लाइव टीवी

टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को लेकर डूबेंगी विराट कोहली की हरकतें, यह है वजह

News18Hindi
Updated: February 14, 2020, 11:19 AM IST
टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को लेकर डूबेंगी विराट कोहली की हरकतें, यह है वजह
टीम इंडिया के कप्तान है विराट कोहली

विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज 0-3 से हारी थी, ऐसा 31 साल में पहली बार हुआ था

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2020, 11:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ वनडे सीरीज में 0-3 से हार का सामना करने के बाद टीम इंडिया (Team India) अब टेस्ट सीरीज में जीत के साथ दौरे का अंत करना चाहेगी. टेस्ट सीरीज से पहले भारतीय टीम शुक्रवार को न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ अभ्यास मैच खेलने उतरी है. टेस्ट सीरीज से पहले इस बात की उम्मीद की जा रही थी प्रैक्टिस मैच में टीम संयोजन और ओपनिंग जोड़ी को लेकर फैसला किया जाएगा. हालांकि प्रैक्टिस मैच में एक बार फिर विराट कोहली के फैसलों ने फैंस को उलझन में डाल दिया है.

कोहली के फैसलों से फिर किया हैरान
प्रैक्टिस मैच में मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) के साथ ओपनिंग करने उतरे. न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भी इन्हीं दोनों खिलाड़ियों ने ओपनिंग की जिम्मेदारी संभाली थी. हालांकि इस मैच में मयंक अग्रवाल को आराम दिया जाना चाहिए था क्योंकि वह लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं. पहले इंडिया के लिए और फिर सीनियर टीम की ओर से उन्होंने ओपनिंग की है.  शुभमन गिल को शॉ के साथ ओपनिंग के लिए उतारा जा सकता था ताकि यह तय किया जाए कि दोनों में से कौन ओपनिंग करने उतरेगा.   पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए.

prithvi shaw, cricket news, shubhman gill
पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल दोनों ही खिलाड़ियों को प्रैक्टिस मैच में मौका दिया गया है




इसके बाद तीसरे नंबर पर हमेशा की तरह चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) खेलने उतरे. पुजारा के आने के कुछ समय बाद ही मयंक अग्रवाल भी केवल एक रन बनाकर लौट गए. फैंस को उम्मीद थी कि नियमित ऑर्डर के मुताबिक विराट कोहली चौथे नंबर पर उतरेंगे. हालांकि ऐसा नहीं हुआ, चौथे नंबर पर शुभमन गिल बल्लेबाजी करने उतरे. हालांकि वह भी शॉ की तरह खाता नहीं खोल पाए. गिल के आउट होने के बाद अजिंक्य रहाणे और फिर हनुमा विहारी क्रीज पर आए. वहीं विराट कोहली इस मुकाबले में बल्लेबाजी करने नहीं उतरे.

बैटिंग ऑर्डर को लेकर उलझन में है विराट कोहली
विराट कोहली के फैसले पर सभी को हैरानी हो रही है. टीम को देखकर यह समझ पाना मुश्किल है कि आखिर कोहली (Virat Kohli) किस तरह का बैटिंग ऑर्डर चाहते हैं. उन्होंने नियमित ओपनर गिल से ओपनिंग ना करते हुए उन्हें अपने नंबर पर बल्लेबाजी करने उतारा. इससे यह साफ नहीं हो पा रहा है कि आखिर वह शुभमन को किस नंबर खिलाना चाहते हैं, क्योंकि जिस नंबर पर गिल बल्लेबाजी करने वह उतरे उस पर कप्तान कोहली (Virat Kohli) बल्लेबाजी करते हैं.

न्यूजीलैंड ए के खिलाफ चार दिवसीय मुकाबले में शुभमन गिल (Shubman Gill) ने जड़ी सेंचुरी
विराट कोहली साफ नहीं कर पा रहे हैं कि गिल टीम में किस जगह खेलेंगे


वहीं मयंक के साथ पृथ्वी शॉ को ओपनिंग कराके यह भी साफ हो गया कि वह गिल से ओपनिंग नहीं करना चाहते हैं.  तो ऐसे में गिल टीम में किस नंबर पर उतरेंगे इसे लेकर असमंजस है.  इस तरह खिलाड़ियों के बैटिंग ऑर्डर में बड़े बदलाव कहीं न कहीं खिलाड़ियों के खेल पर भी प्रभाव डालते हैं. वहीं कोहली खुद इस मैच में  बल्लेबाजी करने नहीं उतरे. कायास लगाए जा रहे हैं कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज की तरह कीवी टीम के खिलाफ कोहली अपना बैटिंग ऑर्डर बदल सकते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फ्लॉप रही थी कोहली की रणनीति
कोहली (Virat Kohli) इस तरह का प्रयोग पहले भी कर चुके हैं जिसमें वह बुरी तरह फ्लॉप रहे थे. पिछले महीने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी विराट कोहली ने बैटिंग ऑर्डर में बदलाव किया जिसका असर टीम पर दिखा और वह मैच हार गई. पहले वनडे में  केएल राहुल (KL Rahul) को तीसरे नंबर पर उतारा, वहीं विराट कोहली चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे थे.

virat kohli records, virat kohli runs, kohli stats, india australia odi, bengaluru odi, ind vs aus odi, विराट कोहली रिकॉर्ड, विराट कोहली बेंगलुरु वनडे, इंडिया ऑस्‍ट्रेलिया वनडे, कोहली का कमाल, कोहली कारनामे
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विराट कोहली ने अपने बैटिंग ऑर्डर में बदलाव किया था


कोहली इस मैच में केवल 16 रन बना पाएं वहीं बदले हुए बैटिंग ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने उतरे ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर भी खास कमाल नहीं कर पाए. कोहली ने मैच के बाद यह माना भी था कि बैटिंग ऑर्डर में बदलाव उन्हें महंगा पड़ा जिस कारण उन्हें हार मिली. विराट कोहली अगर टेस्ट में भी इस तरह बैटिंग ऑर्डर में बदलाव करते हैं तो टीम को इसका नुकसान हो सकता है. खिलाड़ियों को अगर मैच में बदले हुए बैटिंग ऑर्डर पर उतारा जाता है तो इसका असर उनके खेल पर पड़ता है.

टीम सेलेक्शन
विराट कोहली के टीम के चुनाव को लेकर भी कई बार सवाल उठाए गए हैं. उन पर अकसर यह आरोप लगाया जाता है कि वह टीम में खिलाड़ियों को जरूरत नहीं बल्कि पसंद के हिसाब से मौका देते हैं. उनके गलत टीम सेलेक्शन के कारण टीम को कई बार भारी नुकसान उठाना पड़ता है. कोहली प्लेइंग इलेवन के चुनाव में अकसर गलतियां कर बैठते हैं.  इसका बड़ा उदाहरण है मनीष पांडे (Manish Pandey). पांडे को प्रदर्शन करने के बावजूद लगातार टीम से अंदर-बाहर किया जाता रहा है. कोहली ने वनडे सीरीज में शुरुआती दो मैचों में मनीष पांडे की जगह केदार जाधव को जगह दी थी. हालांकि उन्होंने जाधव को खिलाने के बावजूद उनसे गेंदबाजी नहीं कराई. वहीं आखिरी वनडे में जब मनीष पांडे को मौका मिला तो उन्होंने 42 गेंदों में 48 रनों की पारी खेली और बताया कि वह टीम में जगह के लायक क्यों हैं.

cricket news, india vs new zealand, indian cricket team, new zealand cricket team, wellington t20, fourth t20, manish pandey, क्रिकेट न्यूज, मनीष पांडे, इंडिया वस न्यूजीलैंड, इंडियन क्रिकेट टीम, न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम, वेलिंगटन, चौथा टी20
मनीष पांडे को न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी वनडे केदार जाधव की जगह टीम में मौका मिला था


खिलाड़ियों में कम भरोसा
विराट कोहली (Virat Kohli) के फैसलों के कारण खिलाड़ियों को टीम में अपनी जगह को लेकर किसी भी तरह का विश्वास नहीं है. इससे उनका आत्मविश्वास भी कम होता है. कोहली कई बार किसी भी खिलाड़ी को बिना वजह ही टीम से बाहर कर देते हैं जिससे खिलाड़ियों पर मानसिक तौर पर भी असर पड़ता है. इसका सबसे बड़ा उदाहरण है मनीष पांडे. मनीष पांडे की जगह कभी शिवम दुबे को तो कभी केदार जाधव को टीम में मौका दिया गया.  इस तरह के फैसलों से खिलाड़ियों का आत्मविश्वास कम होता और वह कई बार उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर पाते जिसकी टीम को जरूरत होती है.

rohit sharma, new zealand, ind vs nz, cricket news, sports news, न्यूजीलैंड, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, इंडिया वस न्यूजीलैंड, रोहित शर्मा, इंडियन क्रिकेट टीम, सुपरओवर
विराट कोहली न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में कोई शतक नहीं लगा पाए हैं


कप्तानी के फैसले
टीम के सेलेक्शन के बाद विराट कोहली के मैदान पर लिए गए फैसले भी अकसर टीम पर भारी पड़ते हैं. चाहे बात गेंदबाजी की हो या डीआरएस को लेकर. ऐसे ही कुछ फैसलों के कारण टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज 0-3 से हारी. दूसरे वनडे में न्यूजीलैंड 42वें ओवर में आठ विकेट खोकर 197 रन बना चुकी थी. ऐसे में जब कोहली (Virat Kohli) अपने इन फॉर्म गेंदबाजों को लगाकर पारी को जल्दी समेटने की कोशिश करानी चाहिए थी, तब उन्होंने शार्दुल ठाकुर और नवदीप सैनी से गेंदबाजी कराई. इससे 10वें नंबर के बल्लेबाज केयले जेमिसन को सेट होने का मौका मिला और कीवी टीम ने 273 रन बनाए जिसकी मदद से उन्होंने सीरीज अपने नाम की. अगर कोहली आगामी टेस्ट सीरीज में भी इस तरह के फैसले लेते हैं तो डर है कि टीम को वनडे सीरीज जैसी हार फिर से देखने को न मिले.

Olympic Count down 161 Days: हॉकी में भारत का था आखिरी गोल्ड और आखिरी मेडल

हैंसी क्रोनिए मैच फिक्सिंग कांड: कोर्ट ने सट्टेबाज संजीव चावला को 12 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 9:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर