Test में इस साल भारत के लिए 5 खिलाड़ियों ने की ओपनिंग, एक को छोड़ सभी हुए फ्लॉप

साल 2018 में टीम इंडिया ने ओपनर के तौर पर पांच बल्लेबाजों को खिलाया. इनमें से एक को छोड़ दें तो चार बल्लेबाज बुरी तरह से नाकाम हुए हैं.

News18Hindi
Updated: December 25, 2018, 4:50 PM IST
Test में इस साल भारत के लिए 5 खिलाड़ियों ने की ओपनिंग, एक को छोड़ सभी हुए फ्लॉप
पृथ्वी शॉ फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: December 25, 2018, 4:50 PM IST
साल 2018 में भारतीय टीम ने तीन विदेशी दौरे किए. विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम को विदेशी धरती पर सीरीज जीतकर इतिहास दर्ज करने वाली टीम माना जा रहा था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. टीम इंडिया पहले दक्षिण अफ्रीका और फिर इंग्लेण्ड में सीरीज हार गई. अब फिलहाल टीम ऑस्ट्रेलिया में संघर्ष कर रही है, जहां मुकाबला 1-1 से बराबर है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा टेस्ट बुधवार को मेलबर्न के एमसीजी में खेला जाएगा. इस टेस्ट मैच के लिए भारत ने अपने दोनों ओपनर बल्लेबाजों केएल राहुल और मुरली विजय को बाहर कर दिया है. ये दोनों ही बल्लेबाज दोनों टेस्ट मैचों में रन बनाने में असफल रहे थे.

वैसे केएल राहुल और मुरली विजय ही ऐसे बल्लेबाज नहीं हैं जो टेस्ट मैचों में ओपनर के तौर पर फेल हुए हैं. साल 2018 में टीम इंडिया ने ओपनर के तौर पर पांच बल्लेबाजों को खिलाया. इनमें से एक को छोड़ दें तो बाकी चार बल्लेबाज बुरी तरह से नाकाम हुए हैं. जिन पांच बल्लेबाजों ने इस साल ओपनिंग करने का मौका मिला वे केएल राहुल, मुरली विजय, शिखर धवन, पार्थिव पटेल और पृथ्वी शॉ हैं.



इनमें पांचों बल्लेबाजों में से केवल पृथ्वी शॉ ही ऐसे बल्लेबाज रहे जिन्होंने रन बनाये. शॉ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट खेले जिसकी तीन पारियों में उन्होंने 118.50 की औसत से 237 रन बनाए. इसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल है.

ये भी पढ़ें: बॉक्सिंग डे टेस्‍ट में इशांत शर्मा हासिल करेंगे खास मुकाम, पीछे रह जाएगा ये दिग्‍गज

वहीं दूसरे ओपनर्स की बात करें कोई भी पूरे साल 30 की औसत से रन नहीं बना पाया. केएल राहुल ने इस साल 10 मैचों की 18 पारियों में 22.41 की औसत से कुल 381 रन बनाए. मुरली विजय ने 8 मैचों की 15 पारियों में 18.80 की औसत से 282 रन बनाए. शिखर धवन ने छह मैचों की 11 पारियों में 27.36 की औसत से 301 रन बनाए. विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल की बात करें तो उन्होंने एकमात्र मैच खेला और 16 रन बनाये.

बता दें कि किसी कैलेंडर ईयर में यह भारतीय ओपनर्स द्वारा की गई सबसे खराब परफॉर्मेंस है. विदेशों में जीत न मिलने की पीछे ओपनर्स का फ्लॉप होने को बड़ी वजह माना जा रहा है.
Loading...

ये भी पढ़ें: मेलबर्न टेस्ट: के एल राहुल-मुरली विजय टीम से बाहर, मयंक अग्रवाल करेंगे डेब्यू
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...