रवि शास्त्री का 36 नंबर से रहा है खास नाता, ट्वीट कर इन खास लम्हों को किया याद

रवि शास्त्री ने 36 साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में नाबाद 63 रनों की पारी खेली थी (फोटो साभार-@RaviShastriOfc)

रवि शास्त्री ने 36 साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में नाबाद 63 रनों की पारी खेली थी (फोटो साभार-@RaviShastriOfc)

36 साल पहले ऑस्ट्रेलिया में बेंसन एंड हेजेज टूर्नामेंट के सेमीफाइनल और फाइनल में रवि शास्त्री ने अर्धशतकीय पारी खेल टीम इंडिया को जीत दिलाई थी. दोनों मैचों में शास्त्री मैन ऑफ द मैच चुने गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 4:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. क्रिकेट के दीवाने 10 मार्च, 1985 का वह मंजर आज तक नहीं भूले, जब सुनील गावस्कर की अगुवाई में भारत ने पाकिस्तान को शिकस्त दी थी. 36 साल पहले ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में दूधिया रोशनी में खेले गए फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को आठ विकेट से हराकर बेंसन एंड हेजेज टूर्नामेंट जीता था. इस टूर्नामेंट को 'मिनी वर्ल्ड कप' भी कहा गया. टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री को इस टूर्नामेंट में चैंपियन ऑफ चैंपियंस का खिताब और इनाम के तौर पर नयी चमचमाती हुई ऑडी कार दी गई थी. जीत और इनाम की खुशी से सराबोर पूरी भारतीय टीम ने इस कार पर सवार होकर पूरे मैदान का चक्कर लगाया था. रवि शास्त्री ने फाइनल में मैच अर्धशतक भी जमाया था. शास्त्री ने 36 साल पहले इस यादगार जीत के लम्हों को याद किया.

उन्होंने ट्वीट किया, 'बहुत सारे 36. मेरे छह छक्के. एडिलेड में टीम के 36 रन. वनडे में भारत की ओर से खेलने वाले 36वें खिलाड़ी. गावस्कर के 36. युवराज सिंह के छह छक्के..' बता दें कि रवि शास्त्री भारत की ओर से वनडे खेलने वाले 36वें खिलाड़ी रहे हैं. इसके अलावा वह छह गेंदों पर छह छक्के भी जड़ चुके हैं.



36 साल पहले जब शास्त्री ने जड़े एक ओवर में 36 रन
साल 2007 में हुए टी20 वर्ल्डकप में इंग्लैंड के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड की छह गेंदों पर छह छक्के लगाने के बाद युवराज सिंह ने कई रिकॉर्ड कायम किए थे. हालांकि युवराज सिंह एक ओवर में छह छक्के लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज नहीं थे. उनसे पहले यह कारनामा रवि शास्त्री ने किया था. 10 जनवरी 1985 को रवि शास्त्री  ने एक ओवर में छह छक्के लगाए थे और वह ऐसा करने वाले पहले भारतीय बने थे. जबकि दुनिया में यह कारनामा सबसे पहले करने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के गैरी सोबर्स  के नाम था जिन्होंने 1968 में ऐसा किया था.

मुंबई के रवि शास्त्री रणजी ट्रॉफी के मुकाबले में बड़ौदा के खिलाफ खेलने उतरे. जैसे ही पार्ट टाइम गेंदबाज तिलक राज गेंदबाजी करने आए शास्त्री ने छक्कों की झड़ी लगा दी और एक ओवर छह छक्के लगा डाले. अपनी इस तूफानी में शास्त्री ने 123 गेंदों में दोहरा शतक जड़ा जो उस समय सबसे तेज दोहरा शतक था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज