वर्ल्ड कप की कॉमेंट्री बंद, कॉमेंटेटर को नहीं मिल रहे हैं पैसे, अब कोर्ट जाने की तैयारी

आईसीसी ने दुबई की एक कंपनी चैनल टू को ऑडियो प्रसारण का अधिकार 2023 तक बेचा है. इस कंपनी ने बाद में अलग-अलग देशों के ब्रॉडक्साटर को ऑडियो अधिकार बेच दिए.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 12:23 PM IST
वर्ल्ड कप की कॉमेंट्री बंद, कॉमेंटेटर को नहीं मिल रहे हैं पैसे, अब कोर्ट जाने की तैयारी
भारत में वर्ल्ड फीड की जिम्मेदारी जिस कपंनी को दी गई उसने इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 12:23 PM IST
वर्ल्ड कप में ऑडियो राइट्स को लेकर आईसीसी फंस गई है. आईसीसी ने जिस कंपनी को रेडियो और इंटरनेट पर कॉमेंट्री के अधिकार दिए थे वो अब आईसीसी के पैसे नहीं दे रही है. कॉमेंटेटर्स को भी पैसे नहीं मिले हैं और वो कोर्ट जाने की जाने की तैयारी में है.

क्या है पूरा मामला?


आईसीसी ने दुबई की एक कंपनी चैनल टू को ऑडियो प्रसारण का अधिकार 2023 तक बेचा है. इस कंपनी ने बाद में अलग-अलग देशों के ब्रॉडक्साटर को ऑडियो अधिकार बेच दिए. चैनल 2 को अजय सेठी चलाते हैं. इन अधिकारों के लिए उन्होंने आईसीसी को बैंक गारंटी के तौर पर जो चेक दिए थे वे भी बाउंस हो गए हैं.

कोर्ट जाने की तैयारी

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक भारत में वर्ल्ड फीड की जिम्मेदारी जिस कपंनी को दी गई उसने इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया है. अब वर्ल्ड कप मैचों की न तो कॉमेंट्री हो रही है और न ही कॉमेंटेटर्स को पैसे दिए जा रहे. कॉमेंटेटर्स के चेक बाउंस हो रहे हैं. इस लिस्ट में पूर्व क्रिकेटर दीपदास गुप्ता, मोहम्मद कैफ, अतुल वासन, सैयद किरमानी समेत चारु शर्मा जैसे नामी कॉमेंटेटर शामिल हैं. इसके अलावा वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर कार्ल हूपर, रिकार्डो पोवेल भी इनमें शामिल हैं. इन दोनों ने कंपनी के खिलाफ केस भी कर दिया है. दरअसल इस कंपनी ने पहले भी इन कॉमेंटेटर्स को हायर किया था लेकिन उन्हें पैसे नहीं दिए थे. आईसीसी के रवैये पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि बिना किसी अनुभव के आखिर आईसीसी ने ये अधिकार इस कंपनी को क्यों दे दिया.

ये भी पढ़ें:

रोहित VS विराट: वर्ल्ड कप में हार के बाद टीम इंडिया में फूट!
Loading...

वर्ल्ड कप 2019: तो क्या कल टूट जाएगा गेल का ये खास रिकॉर्ड
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...