्ट्स पर हाल में बातचीत के दौरान लार पर प्रतिबंध के बावजूद कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल की स्वीकृति देने की संभावना से इनकार कर दिया था. कुंबले ने हालांकि कहा था कि लार पर प्रतिबंध लगाना अंतरिम कदम है इसलिए उन्होंने कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल की स्वीकृति देने के खिलाफ फैसला किया.

भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे का ऐलान, 11 अक्टूबर को पहला टी20, ये है पूरा शेड्यूल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज