ऑस्ट्रेलिया दौरे की इस घटना ने कोहली को बना दिया फिटनेस आइडियल

विराट कोहली 11 साल के इंटरनेशनल करियर में पिछले कुछ सालों से फिटनेस आइडियल कैसे बने.

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:30 PM IST
ऑस्ट्रेलिया दौरे की इस घटना ने कोहली को बना दिया फिटनेस आइडियल
विराट कोहली (फोटो क्रेडिट: विराट कोहली ट्विटर हैंडल)
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:30 PM IST
खेल जगत में अगर सबसे फिट खिलाड़ी का नाम पूछा जाए तो जाहिर सी बात है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली का नाम सबसे पहले आएगा. पिछले कुछ वर्षों में कोहली ने खुद को  फिटनेस आइडियल के रूप में स्‍थापित कर लिया है, लेकिन क्या आपने सोचा है कि 11 साल के इंटरनेशनल करियर में वह पिछले कुछ सालों से फिटनेस आइडियल कैसे बने. खुद विराट कोहली ने इसका खुलासा किया.

कोहली ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि फिटनेस के लिए उनका और अधिक समर्पण 2012 में ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद हुआ. उन्होंंने कहा कि उस ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद उन्हें महसूस हुआ कि क्रिकेट की दुनिया में चीजें कितनी तेजी से बदल रही हैं.

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ी अधिक फिट दिख रहे ‌थे. वह लगातार गेंदबाजी करने में सक्षम हैं तो लंबे समय तक बल्‍लेबाजी भी कर सकते हैं. लगातार गेंदबाजी करने के बावजूद वह कोई खराब गेंद नहीं डाल रहे थे, जिस पर हम कोई शॉट मार सके.

एक भी खराब गेंद नहीं फेंकी

विराट कोहली (फोटो क्रेडिट: विराट कोहली ट्विटर हैंडल)


कोहली ने कहा कि मैं ये देखकर हैरान रह गया था कि आखिर यह कैसे संभव है कि चार मैचों में आपको हिट करने के लिए खराब गेंद नहीं मिली. भारतीय कप्तान ने कहा कि जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे तो हमें तीन गुना ज्यादा मेहनत करनी पड़ी. तब मुझे पता चला गया कि यह फिटनेस के स्तर का सवाल है. इसके बाद मैं सबसे पहले अपनी फिटनेस में सुधार लाना चाहता था, क्योंकि मैं पीछे नहीं रहना चाहता ‌था. इसी रास्ते क्रिकेट की दुनिया जा रही थी. उस समय मैंने महसूस किया है कि अगर इन चीजाें के बारे में मैं अपने तरीकों से चिपका रहा और अ‌ड़ियल बना तो मैंन कभी भी सुधार नहीं कर पाउंगा. मैं अपना काम खुद कर रहा था और परिणाम दिखने लगे.

 शंकर बासु ने की कोहली की मदद
Loading...

कोहली ने कहा कि शंकर बासु ही वह पहले व्यक्ति थे, जो इस ओर मेरा ध्यान लेकर आए. उन्होंने कहा था कि यदि मैं अपना फिटनेस का स्‍तर नहीं बदल पाता तो मैं इस स्तर ने उन लोगाें की प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम नहीं हो पाउंगा. वह इसे उस समय से जानते थे. मैंने उनके साथ कई साल इस पर काम किया और उन्‍हाेंने सब कुछ ही बदल दिया.

वेस्टइंडीज दौरे के लिए इन दो खिलाड़ियों को वनडे टीम में न चुनने पर सौरव गांगुली ने उठाए सवाल

वर्ल्ड कप की हार के बाद बोले कोहली, सोकर उठने पर होता है ज्यादा दर्द

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 2:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...