होम /न्यूज /खेल /

'करियर के सबसे कीमती 35 रन बनाए', विराट कोहली ने 2011 वर्ल्ड कप की जीत को कुछ यूं किया याद

'करियर के सबसे कीमती 35 रन बनाए', विराट कोहली ने 2011 वर्ल्ड कप की जीत को कुछ यूं किया याद

2011 ODI World cup final: विराट कोहली ने 2011 वर्ल्ड कप की ऐतिहासिक जीत को याद किया है. (YUVRAJ SINGH TWITTER)

2011 ODI World cup final: विराट कोहली ने 2011 वर्ल्ड कप की ऐतिहासिक जीत को याद किया है. (YUVRAJ SINGH TWITTER)

2011 ODI World cup final: भारत ने आज ही के दिन यानी 2011 में श्रीलंका को हराकर वर्ल्ड कप जीता था. भारत की इस जीत के 11 साल पूरे होने पर आईपीएल फ्रेंचाइजी आरसीबी ने एक वीडियो शेयर किया है. इसमें टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भी इस ऐतिहासिक जीत को याद किया है. उन्होंने कहा है कि मेरे लिए वर्ल्ड कप फाइनल के 35 रन की पारी करियर की बेस्ट इनिंग है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. टीम इंडिया ने आज से 11 साल पहले 2 अप्रैल को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में इतिहास रचा था. महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में भारतीय टीम ने श्रीलंका को हराकर 28 साल बाद वर्ल्ड कप (2011 ODI World cup final) जीता था. इस जीत में हर खिलाड़ी का अहम योगदान था. इसमें विराट कोहली भी शामिल थे. उन्होंने फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ 35 रन की पारी खेली थी. कोहली को भी वो दिन अच्छे से याद है. इस जीत के 11 साल पूरे होने पर विराट की आईपीएल फ्रेंचाइजी आरसीबी ने एक वीडियो शेयर किया है. इसमें टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने भी इस ऐतिहासिक जीत को याद किया है.

    विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा, “मुझे आज भी याद है कि जब मैं वर्ल्ड कप के फाइनल में बल्लेबाजी के लिए मैदान में जा रहा था. तब दो विकेट जल्दी गिर चुके थे. सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग दोनों आउट हो चुके थे. जब मैं बल्लेबाजी के लिए उतर रहा था, तब पवेलियन की ओर लौट रहे सचिन पाजी ने मुझसे कहा था कि बड़ी पार्टनरशिप करना. इसके बाद मैंने और गौतम गंभीर ने 90 रन (तीसरे विकेट के लिए असल में 83 रन जोड़े) की साझेदारी की थी. तब मैंने 35 रन बनाए थे.”

    वर्ल्ड कप जीत को भुला नहीं सकता: कोहली
    पूर्व भारतीय कप्तान ने आगे कहा, “वह 35 रन भी मेरे लिए काफी अहम थे. मैं इसे अपने करियर की सबसे कीमती 35 रन मानता हूं. मुझे इस बात की खुशी थी कि मैं टीम की वापसी में योगदान दे पाया था. वनडे वर्ल्ड कप जीतने की खुशी बयां नहीं कर सकता. भीड़ वंदे मातरम गा रही थी और जो-जीता वही सिकंदर के नारे लगा रही थी. यह इस एक लम्हे को मैं कभी भुला नहीं सकता.”

    IPL 2022: CSK की 2 हार के बाद मुश्किलें और बढ़ीं, एक गेंदबाज अस्पताल में, तो एक हुआ चोटिल

    RR vs MI: संजू सैमसन मुंबई इंडिंयस के खिलाफ लगाएंगे दोहरा शतक! मैदान पर उतरते ही हासिल करेंगे बड़ा मुकाम

    2011 वर्ल्ड कप के फाइनल में श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की थी और 6 विकेट पर 274 रन बनाए थे. श्रीलंका की ओर से महेला जयवर्धने ने शतक लगाया था. जवाब में भारत ने 4 विकेट खोकर ही जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया था. भारत की तरफ से गौतम गंभीर ने सबसे अधिक 97 रन बनाए थे. वहीं, धोनी ने भी 79 गेंद में 91 रन की कप्तानी पारी खेली थी. उन्होंने आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी.

    Tags: ICC ODI World Cup 2011, Icc world cup 2011, Ms dhoni, Virat Kohli

    अगली ख़बर