विराट को पसंद नहीं नेट प्रैक्टिस, बोले- पिच पर तैयारी करना चाहता हूं

भाषा
Updated: August 23, 2019, 5:12 PM IST
विराट को पसंद नहीं नेट प्रैक्टिस, बोले- पिच पर तैयारी करना चाहता हूं
सर विवियन रिचर्ड्स के साथ विराट कोहली.

विराट कोहली (Virat Kohli) ने बीसीसीआई टीवी (BCCI TV)के लिए वेस्टइंडीज (West Indies) के दिग्गज विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वह अभ्यास के समय भी मैच जैसी स्थिति का सामना करना चाहते हैं.

  • Share this:
भारतीय कप्तान (Indian Captain) विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि उन्हें नेट पर अभ्यास करना ‘असुविधाजनक’ लगता है और वह मैच की तरह परिस्थिति का सामना करने के लिए क्षेत्ररक्षकों के साथ मैदान के बीच पिच पर अभ्यास करना चाहते हैं. कोहली ने बीसीसीआई टीवी (BCCI TV) के लिए वेस्टइंडीज (West Indies) के दिग्गज विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वह अभ्यास के समय भी मैच जैसी स्थिति का सामना करना चाहते हैं.

नेट प्रैक्टिस में अलग होती है मानसिकता
कोहली ने रिचर्ड्स से इस मामले पर उनके विचार पूछते हुए कहा, ‘अभ्यास के दौरान आप इस मानसिकता के साथ जाते है कि आपको अपने गेंदबाजों का ही सामना करना हैं और आउट होने से बचना है, ऐसे में आप हर गेंद को अच्छे से खेलते है. गेंद बल्ले का किनारा भी नहीं लेती, हर गेंद बल्ले के बीचों-बीच लगती है.’

virat kohli, vivian richards, virat kohli net practice, india cricket, virat kohli vivian richards, विराट कोहली, विवियन रिचर्ड्स, टीम इंडिया, इंडियन क्रिकेट
विराट कोहली नेट प्रैक्टिस के बजाय मैच की तरह अभ्‍यास करना पसंद करते हैं. (AP Photo)


रिचर्ड्स ने भी जताई सहमति
रिचर्ड्स ने कहा, ‘मैं भी नेट अभ्यास के बारे में ऐसा ही सोचता हूं. आप वहां अपनी खामियों को दूर करने जाते है इसमें आप आउट भी हो सकते है. मुझे भी नेट हमेशा असुविधाजनक लगा है और मैं कभी भी सहज नहीं रहा हूं.’

इंग्‍लैंड में नाकामी के बाद बदला तरीका
Loading...

कोहली ने अभ्यास के दौरान ‘दिमाग में वहां की परिस्थितियों को लेकर खाका तैयार करने’ पर जोर देते हुए कहा इसने 2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उनकी सफलता में बड़ी भूमिका निभाई. उन्होंने कहा, ‘2014 के बाद, मैं इंग्लैंड गया था और वह दौरा काफी बुरा रहा था इसके बाद ऑस्ट्रेलिया का दौरा था जो और भी ज्यादा चुनौतीपूर्ण होता है. ऐसे में दिमाग में दौरे की योजना बनाने से मुझे काफी मदद मिली.’

उन्होंने कहा, ‘दौरे से तीन महीने पहले ही मैंने सोचना शुरू कर दिया था कि मुझे किन गेंदबाजों का सामना करना हैं और उनके खिलाफ अपना प्रभुत्व कायम करूंगा. मैंने सोच लिया था कि उन पर दबाव बनाउंगा क्योंकि मैंने दिमाग में जो योजना तैयार की थी उस पर विश्वास था.’

रोड्स को नहीं बनाया फील्डिंग कोच, भारतीय फैंस नाराज

'आने वाले वक्त में टीम इंडिया के लिए ओपनिंग करेंगे पंत'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 5:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...