लाइव टीवी

स्पॉट फिक्सिंग में फंसी रॉबिन उथप्पा की टीम, कोच और बल्लेबाज गिरफ्तार

News18Hindi
Updated: October 26, 2019, 12:15 PM IST
स्पॉट फिक्सिंग में फंसी रॉबिन उथप्पा की टीम, कोच और बल्लेबाज गिरफ्तार
रॉबिन उथप्पा की अगुआई वाली 2018 बेंगलुरु ब्लास्टर्स के गेंदबाजी कोच और बल्लेबाज को गिरफ्तार कर लिया गया है

कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League) 2018 में बेंगलुरु ब्लास्टर्स और बेलगावी पैंथर्स के बीच खेला गया मुकाबला शक के घेरे में आ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2019, 12:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय सितारों से सजी कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League ) को भी स्पॉट फिक्सिंग (spot-fixing) ने अपने लपेटे में ले लिया है. आईपीएल की तर्ज पर फ्रेंचाइजी बेस्ड लीग केपीएल (KPL) पिछले कुछ समय से फिक्सिंग के कारण चर्चा में बनी हुई है. इस बीच एक बड़ी खबर आई कि लीग की हुबली टाइगर्स टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज एम विश्वनाथन और बेंगलुरु ब्लास्टर्स (Bengaluru Blasters) के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद को 2018 केपीएल सीजन में सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में बेंगलुरु क्राइम ब्रांच यूनिट ने गिरफ्तार किया है. 2008 सीजन में कर्नाटक की ओर से फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वाले 33 साल के वीनू पर भी सट्टेबाजी में शामिल होने का आरोप लगा है. वहीं 39 साल के विश्वानाथन पिछले 20 सालों से क्लब सर्किट में सक्रिय हैं.

दोनों पर 2018 में बेंगलुरु ब्लास्टर्स और बेलागवी पैंथर्स के बीच खेले गए केपीएल मैच में सट्टेबाजी में शामिल होने का आरोप है. पिछले सीजन में विश्वनाथन ब्लास्टर्स की ओर से मैदान पर उतरे थे और टीम की अगुआई रॉबिन उथप्पा कर रहे थे. सीसीबी के मुताबिक, विश्वानाथन को खराब प्रदर्शन करने के लिए बुकीज ने पांच लाख रुपये दिए थे. पुलिस का आरोप है कि विश्वानाथन ने उस मैच में धीमी बल्लेबाजी की थी. हालांकि उस मैच के स्कोरबोर्ड पर नजर डालने पर पता चलता है कि विश्वानाथन ने तब 26 गेंदों पर 46 रन बनाए थे और रॉबिन उथप्पा की अगुआई वाली बेंगलुरु ब्लास्टर्स ने 67 रनों से जीत दर्ज की थी.

Vinu Prasad,M Vishwanathan, KPL,Karnataka Premier League, spot-fixing, स्पॉट फिक्सिंग, कर्नाटक प्रीमियर लीग, क्रिकेट
रॉबिन उ‌थप्पा की अगुआई में 2018 की बेंगलुरु ब्लास्‍टर्स की टीम


अभी और भी नाम बाकी

इस टीम पर आगे की जांच जारी है. जॉइंट पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने जानकारी दी कि इस रैकेट में शामिल कुछ और बुकीज को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि पुलिस ने मैच में वीनू प्रसाद (Vinu Prasad) की भूमिका के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया. वीनू खिलाड़ियों और स्पोर्ट्स स्टाफ में से गिरफ्तार होने वाले पहले हैं. इससे पहले क्राइम ब्रांच ने बेलगावी पैंथर्स (Belagavi Panthers) के मालिक अली अशफाक और एक जाने माने ड्रमर भवनेश बाफना को हिरासत में लिया था. उन्होंने दिल्ली के दो बुकीज के नाम बताए.
इस सप्ताह पुलिस ने ‌बिजनेसमैन और केपीएल टीम बल्लारी टस्कर्स के मालिक अरविंद वेंकेटेश से भी पूछताछ ‌की. केपीएल के इस सीजन में टस्कर्स के तेज गेंदबाज भावेश गुलेचा ने पुलिस को बताया था कि  बाफना के जरिए बुकीज उन तक भी पहुंचे थे. इस तेज गेंदबाज को हर ओवर में दस रन से अधिक देने के लिए कहा गया था. ऐसा भी माना जा रहा है कि केपीएल (KPL) के कुछ और खिलाड़ियों का भी नाम सामने आ सकता है.
भारत में हार के बाद कप्तान फाफ डु प्लेसी ने 'कोचिंग स्टाफ' पर उठाए सवाल

Loading...

भारत जल्द खेल सकता है डे-नाइट टेस्ट, सौरव गांगुली को मिला विराट कोहली का साथ


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 11:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...