• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • 13 साल पहले सहवाग ने किया था ऐसा कमाल, ख़त्म हो गया था इस पाक गेंदबाज़ का करियर

13 साल पहले सहवाग ने किया था ऐसा कमाल, ख़त्म हो गया था इस पाक गेंदबाज़ का करियर

Image Source: News18

Image Source: News18

आज से 13 साल पहले 2004 में 29 मार्च के ही दिन नजफगंढ़ के सुल्तान ने पाकिस्तान को उसकी सरज़मी पर धूल चटाई थी.

  • Share this:
आज से 13 साल पहले 2004 में 29 मार्च के ही दिन नजफगढ़ के सुल्तान ने पाकिस्तान को उसकी सरज़मी पर धूल चटाई थी. सहवाग ने पाकिस्तान के खिलाफ ट्रिपल सेंचुरी लगाई और वो ऐसा कारनामा करने वाले पहले भारतीय बन गए. ये ट्रिपल सेंचुरी विश्व टेस्ट क्रिकेट इतिहास की तीसरी सबसे तेज़ सेंचुरी थी. पाकिस्तान में ट्रिपल सेंचुरी के बाद 'मुल्तान के सुल्तान' के नाम से मशहूर हुए वीरेंद्र सहवाग ने आधुनिक क्रिकेट में अपनी पहचान भारत के सबसे आक्रामक सलामी बल्लेबाज के रूप में बनाई. अपने शानदार कट शॉट के लिए मशहूर सहवाग ने अच्छा फुटवर्क नहीं होने के बावजूद अपने जज्बे के साथ सचिन तेंदुलकर के युग में भारतीय टीम में जगह बनाई और मैदान पर उन्हें खेलते हुए देखना आंखों को सुकून देने वाला होता था.

ऐसा था सहवाग का कारनामा
सहवाग ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए 375 गेंदों का सामना करते हुए 309 रन बनाए थे. जिसमें उन्होंने 39 चौके और 6 छक्के जमाए थे. इसके लिए उन्होंने 532 मिनट तक बल्लेबाजी की थी. जिसके बाद भारत ने इस मैच को एक पारी और 52 रनों से जीता था और तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त भी बनाई थी. वीरेंदर सहवाग को इस मैच में शानदार बल्लेबाजी की बदौलत मैन ऑफ़ द मैच चुना गया.

भारत ने 15 साल बाद किया था पाक का दौरा
2004 में भारत 15 साल बाद पाकिस्तान का दौरा कर रहा था. उस वक्त भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 25 साल पहले 1979/80 में आखिरी बार कोई सीरीज़ जीती थी. उसके बाद से भारत को पाकिस्तान के हाथों पांच बार शिकस्त का सामना करना पड़ा था. भारतीय टीम के दिमाग में जीत के अलावा और कुछ भी नहीं था. मुल्तान में पहले टेस्ट में कप्तान राहुल द्रविड़ ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया. वहीं पाकिस्तान टीम में शोएब अख़्तर, मोहम्मद समी और सक़लैन मुश्ताक़ जैसे धुरंदर गेंदबाज़ थे.

भारत को चाहिए थी अच्छी शुरुआत

भारतीय टीम को एक अच्छी शुरुआत के लिए बड़ा स्कोर खड़ा करने की ज़रूरत थी. वीरेंद्र सहवाग और आकाश चोपड़ा ने ओपनिंग करते हुए भारत को अच्छी शुरुआत भी दिलाई. आकाश चोपड़ा ने सहवाग के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़े. चोपड़ा 42 रन बनाकर आउट हो गए लेकिन तब तक सहवाग 119 बॉल पर 14 चौके और चार छक्कों की मदद से 111 रन बना चुके थे. 24वें ओवर के लिए सक़लैन मुश्ताक़ को गेंद थमाई गई. सहवाग ने उनकी बॉल को भी दो चौके और एक छक्के के लिए बाउड्री के बाहर पहुंचाया. हालांकि पाकिस्तान ने स्थिति पर काबू पाने की पूरी कोशिश की. समी ने 6 रन पर राहुल द्रविड़ को आउट किया. भारत ने 43 ओवर तक दो विकेट के नुकसान पर 173 रन बना लिए थे.


Image Source: Getty



सचिन-सहवाग की यादगार साझेदारी

सचिन ने क्रीज़ पर आते ही एक चौके से शुरुआत की. वहीं सहवाग की तूफानी बल्लेबाज़ी जारी थी उन्होंने देखते ही देखते भारत का स्कोर 200 के पार पहुंचा दिया. सहवाग ने 150 गेंदों में 150 रन बना लिए. उन्होंने शोएब अख़्तर, शब्बीर अहमद और फिर अब्दुल रज़्ज़ाक के ओवर में तीन चौके जड़े. सहवाग ने सक़लैन के ओवर में अपनी डबल सेंचुरी पूरी की. सहवाग जब 295 रन पर खेल रहे थे तब उन्होंने बिना किसी हिचकिचाहट के सक़्लैन की गेंद पर छक्का लगाते हुए ट्रिपल सेंचुरी पूरी की. महान बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर ने भी 194 रनों (नॉटआउट) की नाबाद पारी खेली थी.





टीम इंडिया ने पाकिस्तान के खिलाफ पहली पारी में 675/5 के स्कोर पर अपनी पारी घोषित की थी. जिसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तानी टीम को क्रमशः पहली और दूसरी पारी में 407 और 216 रनों पर ही समेट दिया था और मैच को अपनी झोली में डाला.

Image Source: Getty
Image Source: Getty


मुलतान टेस्ट के साथ खत्म हुआ सक़लैन का करियर
विश्व क्रिकेट में सक़लैन मुश्ताक़ को 'दूसरा' गेंदबाज़ी के लिए माना जाता है. सक़लैन मुश्ताक़ ने पाकिस्तान के लिए खेलते हुए 49 टेस्ट मैचों में 208 विकेट चटकाए, जिसमें उन्होंने टेस्ट मैच की एक पारी में 13 बार पांच या उससे अधिक विकेट चटकाए और 3 बार टेस्ट मैच में 10 या उससे अधिक विकेट हासिल किये. वहीं, उन्होंने 169 वनडे मुकाबलों में 288 विकेट चटकाए. उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू 8 सितंबर, 1995 में श्रीलंका के खिलाफ पेशावर में किया था. साल 2004 में मुल्तान में भारत के खिलाफ उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मुकाबला खेला. इसी मैच में वीरेंदर सहवाग ने सक़लैन मुश्ताक़ की गेंद पर छक्का जड़ अपना तिहरा शतक पूरा किया था.

सहवाग ने ऐसा दी थी सक़लैन को मुबारकबाद
सहवाग ने सक़लैन को जन्मदिन की बधाई तो दी लेकिन, साथ ही उन्होंने उनकी गेंदबाजी की धुनाई का वीडियो भी शेयर किया. सहवाग ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'इस यादगार लम्हें के लिए शुक्रिया, मैं इसे बार बार देखकर खुश होता हूं.' सहवाग ने जो वीडियो शेयर की वो मुल्तान में खेली गई उनकी 309 रन की पारी का वीडियो था. उस मैच में सहवाग ने अपना तिहरा शतक सकलैन मुश्ताक की गेंद पर छक्का जड़कर पूरा किया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज