WTC Final, विराट कोहली ने कही 5 बड़ी बातें: फैंस और टीम इंडिया के खिलाड़ी हो जाएंगे खुश

WTC Final: विराट कोहली ने इंग्लैंड दौरे से पहले कही बड़ी बातें (AFP)

WTC Final: विराट कोहली ने इंग्लैंड दौरे से पहले कही बड़ी बातें (AFP)

भारतीय क्रिकेट टीम 3 जून को इंग्लैंड पहुंचेगी और 18 जून को वो साउथैंप्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (WTC Final) खेलेगी. इंग्लैंड जाने से पहले विराट कोहली (Virat Kohli) ने 5 बड़ी बातें कही.

  • Share this:

नई दिल्ली. दुनिया की नंबर 1 टेस्ट टीम भारत के सामने अगले तीन महीने तक काफी बड़ी चुनौतियां हैं. टीम इंडिया को इंग्लैंड में सबसे पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (WTC Final) खेलना है और उसके बाद मेजबान से वो पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने वाली है. भारतीय टीम 3 जून को इंग्लैंड की धरती पर कदम रखेगी और फिर वो वहां के हालात में खुद को ढालेगी. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने माना कि इंग्लैंड में मुश्किल क्रिकेट होने वाली है लेकिन साथ ही वो पूरी तरह आत्मविश्वास से भी लबरेज दिखे. विराट कोहली ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले पांच ऐसी बातें कहीं जो टीम इंडिया के बुलंद हौसलों को जाहिर करती हैं.

विराट कोहली की पहली बड़ी बात- हम पिछले 5-6 सालों से काफी मेहनत कर रहे हैं और आज टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही है. हमने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए बहुत मेहनत की. ये हमारे लिये बहुत बड़ा फाइनल है. हम पिछले दो सालों से इसके लिए मेहनत कर रहे हैं. सब जानते हैं कि टेस्ट मैच सबसे मुश्किल फॉर्मेट है और हमने काफी अच्छा किया है. जो खिलाड़ी पिछले काफी समय से टेस्ट टीम का हिस्सा हैं ये उनके लिए बहुत बड़ा मौका है. हमें फाइनल में पहुंचकर गर्व महसूस हो रहा है. विराट कोहली की दूसरी बड़ी बात- वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में हम इंजॉय करने वाले हैं. मुझ पर कोई दबाव नहीं है. हम दूसरे लोगों से अलग सोचते हैं, अगर हमारी सोच अलग नहीं होगी तो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे. मेरे ऊपर तो कोई दबाव नहीं है. मेरा मकसद भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाना है और जब मैं खेल रहा हूं ये मकसद बदलेगा नहीं. हमारे लिये सिर्फ यही मायने रखता है कि टीम एक दूसरे की कितनी मदद कर रही है.
विराट कोहली की दूसरी बड़ी बात- वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में हम इंजॉय करने वाले हैं. मुझ पर कोई दबाव नहीं है. हम दूसरे लोगों से अलग सोचते हैं, अगर हमारी सोच अलग नहीं होगी तो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे. मेरे ऊपर तो कोई दबाव नहीं है. मेरा मकसद भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाना है और जब मैं खेल रहा हूं ये मकसद बदलेगा नहीं. हमारे लिये सिर्फ यही मायने रखता है कि टीम एक दूसरे की कितनी मदद कर रही है.
विराट कोहली की तीसरी बड़ी बात- हम सब जानते हैं कि इंग्लैंड में कैसा माहौल है, हम वहां की पिच और मौसम को समझते हैं. सिराज जैसे युवा खिलाड़ियों को भी इंग्लैंड में खेलने का अनुभव है. हमें खुद पर भरोसा है और हमें अपनी ताकत-कमजोरी पता है. हम चार प्रैक्टिस सेशन के बाद भी इंग्लैंड में खेलने को तैयार हैं. मानसिक तौर पर आप मैदान में कैसे उतर रहे हैं ये सबसे ज्यादा मायने रखता है.
विराट कोहली की चौथी बड़ी बात- साल 2014, साल 2018 और आज के विराट में कुछ नहीं बदला है. हमेशा से मेरा प्रदर्शन और रवैया वैसा ही रहा है. मैं अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं और टीम के लिए योगदान देना चाहता हूं. साल 2018 से जरूर हमने विदेश में जबर्दस्त प्रदर्शन किया है.
विराट कोहली की पांचवीं बड़ी बात- वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के बाद 6 हफ्ते का ब्रेक हमारे लिये बेहतरीन है. हम अपनी टीम को इंग्लैंड सीरीज के लिए तरोताजा कर पाएंगे. बायो बबल में बड़े दौरा करना बेहद कठिन है, जैसा ऑस्ट्रेलिया में हुआ था. ब्रेक बहुत जरूरी हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मुश्किल होने वाली है इसलिए खिलाड़ी अगर बबल से बाहर निकलेंगे तो मानसिक तौर पर मजबूत होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज