टीम इंडिया की इंग्लैंड पर सीरीज जीत का 'मुंबई कनेक्शन', आईपीएल को लेकर बढ़ी उम्मीदें

इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मुकाबले में मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजों का जलवा रहा (PIC:AP)

इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मुकाबले में मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजों का जलवा रहा (PIC:AP)

टीम इंडिया ने इंग्लैंड को आखिरी टी20 में 36 रन से शिकस्त देकर पांच टी20 की सीरीज (India vs England T20I Series)3-2 से जीत ली. टीम की इस जीत का मुंबई कनेक्शन है. क्योंकि सीरीज में भारत को जब भी जरूरत पड़ी आईपीएल में मुंबई इंडियंस(Mumbai Indians) की ओर से खेलने वाले रोहित शर्मा (Rohit Sharma), हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya), सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) और ईशान किशन (Ishan Kishan) टीम के काम आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2021, 1:29 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. भारत ने इंग्लैंड को आखिरी टी20 में 36 रन से शिकस्त देकर पांच टी20 की सीरीज (India vs England T20I Series) 3-2 से जीत ली. ये भारत की लगातार छठी टी20 सीरीज जीत है. टीम इंडिया की इस जीत का 'मुंबई कनेक्शन' है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस सीरीज में जब भी टीम को जरूरत पड़ी आईपीएल में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की ओर से खेलने वाले खिलाड़ी उसके काम आए. अगर आखिरी टी20 की ही बात करें तो भारत की ओर से चार बल्लेबाज उतरे. इसमें से कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को छोड़ दें, तो बाकी तीन आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हैं. इन तीनों ने इंग्लैंड के गेंदबाजों की जमकर खबर ली. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने पहले विकेट के लिए विराट के साथ सीरीज की सबसे बड़ी 94 रन की पार्टनरशिप की. उन्होंने 34 गेंद में 188 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से 64 रन बनाए.

रोहित की तरह ही सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) भी इस मैच में चमके और उन्होंने सिर्फ 17 गेंदों में ताबड़तोड़ 32 रन ठोके. इस दौरान उन्होंने 188 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए. रही-सही कसर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) ने पूरी कर दी. चार नंबर पर खेलने उतरे पंड्या ने 229 से ज्यादा के स्टाइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 39 रन बनाए. इन तीनों खिलाड़ियों के प्रदर्शन के दम पर ही भारत ने टी20 में इंग्लैंड के खिलाफ सबसे बड़ा 224 रन का स्कोर खड़ा किया.

भारत की सीरीज जीत में चमके मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी

ऐसा नहीं है कि इंग्लैंड के खिलाफ सिर्फ आखिरी टी20 में ही मुंबई के 'इंडियंस' चमके, बल्कि इस सीरीज में जब भी टीम को जरूरत हुई मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी आगे आए. चौथे टी20 में भारत को मिली 8 रन से रोमांचक जीत इसका सबूत है. तब कोहली के चोटिल होने के कारण रोहित ने मैच के आखिरी 4 ओवर में भारत की कप्तानी की और 24 गेंदों में मैच का पासा पूरी तरह पलट दिया. उस मैच में जब रोहित के हाथों में टीम की कमान आई थी. तब इंग्लैंड को 24 गेंदों में जीत के लिए 46 रन चाहिए थे और उसके 6 विकेट बाकी थी. लेकिन रोहित ने अपनी कुशल रणनीति के दम पर हारी हुई बाजी पलट दी और इंग्लैंड जीत के लिए मिले 185 रन का टारगेट हासिल नहीं कर पाया. रोहित ने बतौर बल्लेबाज भी अच्छा प्रदर्शन किया. उन्होंने सीरीज के तीन मैच में 144 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से 91 रन बनाए.
यह भी पढ़ें: विराट-रोहित ने दिलाई सचिन-सहवाग की याद, इससे अच्छी ओपनिंग जोड़ी नहीं हो सकती: वॉन

यह भी पढ़ें: डेविड मलान सबसे तेजी से 1000 रन बनाने वाले खिलाड़ी बने, बाबर आजम और विराट को पीछे छोड़ा

मुंबई इंडियंस के सूर्यकुमार भी इस सीरीज में चमके



रोहित के अलावा मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलने वाले सूर्यकुमार यादव भी इस सीरीज में चमके. उन्होंने सीरीज में सिर्फ दो मैच में बल्लेबाजी की. लेकिन अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे. उन्हें चौथे टी20 में पहली बार बल्लेबाजी का मौका मिला और तीन नंबर पर खेलते हुए इस बल्लेबाज ने 57 रन की पारी खेली. आखिरी टी20 में भी वो रंग में नजर आए और सिर्फ 17 गेंद पर 188.24 के स्ट्राइक रेट से 32 रन बनाए. उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की वजह से ही भारत टी20 में इंग्लैंड के खिलाफ अपना सर्वोच्च स्कोर बनाने में सफल रहा. इस सीरीज में सिर्फ विराट कोहली (115) का औसत ही उनसे अच्छा रहा. सूर्यकुमार ने भले ही सीरीज में 89 रन बनाए. लेकिन ये टीम की जीत में काम आए.

पंड्या ने भी सीरीज में जोरदार वापसी की

मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने भी इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज जीत में अहम भूमिका निभाई. चोट के बाद वापसी कर रहे हार्दिक ने सीरीज के 5 मैच में 141 के स्ट्राइक रेट से 86 रन बनाए. उन्होंने सीरीज में 17 ओवर गेंदबाजी की और 118 रन देकर तीन विकेट लिए. उनका इकोनॉमी रेट 6.94 रहा, जो सीरीज में भुवनेश्वर कुमार(6.38) के बाद सबसे बेहतर रहा. उन्होंने चौथे और पांचवें टी20 में टीम की जीत में अहम योगदान दिया. चौथे मुकाबले में हार्दिक ने 4 ओवर में 4 की इकोनॉमी रेट से 16 देकर 2 विकेट झटके, जबकि आखिरी टी20 में 17 गेंद में ताबड़तोड़ 39 रन बनाकर टीम की जीत की नींव रखी.

भारत की सीरीज जीत में ईशान किशन की भूमिका को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. मुंबई इंडियंस के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने सीरीज के दो मैच में 60 रन बनाए. इसमें डेब्यू मैच में खेली गई उनकी 56 रन की पारी शामिल है. उन्होंने सीरीज में 146 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी इन खिलाड़ियों के प्रदर्शन के कारण कई बार मौजूदा टीम इंडिया की तुलना मुंबई इंडियंस से की. ऐसे में आईपीएल से पहले पांच बार के चैम्पियन मुंबई के लिए तो कम से कम ये अच्छी खबर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज