लाइव टीवी

अंपायर साइमन टॉफेल का बड़ा खुलासा, कहा-पाकिस्तान के खिलाफ सहवाग के तिहरे शतक में मेरा हाथ

News18Hindi
Updated: April 2, 2020, 3:37 PM IST
अंपायर साइमन टॉफेल का बड़ा खुलासा, कहा-पाकिस्तान के खिलाफ सहवाग के तिहरे शतक में मेरा हाथ
वीरेंद्र सहवाग ने टीम इंडिया के लिए दो तिहरे शतक लगाए हैं.

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) अपनी हाजिरजवाबी के लिए जाने जाते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के विस्फोटक ओपनरों का जिक्र बिना वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का नाम लिए नहीं किया जा सकता. सहवाग बल्लेबाजी करते वक्त जितने आक्रामक थे, उतने ही मैदान और मैदान के बाहर अपनी हाजिरजवाबी के लिए भी जाने जाते हैं. सहवाग के इस चुटीलेपन के कायल आस्ट्रेलिया के दिग्गज अंपायर सामइन टॉफेल (Simon Taufel) भी हैं. साइमन ने वीरेंद्र सहवाग के साथ बिताए पलों को ताजा करते हुए कई खुलासे किए हैं. इस दौरान 49 साल के साइमन टॉफेल ने मुल्तान में भारत-पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच खेले गए मैच की भी चर्चा की.

2004 में मुल्तान टेस्ट में वीरू ने जड़ा था तिहरा शतक
दरअसल, भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने साल 2004 में मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन तिहरा शतक लगाया था. 2004 से लेकर 2008 तक लगातार पांच बार आईसीसी अंपायर आफ द ईयर पुरस्कार जीतने वाले साइमन टॉफेल (Simon Taufel) इस मैच में अंपायरिंग की जिम्मेदारी संभाल रहे थे.

सहवाग जैसे खिलाड़ियों के साथ मजा आता था



आउटलुक की रिपोर्ट के अनुसार, इस मैच का जिक्र करते हुए साइमन टॉफेल (Simon Taufel) ने कहा कि मैं खुशकिस्मत था कि मुल्तान टेस्ट (Multan Test) में अंपायरिंग करने का मौका मिला. मुझे सहवाग (Virender Sehwag) जैसे खिलाड़ियों के साथ अंपायरिंग करने में खूब मजा आता था. सहवाग का टेंपरामेंट बेहतरीन था. वह 300 रन भी बना सकते हैं और जीरो भी. फिर वही स्क्वायर लेग पर मेरे साथ खड़े होते. उन्हें किसी बात पर चकित करना आसान नहीं है वह हमेशा हाजिरजवाबी से पलटवार करते थे. मुझे याद नहीं, लेकिन सहवाग के तिहरे शतक के लिए मेरा छक्के का सिग्नल जिम्मेदार था.



गांगुली की जगह द्रविड़ कर रहे थे कप्तानी
साइमन टॉफेल (Simon Taufel) ने साथ ही कहा कि मुल्तान टेस्ट (Multan Test) में दूसरे अंपायर डेविड शेफर्ड थे, जबकि मैच रेफरी की जिम्मेदारी रंजन मदुगले संभाल रहे थे. इन दोनों के अनुभव से मुझे काफी मदद मिली. टॉफेल ने ये भी बताया कि इस मैच में सौरव गांगुली की जगह राहुल द्रविड़ भारतीय टीम की अगुआई कर रहे थे. गांगुली कमर में चोट लगने के कारण कप्तानी नहीं कर सके.

सहवाग ने जड़े थे 309 रन, सचिन 194 रन पर रहे नाबाद
मुल्तान टेस्ट में भारत ने पारी और 52 रन से जीत हासिल कर सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई थी. इस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने 375 गेंद पर 309 रन बनाए थे. हजबकि सचिन तेंदुलकर ने नाबाद 194 रन की साझेदारी की थी. भारत ने अपनी पारी 5 विकेट पर 675 रन बनाकर घोषित की थी. इस मैच में सौरव गांगुली की जगह राहुल द्रविड़ ने कप्तानी की थी और उन्होंने जब पारी घोषित की तब सचिन अपने दोहरे शतक से महज 6 रन दूर थे. इस फैसले को लेकर काफी विवाद भी हुआ था.

US में फंसी टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले खिलाड़ी की पत्नी, कहा-पता नहीं...

कोरोना वायरस के बीच इस क्रिकेटर ने लिया बड़ा फैसला, कर दिया संन्यास का ऐलान
First published: April 2, 2020, 3:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading