Home /News /sports /

Under-19 World Cup का खिताब दिलाने वाले 4 दिग्गजों की कहानी, किसी ने लॉर्ड्स पर झंडा गाड़ा तो कोई नंबर-1 कप्तान

Under-19 World Cup का खिताब दिलाने वाले 4 दिग्गजों की कहानी, किसी ने लॉर्ड्स पर झंडा गाड़ा तो कोई नंबर-1 कप्तान

इन्हाेंने बनाया भारत को चैंपियन.

इन्हाेंने बनाया भारत को चैंपियन.

Under 19 World Cup: अंडर-19 वर्ल्ड कप के मौजूदा सीजन के लिए भारत सहित दुनियाभर की 16 टीमें तैयार हैं. भारत ने सबसे अधिक 4 बार टूर्नामेंट का खिताब जीता है. अंडर-19 क्रिकेट ने भारत को कई बड़े स्टार भी दिए हैं. भारत को पहला मुकाबला कल साउथ अफ्रीका से खेलना है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. अंडर-19 वर्ल्ड कप (Under-19 World Cup) के मुकाबले 14 जनवरी से शुरू हो रहे हैं. भारत की अंडर-19 टीम (Indian Under-19) टूर्नामेंट की प्रबल दावेदार मानी जा रही है. वो इसलिए, क्योंकि भारत ने सबसे अधिक 4 बार टूर्नामेंट का खिताब जीता है. टीम ने पिछले दिनों अंडर-19 एशिया कप का खिताब जीता. इसके अलावा टीम ने अपने पहले अभ्यास मैच में मेजबान वेस्टइंडीज (India vs West Indies) को मात दी. भारत को पहला मुकाबला कल साउथ अफ्रीका से खेलना है. आइए आपको बताते हैं कि आखिर भारत को 4 बार खिताब दिलाने वाले कप्तान कौन हैं और उनका इंटरनेशनल करियर का सफर कैसा रहा.

अंडर-19 वर्ल्ड कप का आगाज 1988 में हुआ. लेकिन दूसरा सीजन 1998 में हुआ. इसके बाद से हर 2 साल पर इसका आयोजन किया जा रहा है. भारत ने सबसे पहले 2000 में मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) की कप्तानी में टूर्नामेंट का खिताब जीता. टीम ने फाइनल में मेजबान श्रीलंका को 6 विकेट से मात दी थी. श्रीलंका की टीम पहले खेलते हुए 178 रन पर सिमट गई थी. भारत ने लक्ष्य को 40.4 ओवर में 4 विकेट पर हासिल कर लिया. रतिंदर सोढ़ी सबसे अधिक 39 रन बनाकर नाबाद रहे. कैफ ने 18 और युवराज सिंह 27 रन बनाए थे. टीम ने टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला नहीं गंवाया था.

कैफ 138 इंटरनेशनल मुकाबले में उतरे

2000 में हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप के बाद मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह स्टार बनकर सामने आए. कैफ के इंटरनेशनल करियर को देखें तो उन्होंने 125 वनडे में 32 की औसत से 2753 रन बनाए. 2 शतक और 17 अर्धशतक लगाया. इसके अलावा 13 टेस्ट में 33 की औसत से 624 रन बनाए. एक शतक और 3 अर्धशतक लगाया. उन्होंने फर्स्ट क्लास करियर में 10 हजार से अधिक रन बनाए. वे अभी दिल्ली कैपिटल्स की कोचिंग टीम से जुड़े हुए हैं. लेकिन कैफ की 2002 के नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में खेली गई पारी सबसे यादगार पारियों में से एक है. लॉर्ड्स में खेले गए इस मुकाबले में उन्होंने नाबाद 87 रन बनाए थे और टीम को इंग्लैंड पर रोमांचक जीत दिलाई थी. सौरव गांगुली ने जीत के बाद बालकनी पर टीशर्ट उताकर जश्न मनाया था. यह बात आज भी सभी फैंस को याद है.

कोहली का सफर आज भी जारी

विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में भारतीय अंडर-19 टीम ने 2008 में एक बार फिर वर्ल्ड कप का खिताब जीता. टीम ने फाइनल में न्यूजीलैंड काे मात दी थी. कोहली ने फाइनल में 19 रन बनाए थे. भारतीय टीम पहले खेलते हुए सिर्फ 159 रन पर आउट हो गई थी. जवाब में न्यूजीलैंड ने 25 ओवर में 8 विकेट पर 103 रन बनाए थे. डकवर्थ लुईस नियम के बाद उसे 116 रन का लक्ष्य मिला था. इस तरह से भारत ने यह मुकाबला 12 रन से जीता. काेहली आज टीम इंडिया (Team India) के टेस्ट के सबसे सफल कप्तान हैं. वे बतौर बल्लेबाज इंटरनेशनल क्रिकेट में 70 शतक भी लगा चुके हैं. वे 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम का भी हिस्सा थे.

यह भी पढ़ें: Under 19 World Cup: भारत के 11 छक्‍के और 20 चौके देखकर निकला मेजबान वेस्टइंडीज का दम

उन्मुक्त हुए फेल, शॉ का संघर्ष जारी

भारत ने 2012 में उन्मुक्त चंद (Unmukt Chand) और 2018 में पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की कप्तानी में अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता. उन्मुक्त हालांकि इसके बाद कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर सके. उन्हें सीनियर टीम की ओर से खेलने का मौका नहीं मिला. उन्होंने पिछले साल संन्यास लेने के बाद अमेरिका से खेलने का फैसला किया. पृथ्वी शॉ ने इंटरनेशनल करियर में शानदार आगाज किया था. वे टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. हालांकि वे आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब रहे हैं.

Tags: BCCI, Cricket news, India under 19, Mohammad kaif, Prithvi Shaw, Team india, Under 19 World Cup, Unmukt Chand, Virat Kohli, West indies

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर