World Test Championship: इंग्लैंड में लेग और कलाई के स्पिनर सफल, लेकिन टीम इंडिया में जगह नहीं

भारत और न्यूजीलैंड पहली बार इंग्लैंड में टेस्ट खेलेंगे. ( AP)

भारत और न्यूजीलैंड पहली बार इंग्लैंड में टेस्ट खेलेंगे. ( AP)

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) का फाइनल अगले महीने भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच होना है. इसके अलावा टीम इंडिया को इंग्लैंड से पांच टेस्ट खेलना है. लेकिन दोनों सीरीज के लिए घोषित टीम में लेग स्पिनर या कलाई के स्पिनर को जगह नहीं मिली है.

  • Share this:

नई दिल्ली. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) और इंग्लैंड दाैरे के लिए भारतीय टीम घोषित हो चुकी है. टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल 18 जून से साउथम्प्टन में भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच होना है. इसके बाद टीम इंग्लैंड से पांच मैचों टेस्ट सीरीज खेलेगी. लेकिन दोनों ही सीरीज के लिए भारतीय टीम में लेग स्पिनर या कलाई के स्पिनर को जगह नहीं दी गई है.

इंग्लैंड की पिच की बात करें तो बतौर विदेशी स्पिनर सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के लेग स्पिनर शेन वॉर्न के ही नाम है. उन्होंने 22 टेस्ट में 129 विकेट लिए हैं. 8 बार पांच विकेट और 3 बार 10 विकेट लेने का कारनामा किया है. ऑस्ट्रेलिया के ही एक और लेग स्पिनर क्लारेंस ग्रीमेट विकेट के मामले में दूसरे नंबर पर हैं. उन्होंने 13 टेस्ट में 67 विकेट झटके हैं. 7 बार पांच विकेट और एक बार 10 विकेट लिए हैं.

बतौर भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले टॉप पर

इंग्लैंड में बतौर भारतीय स्पिनर भी सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड लेग स्पिनर के ही नाम है. अनिल कुंबले ने 10 टेस्ट में 36 विकेट लिए हैं. इसके बाद भी टीम में लेग स्पिनर को जगह ना देना टीम इंडिया को भारी पड़ सकता है. बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज बिशन सिंह बेटी 12 मैच में 35 विकेट लेकर दूसरे नंबर पर हैं. उन्होंने एक बार पांच विकेट भी झटके हैं. तीसरे नंबर पर एक और लेग स्पिनर भागवत चंद्रशेखर हैं. उन्होंने 9 मैच में 31 विकेट झटके हैं.
यह भी पढ़ें: केविन पीटरसन ने खिलाड़ियों को आईपीएल खेलने तरकीब बताई, इंग्लिश बोर्ड भी कुछ नहीं कर सकेगा

पाक के पूर्व लेग स्पिनर ने सवाल उठाए

पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने भारतीय टीम में लेग स्पिनर नहीं चुने जाने पर सवाल उठाए हैं. भारत दानिश कनेरिया ने कहा कि भारत ने मजबूत टीम का चयन किया है. कुल मिलाकर उनकी टीम अच्छी है, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि उन्होंने कलाई के स्पिनर का चयन नहीं किया है. काउंटी टीम एसेक्स की तरफ से खेल चुके कनेरिया ने कहा कि इंग्लैंड की परिस्थितियां लेग स्पिनरों के अनुकूल होती हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज