Home /News /sports /

Virat vs BCCI विवाद पर बोले हर्षा भोगले, यह राहुल द्रविड़ के लिए मुश्किल स्थिति

Virat vs BCCI विवाद पर बोले हर्षा भोगले, यह राहुल द्रविड़ के लिए मुश्किल स्थिति

Virat vs BCCI: हर्षा भोगले ने ऐसे में राहुल द्रविड़ को मुश्किल स्थिति में बताया है. AP)

Virat vs BCCI: हर्षा भोगले ने ऐसे में राहुल द्रविड़ को मुश्किल स्थिति में बताया है. AP)

Virat Kohli vs BCCI: अनुभवी कमेंटेटर हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) का मानना ​​है कि बीसीसीआई और विराट कोहली के बीच चल रही कलह को कभी भी सार्वजनिक नहीं करना चाहिए था, क्योंकि यह अंत में केवल भारतीय क्रिकेट को प्रभावित करता है. भोगले ने कहा कि भारत के दक्षिण अफ्रीका के आगामी दौरे के दौरान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के प्रबंधन कौशल का टेस्ट होगा, क्योंकि मुख्य कोच को अपने कप्तान और सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के खुश और सकारात्मक रहने की आवश्यकता होती है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. विराट कोहली (Virat Kohli) की विस्फोटक प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भारतीय टेस्ट कप्तान और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI), विशेष रूप से सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के बीच एक आभासी युद्ध शुरू हो गया है. इस मुद्दे पर भारतीय क्रिकेट जगत में लगातार बहस जारी है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सौरव गांगुली के बयान का खंडन करने के बाद इस बात पर चर्चा हो रही है कि आखिर सच क्या है. जो विराट कोहली ने कहा वो, या उससे पहले जो सौरव गांगुली ने कहा. इन सबके के बीच क्रिकेट एक्पर्ट हर्षा भोगले का कहना है कि विराट और बीसीसीआई के बीच यह स्थिति टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ को मुश्किल में डालती हुई नजर आ रही है.

    हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) ने अपने एक के बाद एक चार ट्वीट किए. इन ट्वीट्स में हर्षा भोगले ने बताया कि कैसे विराट कोहली और सौरव गांगुली के बीच यह स्पष्ट आमना-सामना दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने के राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के काम को और अधिक जटिल बना देता है.

    AUS vs ENG, Ashes 2nd Test: लाबुशेन ने शतक जड़ मचा दिया तलहका, डॉन ब्रैडमैन की लिस्ट में हुए शामिल

    हर्षा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”यह कभी भी एक व्यक्ति बनाम दूसरे की बात पर नहीं आना चाहिए, खासकर तब जब वे भारतीय क्रिकेट के दिग्गज रहे हों. इसलिए, संवाद दोनों तरफ से होना चाहिए. विवाद को सार्वजनिक करने के बजाय आंतरिक रूप से हल करने में मदद करनी चाहिए. आमने-सामने की स्थिति में एक व्यक्ति को हारना पड़ता है, और यह कभी अच्छा नहीं होता. यह राहुल द्रविड़ को एक अजीब स्थिति के साथ प्रस्तुत करता है और ऐसे में अब उनके प्रबंधन कौशल का परीक्षण किया जाएगा, क्योंकि दक्षिण अफ्रीका में जीतने के लिए उन्हें खुश और सकारात्मक रहने वाले अपने कप्तान और सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज की जरूरत है.”

    क्रिकेट विशेषज्ञ ने इस बात पर भी रोशनी डाली है कि इस तरह के विवाद को बॉक्स-ऑफिस के रूप में कैसे देखा जा सकता है, वे टीमों के लिए हानिकारक साबित होते हैं.

    हर्षा भोगले ने तीसरा ट्वीट किया, ”विवाद बॉक्स ऑफिस हैं, लेकिन टीमों के लिए हानिकारक हैं. आखिरकार भारतीय क्रिकेट टीम को मजबूत होना ही होगा. जब हम पूरी सच्चाई नहीं जानते हैं तो सार्वजनिक डोमेन में निष्कर्ष निकालना खतरनाक होता है. मैं अनुभव से बोलता हूं.”

    हालांकि, विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है, जिससे उनका ध्यान केंद्रित ना हो या मैदान पर वह कम प्रेरित हों. दक्षिण अफ्रीका में भारतीय क्रिकेट टीम के प्रदर्शन के बारे में आशंकाओं ने बहुत से प्रशंसकों को चिंतित कर दिया है. लेकिन विराट कोहली का कहना है कि वह दक्षिण अफ्रीका में कुछ खास कर सकते हैं.

    Kohli vs Ganguly: विराट कोहली को मिला दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी का साथ, बोले- यही कारण है…

    बता दें कि भारतीय टीम ने इससे पहले दक्षिण अफ्रीका में कभी भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. जहां कोहली ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान होने की उम्मीद करेंगे, वहीं बोर्ड की मौजूदा स्थिति ने इसे मुश्किल बना दिया है. अब देखना होगा कि विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका में पहली सीरीज जीत पाते हैं या नहीं. दूसरी, तरफ सौरव गांगुली ने भी इस मामले पर अभी कोई जवाब देने से इंकार कर दिया है. शायद गांगुली  इस दौरे को अच्छे से खत्म होने देना चाहते हैं, उसके बाद ही वह इस मसले पर कुछ कहेंगे.

    Tags: Cricket news, India vs South Africa, Sourav Ganguly, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर