लाइव टीवी

विराट कोहली और रोहित शर्मा समेत पूरी टीम इंडिया करेगी 'नाइट शिफ्ट', ये है वजह!

News18Hindi
Updated: November 12, 2019, 1:00 PM IST
विराट कोहली और रोहित शर्मा समेत पूरी टीम इंडिया करेगी 'नाइट शिफ्ट', ये है वजह!
इंदौर में नाइट प्रैक्टिस करेगी टीम इंडिया

भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के बीच दो मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट कोलकाता में 22 नवंबर से शुरू होगा. खास बात यह है कि ये टीम इंडिया का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच होगा, जो गुलाबी गेंद से खेला जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2019, 1:00 PM IST
  • Share this:
इंदौर. भारत-बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के बीच दो मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट गुरुवार 14 नवंबर से इंदौर के होल्कर स्टेडियम में शुरू होगा. मगर इस मैच से ज्यादा क्रिकेट प्रशंसकों को दोनों टीमों के बीच खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट का इंतजार है. भारत-बांग्लादेश के बीच दूसरा टेस्ट कोलकाता के ईडन गार्डेंस पर 22 नवंबर से खेला जाएगा. खास बात यह है कि ये टीम इंडिया का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच होगा, जो गुलाबी गेंद से खेला जाएगा. टीम के कई खिलाड़ियों ने जहां पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की निगरानी में नेशनल क्रिकेट अकादमी में गुलाबी गेंद से खेलने की तैयारी की, वहीं अब इंदौर टेस्ट के दौरान भी खिलाड़ी डे-नाइट टेस्ट की तैयारियों में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं.

दरअसल, भारतीय खिलाड़ी कोलकाता (Kolkata Day- Night Test) में 22 नवंबर से होने वाले डे-नाइट टेस्ट को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम की ओर से मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन से रात में लाइट में प्रैक्टिस सेशन आयोजित करने की मांग की गई है. इस बारे में मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव मिलिंद कनमाडीकर ने बताया कि राज्य क्रिकेट संघ गुलाबी गेंद से खेलने की तैयारियों में खिलाड़ियों की मदद कर काफी खुश है. उन्होंने कहा, ‘हमें भारतीय टीम की ओर से आग्रह मिला कि टीम डे-नाइट टेस्ट की तैयारियों को देखते हुए रात में लाइट में प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा लेना चाहती है. इसलिए हम उनके लिए इसकी व्यवस्था कर रहे हैं.’

दूधिया रोशनी में गुलाबी गेंद से प्रैक्टिस करेगी भारतीय टीम


वहीं, बीसीसीआईटीवी से बातचीत में भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने पिंक टेस्ट को लेकर कई खुलासे किए. उन्होंने कहा, ‘व्यक्तिगत रूप से मैं डे-नाइट टेस्ट को लेकर काफी उत्साहित हूं. मुझे नहीं पता कि इसका नतीजा क्या होगा, लेकिन कुछ प्रैक्टिस सेशन के बाद हमें इसका अंदाजा हो जाएगा. उसी के बाद हमें पता चलेगा कि पिंक बॉल कितना स्विंग करेगी और सेशन दर सेशन कैसा प्रदर्शन करेगी. प्रशंसकों के लिहाज से भी ये मैच काफी दिलचस्प होगा. मुझे लगता है कि बल्लेबाज जितना लेट खेलेंगे उतना ही अच्छा होगा. हालात से तालमेल बैठाने में कोई समस्या पेश नहीं आनी चाहिए.’

टीम इंडिया के तीसरे नंबर के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने बताया कि उनके पास गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव है और वह दलीप ट्रॉफी में इस गेंद से खेल चुके हैं. पुजारा ने कहा, ‘जब मैं 2016-17 में गुलाबी गेंद से खेला था, उसके बाद से लंबा वक्त हो चुका है. इसलिए इसे लाभ की स्थिति के तौर पर नहीं आंका जा सकता. मगर निश्चित रूप से इस अनुभव से कुछ तो मदद मिलेगी. जब आप गुलाबी गेंद से खेलते हैं तो आपको पता होता है कि किस तरह खेलना है.’ पुजारा ने कहा कि गुलाबी गेंद से खेलने के लिए आपको अधिक अभ्यास की जरूरत होती है. जब आप इससे खेलना शुरू कर देते हैं तो आपको इसकी आदत पड़ जाती है.

कोलकाता में 22 नवंबर से होना है डे नाइट टेस्ट


भारतीय टीम के मध्यक्रम की अहम कड़ी चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने कहा, ‘गुलाबी गेंद से हमें और अधिक अभ्यास करने की जरूरत है. जब भी मुझे मौका मिलेगा मैं गुलाबी गेंद से अभ्यास करने की कोशिश करूंगा.’ डे-नाइट टेस्ट के लिए टीम की तैयारियों को देखते हुए साफ है कि कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली इस अहम और ऐतिहासिक मैच के लिए कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते.यह भी पढ़ें : इस खिलाड़ी ने 7 छक्के लगाकर दिलाई टीम को तूफानी जीत, दिमाग के फैन हैं धोनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 12:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर