आईसीसी की बैठक में 'अंपायर्स कॉल' और मनु साहनी के भविष्य पर होगी चर्चा

30 मार्च को दुबई में होगी आईसीसी की बैठक (File Photo)

30 मार्च को दुबई में होगी आईसीसी की बैठक (File Photo)

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले और कोहली के तनावपूर्ण संबंधों को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही है. कुंबले की अध्यक्षता वाली समिति ने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की अंक प्रणाली में बदलाव किया था, जो भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री और कोहली दोनों को नागवार गुजरा था.

  • Share this:
दुबई. अनिल कुंबले (Anil Kumble) की अध्यक्षता वाली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की क्रिकेट समिति की इस सप्ताह के आखिर में यहां होने वाली बैठक में विवादित 'अंपायर्स कॉल' (Umpires Call) पर चर्चा की जाएगी, जिसकी भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) समेत कई खिलाड़ियों ने आलोचना की है. आईसीसी क्रिकेट बोर्ड की बैठक 30 मार्च को दुबई में होनी है और उसी दिन मुख्य कार्यकारी मनु साहनी (Manu Sawhney) के भविष्य पर भी चर्चा की जाएगी.

मनु साहनी इस समय छुट्टी पर है. आंतरिक जांच में कथित तौर पर पाया गया कि कर्मचारियों के प्रति उनका रवैया कठोर था. बोर्ड के एक सीनियर अधिकारी ने बताया, ''इस सप्ताह के आखिर में त्रैमासिक बैठक होनी है. उससे पहले 'अंपायर्स कॉल' पर भी बात की जाएगी. मुख्य कार्यकारियों की भी बैठक होनी है.''

IND vs ENG: प्रसिद्ध कृष्णा ने बताया, मैकग्रा की सीख से गेंदबाजी में कैसे आया बदलाव

अंपायर्स कॉल के कुछ विवादित फैसलों के बाद कोहली ने इसे अस्पष्ट बताते हुए कहा था कि एलबीडब्ल्यू के फैसले इस आधार पर ही लिए जाने चाहिए कि गेंद स्टम्प पर जा रही है या नहीं. एक सूत्र ने कहा, ''आईसीसी क्रिकेट समिति सभी पक्षों की सहमति से ही फैसले लेती है. क्रिकेट समिति की अनुशंसा को सभी बोर्ड के पास सहमति के लिए भेजा गया था और बीसीसीआई ने भी सहमति जताई थी.''
भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले और कोहली के तनावपूर्ण संबंधों को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही है. कुंबले की अध्यक्षता वाली समिति ने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की अंक प्रणाली में बदलाव किया था, जो भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री और कोहली दोनों को नागवार गुजरा था. भारत ने हालांकि उम्दा प्रदर्शन करके फाइनल में जगह बनाई.

IPL 2021: रवींद्र जडेजा की गैरमौजूदगी ने चेन्नई सुपरकिंग्स की बढ़ाई चिंता, कब जुड़ेंगे किसी को खबर नहीं

वहीं, क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली कमेटी ने सिफारिश की है कि अंपायर्स कॉल का नियम जैसा है वैसा ही रहना चाहिए. इस कमेटी में राहुल द्रविड़, महेला जयवर्धने, एंड्रयू स्ट्रॉस और शॉन पॉलक जैसे दिग्गज हैं. बता दें अंपायर्स कॉल में बदलाव नहीं करने की सिफारिश प्रसारणकर्ता, मैच अधिकारियों और हॉक आई स्पेशलिस्ट से बात करने के बाद की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज