• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • 'पैसा बोलता है, भारत का दौरा कोई रद्द नहीं करता' उस्मान ख्वाजा ने किया पाकिस्तान का समर्थन

'पैसा बोलता है, भारत का दौरा कोई रद्द नहीं करता' उस्मान ख्वाजा ने किया पाकिस्तान का समर्थन

उस्मान ख्वाजा का 
जन्म पाकिस्तान में हुआ था और उनका परिवार बाद में सिडनी में आकर बस गया था. (Instagram)

उस्मान ख्वाजा का जन्म पाकिस्तान में हुआ था और उनका परिवार बाद में सिडनी में आकर बस गया था. (Instagram)

उस्मान ख्वाजा (Usman Khawaja) भी पाकिस्तान से ताल्लुक रखते हैं. उनका जन्म पाकिस्तान में हुआ था लेकिन जब वह 5 साल के थे तो उनका परिवार सिडनी आकर बस गया था. ख्वाजा ने कहा है कि पाकिस्तान को सीरीज के लिए 'ना' करना आसान है लेकिन अगर यही स्थिति किसी और देश में होती तो कोई ना नहीं करता.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. पाकिस्तान के खिलाफ न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड (NZC) ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए ऐन मौके पर सीरीज रद्द कर दी थी जिसके बाद कई खिलाड़ियों ने इस पर निराशा जाहिर की. अब ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर उस्मान ख्वाजा (Usman Khawaja) ने भी पाकिस्तान का समर्थन किया है. ख्वाजा ने कहा है कि पाकिस्तान को सीरीज के लिए ‘ना’ करना आसान है क्योंकि काफी बातें पैसे पर निर्भर करती हैं.

    ख्वाजा भी पाकिस्तान से ताल्लुक रखते हैं. उनका जन्म पाकिस्तान में ही हुआ था लेकिन जब वह 5 साल के थे तो उनका परिवार सिडनी आकर बस गया था. ख्वाजा ने ब्रिसबेन में कहा, ‘मुझे लगता है कि खिलाड़ियों और संगठनों के लिए पाकिस्तान को ना कहना बहुत आसान है, क्योंकि यह पाकिस्तान है. कोई भी भारत को ना नहीं कहेगा, अगर उनके साथ भी ऐसी ही स्थिति बन जाती है.’

    इसे भी पढ़ें, IPL: जाफर ने शेयर की अजय देवगन की तस्वीर, आप समझे मतलब?

    उन्होंने आगे कहा, ‘पैसा बोलता है, यह बात हम सभी जानते हैं और शायद यह इसका एक बड़ा हिस्सा है. वे अपने टूर्नामेंट के माध्यम से बार-बार साबित करते रहते हैं कि क्रिकेट खेलने के लिए पाकिस्तान एक सुरक्षित जगह हैं. मुझे लगता है कि कोई कारण नहीं है कि हमें क्यों नहीं जाना चाहिए.’

    न्यूजीलैंड के बाद इंग्लैंड ने भी अक्टूबर में होने वाली सीरीज रद्द कर दी थी. हालांकि, पाकिस्तान में ब्रिटिश उच्चायुक्त क्रिश्चियन टर्नर ने कहा कि खिलाड़ियों की सुरक्षा के बारे में चिंता उस निर्णय का हिस्सा नहीं थी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी), हाल के वर्षों में खिलाड़ियों और राष्ट्रीय बोर्डों को यह समझाने के लिए अथक प्रयास कर रहा है कि उसकी वापसी सुरक्षित है. साल 2009 में श्रीलंका की टीम पर हुए हमले के बाद पाकिस्तान को ‘नो-गो जोन’ बना दिया गया था और वह घरेलू सीरीज भी यूएई में आयोजित करता रहा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज