Union Budget 2018-19 Union Budget 2018-19

U-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में इन टीमों से होगा भारतीय टीम का सामना

News18Hindi
Updated: January 13, 2018, 5:15 PM IST
U-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में इन टीमों से होगा भारतीय टीम का सामना
भारतीय टीम
News18Hindi
Updated: January 13, 2018, 5:15 PM IST
आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के 12वें संस्करण का आगाज हो चुका है जिसमें भारत समेत दुनियाभर की 16 टीमें हिस्सा ले रही हैं. भारतीय टीम इस ईवेंट में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में मैदान में उतरी है. जबकि उसे 14 जनवरी को मेजबान आॅस्ट्रेलिया के साथ अपना पहला मैच खेलना है. भारतीय को इस वर्ल्ड कप में ग्रुप बी में रखा गया है.

हर ग्रुप में चार टीमें हैं. यानी टीम इंडिया को ग्रुप स्टेज में तीन मुकाबले खेलने होंगे. ग्रुप बी में टीम इंडिया के साथ ऑस्ट्रेलिया की टीम भी है जिसे जूनियर वर्ल्ड कप की सबसे मजबूत टीम मना जाता है. इन दोनों टीमों के अलावा इस ग्रुप में न्यू पापुआ गिनी और जिम्बाब्वे की टीमें भी हैं.

क्या चौथी बार मिलेगा खिताब!
जहां तक सवाल टीम इंडिया का है तो भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में हमेशा बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जानी जाती है. तीन बार टीम इंडिया ने यह खिताब अपने नाम किया जबकि दो बार मैन इन ब्लू इस टूर्नामेंट के रनरअप रहे हैं.

साल 2016 के वर्ल्ड कप में तो टीम इंडिया बिना एक भी मुकाबला गंवाए फाइनल तक पहुंची थी लेकिन फिर वहां उसे वेस्टइंडीज का हाथों हार का मना करना पड़ा था.

भारत टीम की सबसे सबसे बड़ी ताकत उसके खिलाड़ियों का अनुभव है. टीम इंडिया के सात खिलाड़ी फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेल चुके हैं. टीम के सबसे बड़े हीरो पृथ्वी शॉ हैं. स्कूल क्रिकेट में 546 रन की जोरदार पारी खेल चुके पृथ्वी के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में पांच शतक दर्ज हैं. पृथ्वी के अलावा बल्लेबाज शुबमन गिल पर भी निगाहें रहने वाली हैं. भारतीय टीम द्रविड़ की कोचिंग में जोरदार तैयारियां कर रही है.

हांलाकि टीम इंडिया पिछले दिनों मलेशिया में हुए अंडर 19 एशिया कप नॉकआउट राउंड में भी जगह बनाने में नाकाम रही थी.

दमदार है ऑस्ट्रेलिया की टीम
भारतीय टीम इस वर्ल्डकप में अपने अभियान का आगाज 14 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के साथ करेगी. भारत की ही तरह ऑस्ट्रेलिया को भी इस टूर्नामेंट की सबसे अनुभवी टीम माना जाता है. भारत की ही तरह कंगारू टीम भी तीन बार यह खिताब अपने नाम कर चुकी है. खास बात यह है कि इनमें से दो बार यानी 2002 और 2010 में न्यूजीलैंड में आयोजित हुए वर्ल्डकप में ही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने खिताब अपने नाम किया था. हालांकि 2016 में बांग्लादेश में आयोजित हुए पिछले वर्ल्ड कप में सुरक्षा कारणों से टीम ने हिस्सा नहीं लिया.

अपने घर पर श्रीलंका की टीम को पांच वनडे मुकाबलों की सीरीज में 4-1 से हरा कर अब वर्ल्ड कप खेलने आई कंगारू टीम की कमान भारतीय मूल के खिलाड़ी जेसन सांघा के हाथ में है.

जेसन ने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ फर्स्ट क्लास शतक लगाया और ऐसा कारनामा करने वाले वह सबसे युवा ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बन गए. वहीं टीम सबसे ज्यादा निगाहें जिस खिलाड़ी पर हैं वह हैं पूर्व कंगारू कप्तान स्टीव वॉ के बेटे ऑस्टिन वॉ. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड के बेटे विल सदरलैंड भी टीम में शामिल हैं.

16 जनवरी को न्यू पापुआ गिनी से होगी टक्कर
मजबूत ऑस्ट्रेलिया के साथ भिड़ने के बाद टीम इंडिया की टक्कर अपेक्षाकृत तौर पर कमजोर न्यू पापुआ गिनी की टीम के साथ होगी. इस टीम ने आठवीं बार अंडर-19 वर्ल्ड कप में क्वालीफाई किया है. क्वालीफायर मुकाबलों में यह टीम अपराजित रही है. हालांकि पिछले वर्ल्ड कप में यह टीम क्वालीफाई नहीं कर सकी थी और इसकी जगह फिजी ने वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया था. साल 2014 में इस टीम ने अपना पिछला वर्ल्ड कप खेला था.

19 जनवरी को जिम्बाब्वे से होगा सामना 
ग्रुप स्टेज में भारत का आखिरी मुकाबला 19 जनवरी को जिम्बाब्वे के साथ होगा. बांग्लादेश में खेले गए पिछले वर्ल्डकप में इस टीम ने मजबूत साउथ अफ्रीका को मात देकर खूब सुर्खियां बटोरीं थी.

अपने घर पर केन्या को 4-0 से मात देकर यह टीम वर्ल्ड कप खेलने पहुंची है. जिम्बाब्वे के कप्तान लियान रोचे फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेल चुके हैं. यह टीम भारत के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. जिम्बाब्वे की टीम न्यूजीलैंड की परिस्थितियों से वाकिफ होने के लिए टूर्नामेंट शुरू होने के महीने भर पहले से ही यहां पहुंच चुकी है.

ये भी पढ़ें:

ये है भारतीय क्रिकेट का नया 'वंडर बॉय'

जानिए आईसीसी U-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप का इतिहास


साभार:Firstpost
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर