वेदा कृष्णमूर्ति ने बहन के निधन के बाद लिखा भावुक पोस्ट, कोविड-19 से गई थी जान

वेदा कृष्णमूर्ति की मां और बहन का कोविड-19 से निधन हो गया है. (Instagram)

महिला क्रिकेटर वेदा कृष्णमूर्ति (Veda Krishnamurthy) की बहन वत्सला शिवकुमार की कोविड-19 संक्रमण से बुधवार को मौत हो गई. इससे दो सप्ताह पहले ही उनकी मां का भी इस जानलेवा संक्रमण के कारण निधन हो गया था. वेदा ने अपनी बड़ी बहन के निधन के बाद मार्मिक पोस्ट शेयर की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. घातक कोविड-19 के चलते भारतीय महिला क्रिकेटर वेदा कृष्णमूर्ति (Veda Krishnamurthy) के घर में दो सदस्यों का निधन हो गया है. उनकी बहन वत्सला शिवकुमार की कोविड-19 संक्रमण से बुधवार को मौत हो गई. इससे दो सप्ताह पहले उनकी मां का भी इस जानलेवा संक्रमण के कारण निधन हो गया था. वेदा ने अपनी बहन के निधन के बाद गुरुवार को ट्विटर पर मार्मिक पोस्ट शेयर की. उन्होंने साथ ही इस मुश्किल वक्त में अपनों का ख्याल रखने और सुरक्षित रहने की भी अपील की.

    वेदा ने लिखा, 'बहुत दुख के साथ कल रात मेरे परिवार को मेरी अक्का, मेरी फैमिली को अलविदा कहना पड़ा. मेरी दुनिया को बड़ा धक्का लगा है. आपकी ओर से संदेश मिले, आपने प्रार्थना की जिसका मैं सम्मान करती हूं. इस विनाशकारी समय से गुजर रहे सभी लोगों के साथ मेरी सांत्वना. अपने प्रियजनों को बचाकर रखें और सुरक्षित रहें.'



    45 साल की वत्सला का निधन बुधवार रात चिक्कमंगलुरू के निजी अस्तपाल में हुआ. वेदा की मां चेलुवंबा देवी का निधन कोविड-19 महामारी से पिछले महीने हुआ था. भारत के लिए 48 वनडे और 76 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेल चुकीं बेंगलुरु की वेदा ने 24 अप्रैल को अपनी मां के निधन की जानकारी ट्वीट करके दी थी और साथ ही बताया था कि उनकी बहन भी संक्रमित हैं और उनकी हालत खराब है.

    इसे भी पढ़ें, क्रिकेटर वेदा कृष्णमूर्ति की बहन का कोरोना वायरस से निधन, पिछले महीने मां की गई थी जान

    वेदा ने लिखा था, ‘मेरी अम्मा के निधन पर मिले संदेशों का सम्मान करती हूं. आप कल्पना कर सकते हैं कि उनके बिना मेरा परिवार अधूरा हो गया है. हम अब मेरी बहन के लिए प्रार्थना कर रहे हैं. मैं नेगेटिव आई हूं और अगर आप मेरी निजता का सम्मान कर सकते हैं तो अच्छा रहेगा. मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ हैं जो इससे गुजर रहे हैं.’

    देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर से हालत काफी खराब है और इससे रोजाना 3 लाख से ज्यादा मरीज संक्रमित हो रहे हैं. अहम दवाओं और ऑक्सीजन की कमी से यह संकट और बढ़ गया है. अभी तक इस वायरस से देश में दो लाख से ज्यादा लोगों की जान चली गई है.