टीम इंडिया में जगह बनाना अब होगा 'मुश्किल', कोच रवि शास्‍त्री उठाने जा रहे हैं ये कदम

मौजूदा समय में यो यो टेस्ट (YoYo Fitness Test) का बेंचमार्क 16.1 है. अगर टीम इंडिया (Team India) का कोई खिलाड़ी ये अंक हासिल कर लेता है तो फिर टीम में चयन के लिए उसका रास्ता साफ हो जाता है.

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 6:45 PM IST
टीम इंडिया में जगह बनाना अब होगा 'मुश्किल', कोच रवि शास्‍त्री उठाने जा रहे हैं ये कदम
योयो टेस्ट को लागू किए जाने के बाद से भारतीय क्रिकेटरों की फिटनेस में काफी सुधार देखने को मिला है. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 6:45 PM IST
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) में पिछले कुछ सालों के अंदर फिटनेस (Fitness) को लेकर जागरूकता काफी बढ़ी है. यही वजह है कि टीम चयन के लिए यो यो फिटनेस टेस्ट (YoYo Fitness Test) को बड़ा पैमाना माना गया है. यहां तक कि बीसीसीआई (BCCI) ने भी साफ कर दिया है कि टीम में जगह बनाने के लिए हर किसी के लिए यो यो टेस्ट पास करना अनिवार्य शर्त है. मौजूदा समय में यो यो टेस्ट का बेंचमार्क 16.1 है. अगर टीम इंडिया (Team India) का कोई खिलाड़ी ये अंक हासिल कर लेता है तो फिर टीम में चयन के लिए उसका रास्ता साफ हो जाता है.

यो यो टेस्ट (YoYo Fitness Test) कई भारतीय खिलाड़ियों के लिए परेशानी का सबब भी बन चुका है. अंबाती रायडू (Ambati Rayudu) और मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) यो यो टेस्ट में असफल होने के बाद टीम में जगह नहीं बना सके थे. आईपीएल 2018 के बाद अंबाती रायडू इंग्लैंड दौरे पर यो यो टेस्ट में असफल होने की वजह से ही नहीं जा सके थे. वहीं शमी को बेंगलुरु में अफगानिस्तान के खिलाफ मुकाबले से बाहर रहना पड़ा था. अब खबरें आ रही हैं कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी सीरीज से पहले टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) यो यो टेस्ट के बेंचमार्क में बदलाव करने जा रहे हैं.

16.1 से बढ़ाकर 17 होगा टेस्ट का बेंचमार्क
टीम इंडिया (Team India) के दोबारा कोच चुने गए रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) यो यो टेस्ट (YoYo Fitness Test) का बेंचमार्क 16.1 से बढ़ाकर 17 करने की तैयारी में हैं. इस मामले से जुड़े सूत्रों के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए फिटनेस पर काफी जोर दिया जा रहा है और अब क्वालीफिकेशन मार्क 17 होगा. ये बढ़ा हुआ बेंचमार्क टीम में चयन की निम्नतम जरूरत होगी. माना जा रहा है कि रवि शास्‍त्री इस मुद्दे को लेकर इससे जुड़े हितधारकों के साथ जल्द ही एक बैठक करेंगे.

(YoYo Fitness Test)
यो यो टेस्ट पास करने में कप्तान विराट कोहली काफी माहिर माने जाते हैं. (फाइल फोटो)


भारतीय टीम के लिए कारगर
जब से भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) में यो यो टेस्ट (YoYo Fitness Test) का इस्तेमाल किया जाने लगा है तब से भारतीय खिलाड़ियों की फिटनेस काफी बेहतर हुई है. खिलाड़ी पहले से ज्यादा लचीले और फुर्तीले हुए हैं. यो यो टेस्ट के बेंचमार्क में ये बदलाव दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 सितंबर से होने वाली टी-20 सीरीज से पहले किए जाने का अनुमान है. सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में खेला जाएगा.
Loading...

क्या है यो यो टेस्ट
यो यो टेस्ट एक एरोबिक एक्सरसाइज है, जिसे डेनमार्क फुटबॉल के फिजियोथेरेपिस्ट जेन्स बैंग्‍स्बो ने विकसित किया है. मोहम्मद शमी और अंबाती रायडू यो यो टेस्ट पास करने में असफल रह चुके हैं, जबकि युवराज सिंह और संजू सैमसन को भी इसे पास करने में परेशानी का सामना करना पड़ा था.

यह भी पढ़ें-

एलेस्टेयर कुक का बड़ा खुलासा: डेविड वॉर्नर ने बताया था बॉल टैंपरिंग का तरीका, स्टीव स्मिथ से कुछ छिपा नहीं था
श्रीसंत के साथ स्पॉट फिक्सिंग में फंसे इस क्रिकेटर पर अब लगा ठगी का आरोप
डांस फ्लोर पर ब्रावो ने दी शाहरुख खान को उनके पसंदीदा गाने पर टक्कर


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 6:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...