टीम इंडिया की बागडोर संभालने के लिए कोच में होनी चाहिए ये तीन खूबियां

2017 में अनिल कुंबले की जगह जब रवि शास्‍त्री ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का पद संभाला, तो उससे पहले बीसीसीआई द्वारा जारी किए दिशानिर्देशों में पूरी तरह से स्पष्टता नहीं थी.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 8:22 AM IST
टीम इंडिया की बागडोर संभालने के लिए कोच में होनी चाहिए ये तीन खूबियां
रवि शास्‍त्री ने जुलाई 2017 में इस पद को संभाला था (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 8:22 AM IST
वर्ल्ड कप में भारत का सफर सेमीफाइनल में ही खत्म हो गया और अब बीसीसीआई में उठा पटक शुरू हो गई है. बीसीसीआई ने मंगलवार को मुख्य कोच समेत टीम के अन्य सपोर्टिंग स्टाफ के लिए आवेदन मंगाए. जिन पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं, उनमें भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के मुख्य कोच, बल्लेबाजी कोच, गेंदबाजी कोच, फील्डिंग कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच और प्रशासकीय मैनेजर के पद शामिल हैं. टीम इंडिया का मुख्य कोच टीम को एक दिशा देता है और उस पद को हासिल करने के लिए योग्यता भी वैसी ही होनी चाहिए.

बीसीसीआई द्वारा जारी तीन बिंदुओ के पात्रता दिशानिर्देश के अनुसार मुख्य कोच की सबसे पहली योग्यता होना चाहिए कि उसकी उम्र 60 वर्ष से कम हो, साथ ही कम से कम दो साल का इंटरनेशनल अनुभव हो.

इसके अलावा मुख्य कोच के पास टेस्ट खेलने वाले देश को कम से कम दो साल को‌चिंग देने का अनुभव होना चाहिए या फिर एसाेसिएट सदस्य, ए टीम, आईपीएल टीम में से किसी एक को कम से कम तीन साल का कोचिंग देने का अनुभव हो. टीम इंडिया के मुख्य कोच में जो सबसे बड़ी योग्यता है, वह यह कि  कि उसने कम से कम 30 टेस्ट या फिर 50 वनडे इंटरनेशल मैच खेले हों.

2017 में नहीं थी स्पष्ता 



अनिल कुंबले का कार्यकाल विवादास्पद परिस्थितियों में बीच में समाप्त हो जाने के बाद टीम इंडिया की बागडोर जुलाई 2017 में रवि शास्‍त्री को एक बार फिर से सौंपी गई थी, लेकिन उन्हें इस पद पर नियुक्त किए जाने से पहले बीसीसीआई ने जो दिशानिर्देश जारी किए थे, उससे पूरी तरह से स्पष्टता नहीं थी. लेकिन इस बार मुख्य, बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण कोच के लिए तीन बिंदुओं के पात्रता निर्देश जारी किए गए हैं. मुख्य कोच की तुलना में बाकी तीन पदाें पर आवेदक ने कम से कम 10 टेस्ट या 25 इंटरनेशनल वनडे मैच खेले हो.

वेस्टइंडीज दौरे तक है शास्‍त्री का कॉन्ट्रेक्ट
Loading...

कोच रवि शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट वेस्टइंडीज दौरे तक ही है, जबकि सहयोगी स्टाफ में शामिल गेंदबाजी कोच भरत अरुण, बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और फील्डिंग कोच आर श्रीधर शामिल हैं. 3 अगस्त से 3 सितंबर तक होने वाले वेस्टइंडीज दौरे के लिए इन सभी का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद 45 दिन तक बढ़ा दिया गया था.

वर्ल्ड कप के दौरान इंजेक्शन लगा रहा था इंग्लैंड का ये खिलाड़ी, अब सामने आया सच!

अगले 48 घंटों में संन्यास पर फैसला ले सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 8:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...