दिग्‍गज भारतीय क्रिकेटर रजत भाटिया ने लिया संन्‍यास, बायोमैकेनिक्स में बनाएंगे करियर

दिग्‍गज भारतीय क्रिकेटर रजत भाटिया ने लिया संन्‍यास, बायोमैकेनिक्स में बनाएंगे करियर
घरेलू क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड होने के बावजूद रजत भाटिया कभी इंटरनेशनल मैच नहीं खेल पाए. (फाइल फोटो)

रजत भाटिया (Rajat Bhatia ) एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्‍हें 100 से अधिक फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेलने के बावजूद इंटरनेशनल मैच खेलने का मौका नहीं मिल पाया

  • Share this:
नई दिल्‍ली. घरेलू क्रिकेट के स्‍टार ऑलराउंडर रजत भाटिया (Rajat Bhatia) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कह दिया है. 40 साल के रजत अब बायोमैकेनिक्‍स में अपना करियर बनाएंगे. रजत एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्‍हें 100 से अधिक फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेलने के बावजूद भारत की तरफ से इंटरनेशनल मैच खेलने का मौका नहीं मिल पाया और अधूरे सपने के साथ उन्‍होंने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. इंडिया टीवी न्‍यूज की खबर के अनुसार रजत भाटिया ने बताया कि उन्‍होंने सुबह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्‍यास लेने का फैसला किया और बीसीसीआई (bcci) और डीडीसीए को मेल भेज दिया है.

नाबाद शतक जड़कर जिताया था खिताब

भाटिया ने 112 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेले हैं, जिसमें 6 हजार 482 रन बनाए और 137 विकेट लिए. वह 2008 में रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने वाली दिल्‍ली की टीम का हिस्‍सा थे. उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश के खिलाफ फाइनल में नाबाद 139 रन की पारी खेली थी. यही नहीं भाटिया ने 119 लिस्‍ट ए मैच खेले, जिसमें उनके नाम 3 हजार 38 रन है और 9 विकेट है.



बेटी के बर्थडे पर लिया फैसला
दिल्ली में जन्में रजत भाटिया ने पिछले सत्र में बांग्लादेश में लिस्ट ए क्रिकेट भी खेला था. उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा कि मैंने पिछले साल ही संन्यास के बारे में फैसला कर लिया था. मैं यहां घरेलू क्रिकेट नहीं खेल रहा था और फिर कमेंटरी करने लगा. फिर मैं बांग्लादेश में बतौर पेशेवर खेल रहा था, लेकिन इस साल उन्होंने पेशेवर खिलाड़ियों को रखना बंद कर दिया और फिर कोरोना वायरस फैल गया.  भाटिया ने कहा कि संन्‍यास लेने का यह बिल्‍कुल स‍ही समय था, क्‍योंकि उनकह बेटी का बर्थडे होने के कारण उनके लिए यह खास दिन है. इसीलिए इस दिन संन्‍यास लेने का फैसला किया, जिसे वह कभी नहीं भूल सकते. अपने फ्यूचर प्‍लान के बारे में रजत भाटिया ने बताया कि वह बायोमैकेनिक्‍स में करियर बनाना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें: 

उमर अकमल पर 3 साल का लगा बैन कम हुआ, फिक्सिंग से जुड़ी जानकारी छुपाने के थे दोषी

फेक फॉलोअर्स रैकेट: क्रिकेट कमेंटेटर गौरव कपूर से होगी पूछताछ, पुलिस ने भेजा समन

वे पहले से ही ट्रेनिंग में बायोमैकेनिक विशेषज्ञ हैं. वह पिछले तीन साल से कोर्स कर रहे थे.
रजत भाटिया दो बार आईपीएल का खिताब जीतने वाली टीम का भी हिस्‍सा रह चुके हैं. 2008 में वह राजस्‍थान रॉयल्‍स टीम का हिस्‍सा थे. इसके बाद 2012 में कोलकाता नाइटराइडर्स भी हिस्‍सा थे. आईपीएल  (IPL) ने रजत ने 93 मैचों में 342 रन ही बनाए. वह 95 मैचों में 71 विकेट लिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading