बड़ी मुश्किल में फंसे कप्‍तान विराट कोहली, छोड़ना पद सकता है पद! BCCI को भेजा गया मेल

बड़ी मुश्किल में फंसे कप्‍तान विराट कोहली, छोड़ना पद सकता है पद! BCCI को भेजा गया मेल
विराट कोहली पर हितों के टकराव का आरोप लगा है (फाइल फोटो)

बीसीसीआई (BCCI) को भेजे गए मेल में बोर्ड से भारतीय कप्‍तान विराट कोहली (virat Kohli) को पद छोड़ने का आदेश देने के लिए कहा गया है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. इस समय कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण क्रिकेट पूरी तरह से ठप्‍प पड़ा हुआ है. भारतीय क्रिकेटर्स भी मैदान पर वापसी का इंतजार कर रहे हैं. अभी तो क्रिकेटर्स को भी नहीं मालूम कि वो मैदान पर कब तक वापसी कर पाएंगे, मगर घर बैठे बैठे भारतीय कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) बड़ी मुश्किल में फंस गए हैं. विराट कोहली पर हितों के टकराव के आरोप लगाए जा रहे हैं. इसके लिए संजीव गुप्‍ता ने बीसीसीआई लोकपाल को एक मेल भी किया है.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया के अनुसार बीसीसीआई (BCCI) को विराट कोहली के खिलाफ मेल करने वाले संजीव गुप्ता ने भारतीय कप्‍तान के व्‍यापारिक उपक्रमों के बारे में बात की और कहा कि यह लोढ़ा समिति की सिफारिशों का उल्‍लंघन हैं.

दो पदों पर काबिज हैं कोहली
संजीव गुप्‍ता के अनुसार कोहली एक ही समय पर दो पदों पर काबिज हैं, जो सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुमोदित बीसीसीआई के नियम 38 (4) का उल्‍लघंन हैं और कोहली को एक पद को छोड़ना होगा. उनके दो पद में एक खिलाड़ी और दूसरा संविदात्‍मक ईकाई है. संजीव गुप्‍ता ने नैतिक अधिकारी से अनुरोध करते हुए कहा कि वो कोहली को एक पद त्‍यागने का आदेश दें. जिससे बीसीसीआई के संविधान की नियम संख्‍या 38 (4) का पालन हो सके.
यह भी पढ़ें:



पत्नी से मिले धोखे के बाद कार्तिक को मिला था इस खिलाड़ी का साथ और बदल गई जिंदगी

पंड्या ने कोहली को फिर किया चैलेंज, इस बार कप्तान ने कमेंट करके दिया यह जवाब

गांगुली भी विवादों में
बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) पर भी हितों के टकराव का आरोप लगा है. दरअसल गांगुली ने अपने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की है उसके कैप्शन में उन्होंने खुद को जेएसडब्ल्यू सीमेंट (JSW Cements) का ब्रांड एंबेसडर बताया है. जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स (JSW Sports) आईपीएल की टीम दिल्ली कैपिटल्स का मालिकाना हक रखता है. जेएसडब्ल्यू सीमेंट भी जेएसडब्ल्यू ग्रुप का हिस्सा है. हालांकि दिल्ली कैपिटल्स के पूर्व मेंटर गांगुली को नहीं लगता कि इसमें किसी भी तरह हितों के टकराव का कोई मुद्दा बनता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading