लाइव टीवी

17 साल के बल्लेबाज ने ठोका दोहरा शतक, लगाए 12 छक्के और रच दिया इतिहास

News18Hindi
Updated: October 16, 2019, 1:26 PM IST
17 साल के बल्लेबाज ने ठोका दोहरा शतक, लगाए 12 छक्के और रच दिया इतिहास
यशस्वी जायसवाल ने झारखंड के खिलाफ 203 रनों की पारी खेली

विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई के ओपनर यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने झारखंड के खिलाफ 203 रनों की पारी खेली

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2019, 1:26 PM IST
  • Share this:
विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई के ओपनिंग बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) का जलवा बरकरार है. पिछले चार मैचों में दो शतक ठोकने वाले यशस्वी जायसवाल ने बुधवार को झारखंड के खिलाफ डबल सेंचुरी (Yashasvi Jaiswal Double Century) लगा डाली. बेंगलुरू में खेले गए मुकाबले में यशस्वी जायसवाल ने महज 154 गेंदों में 203 रनों की पारी खेली. जिसकी बदौलत मुंबई की टीम ने 50 ओवर में 358 रनों का विशाल स्कोर बनाया.

यशस्वी जायसवाल की तूफानी बल्लेबाजी
बाएं हाथ के ओपनर यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने झारखंड के हर गेंदबाज की जमकर खबर ली और अपनी डबल सेंचुरी में 17 चौके और 12 छक्के लगाए. यशस्वी का स्ट्राइक रेट 131.81 रहा. यशस्वी जायसवाल विजय हजारे ट्रॉफी के एक मैच में 12 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

यशस्वी जायसवाल विजय हजारे में 500 से ज्यादा रन बना चुके हैं


यशस्वी जायसवाल ने रचा इतिहास
यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने झारखंड के खिलाफ दोहरा शतक ठोक इतिहास रच दिया है. वो लिस्ट ए क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले सबसे युवा भारतीय बन गए हैं. इसी सीजन में लिस्ट ए क्रिकेट में डेब्यू करने वाले यशस्वी जायसवाल अपने पहले ही टूर्नामेंट में कमाल का खेल दिखा रहे हैं. यशस्वी ने अबतक 5 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 100 से ज्यादा की औसत से 504 रन ठोक दिए हैं. उनके बल्ले से कुल 3 शतक निकले हैं और टूर्नामेंट में उन्होंने मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 20 छक्के और 44 चौके लगाए हैं.

यशस्वी जायसवाल ने झारखंड के खिलाफ लगाए 12 छक्के

Loading...

बता दें यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) भारत के तीसरे खिलाड़ी हैं जिन्होंने घरेलू वनडे क्रिकेट टूर्नामेंट में दोहरा शतक जड़ने का कारनामा किया है. उनसे पहले केवी कौशल और संजू सैमसन ने भी दोहरा शतक जड़ने का कारनामा किया है.

बेहद गरीब हैं यशस्वी जायसवाल
बता दें यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) का अबतक का सफर बेहद ही मुश्किल भरा रहा है. यशस्वी यूपी के भदोही के रहने वाले हैं और उनके पिता छोटी सी दुकान चलाते हैं. क्रिकेट खेलने का सपना लेकर यशस्वी 11 साल की उम्र में मुंबई आए थे. वहां उन्होंने टेंट में रातें बिताई और पैसों के लिए गोलगप्पे तक बेचे.

यशस्वी जायसवाल ने पैसों के लिए गोलगप्पे तक बेचे हैं


इसके बाद एक लोकल कोच ज्वाला सिंह की नजर यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) पर पड़ी और इसके बाद इस युवा क्रिकेटर ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. यशस्वी फिलहाल मुंबई के सांताक्रूज इलाके में एक चॉल में रहते हैं लेकिन जिस तरह का प्रदर्शन वो कर रहे हैं उसे देख ऐसा लगता है कि जल्द ही फर्श पर पड़ा ये खिलाड़ी अर्श पर पहुंचने वाला है.

मिताली राज को सोशल मीडिया पर किया गया ट्रोल तो भारतीय कप्तान ने दिया ऐसा करारा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 12:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...