माइकल क्लार्क ने कोहली को बताया- वनडे का ऑलटाइम सबसे बेहतरीन बल्लेबाज

क्लार्क ने कहा, "मेरा मानना है कि विराट एकदिवसीय क्रिकेट में खेलने वाले सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. भारत के लिए उन्होंने जो कुछ हासिल किया उसको देखने के बाद मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है."

भाषा
Updated: January 20, 2019, 6:05 PM IST
माइकल क्लार्क ने कोहली को बताया- वनडे का ऑलटाइम सबसे बेहतरीन बल्लेबाज
क्लार्क ने कहा, "मेरा मानना है कि विराट एकदिवसीय क्रिकेट में खेलने वाले सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. भारत के लिए उन्होंने जो कुछ हासिल किया उसको देखने के बाद मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है."
भाषा
Updated: January 20, 2019, 6:05 PM IST
विराट कोहली ने अपनी बल्लेबाजी से खेल के हर प्रारूप में अपनी विशिष्ट छाप छोड़ी और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि भारतीय कप्तान 'एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने वाले सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं.' कोहली अभी टेस्ट और वनडे में विश्व के नंबर एक बल्लेबाज हैं. उनकी अगुवाई में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट और वनडे श्रृंखलाएं जीतकर इतिहास रचा. इससे पहले भारतीय टीम ने टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला बराबर करायी थी. इस तरह से भारत पहला ऐसा देश बन गया है जिसने ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला नहीं गंवायी. इस बीच कोहली ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विश्व कप विजेता कप्तान क्लार्क ने कहा, "मेरा मानना है कि विराट एकदिवसीय क्रिकेट में खेलने वाले सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. भारत के लिए उन्होंने जो कुछ हासिल किया उसको देखने के बाद मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है."

कोहली ने अब तक 219 वनडे में 10,385 रन बनाए हैं जिसमें 39 शतक शामिल हैं. उनका औसत 59 से भी अधिक है. कोहली के प्रशंसक क्लार्क ने कहा कि इस 30 वर्षीय क्रिकेटर के जुनून का कोई जवाब नहीं है.



उन्होंने कहा, "आपको अपने देश के लिये जीत दर्ज करने के विराट के जुनून का सम्मान करना होगा. हां उनमें आक्रामकता है लेकिन कोई भी उसकी प्रतिबद्धता पर सवाल नहीं उठा सकता. वह वनडे में सर्वश्रेष्ठ हैं." कोहली जहां लगातार उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं वहीं उनके पूर्ववर्ती कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की वर्तमान फॉर्म को लेकर क्रिकेट जगत की राय भिन्न है.

धोनी अब वनडे में पहले की तरह आक्रामक शैली से नहीं खेलते हैं लेकिन क्लार्क का मानना है कि इस 37 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान को अपना खेल खेलने के लिये अकेला छोड़ देना चाहिए. क्लार्क ने कहा, "धोनी जानते हैं कि किसी परिस्थिति में किस तरह से खेलना है. उन्होंने 300 से अधिक वनडे खेले हैं, इसलिए वह जानते हैं कि अपनी भूमिका कैसे निभानी है."

लेकिन अगर तीसरे वनडे में लक्ष्य 230 के बजाय 330 होता तो क्या धोनी प्रभावशाली होते? इस सवाल के जवाब में क्लार्क ने कहा, "मुझे लगता है कि वह फिर अलग तरह से बल्लेबाजी करते. लक्ष्य 230 रन का था और उनकी रणनीति इसी के अनुकूल थी और अगर लक्ष्य बड़ा होता तो उनकी रणनीति भिन्न होती."

क्लार्क से पूछा गया कि धोनी को विश्व कप में बल्लेबाजी क्रम में कौन से नंबर पर उतारना चाहिए, उन्होंने कहा, "चार, पांच या छह किसी भी स्थान पर. वह किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं और मुझे लगता है कि विराट उनका परिस्थितियों के अनुसार उपयोग करेंगे."
Loading...

क्लार्क ने हालांकि कहा कि वर्तमान में निलंबित हार्दिक पंड्या इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में भारतीय अभियान में अहम भूमिका निभाएंगे. पंड्या और केएल राहुल एक टीवी कार्यक्रम के दौरान आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के कारण अभी सस्पेंड हैं.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने कहा, "हार्दिक जैसा प्रतिभाशाली खिलाड़ी टीम में संतुलन बनाने के लिये बेहद जरूरी है. वह केवल अपनी बल्लेबाजी से मैच जिता सकते हैं और मुझे यकीन है कि वह विश्व कप टीम का हिस्सा होंगे."
ये भी पढ़ें: कोहली का सबसे तेज 27 वनडे शतकों का रिकॉर्ड टूटा, फॉर्म में लौटे अमला
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...