होम /न्यूज /खेल /लॉन्ग ऑन के फील्डर को अंदर बुला लो.. मुझे छक्का जड़ना है.. वीरेंद्र सहवाग ने किससे कहा था ऐसा

लॉन्ग ऑन के फील्डर को अंदर बुला लो.. मुझे छक्का जड़ना है.. वीरेंद्र सहवाग ने किससे कहा था ऐसा

सहवाग ने वर्षों पुराना किस्सा सुनाया था. (PTI)

सहवाग ने वर्षों पुराना किस्सा सुनाया था. (PTI)

Virender Sehwag- Inazamam ul haq: बेखौफ अंदाज में बैटिंग के लिए अपनी पहचान बना चुके वीरेंद्र सहवाग को दुनिया के किसी भी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इंजमाम के भारतीय खिलाड़ियों के साथ रिश्ते अच्छे थे
सहवाग ने 2005 टेस्ट वाला किस्सा सुनाया
सचिन तेंदुलकर भी शो में थे मौजूद

नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट में ट्रिपल सेंचुरी जड़ने वाले पहले भारतीय बैटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने विश्व के लगभग सभी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की है. सहवाग पहली गेंद से ही गेंदबाजों पर टूट पड़ते थे. बेखौफ अंदाज में बैटिंग करने वाले ‘नजफगढ़ के नवाब’ यानी वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की ओपनिंग जोड़ी ने कई वर्षों तक देश की सेवा की. दोनों के कंधों पर टीम इंडिया को तेज शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी होती थी. पाकिस्तानी खिलाड़ियों संग भारतीय क्रिकेटर्स का रिश्ता बेशक मधुर ना हों लेकिन इंजमाम उल हक (Inzamam ul haq) भारतीय क्रिकेटर्स का काफी इज्जत करते थे. सहवाग ने एक इंटरव्यू में इंजमाम से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा सुनाया.

विक्रम साठे के शो में सहवाग और सचिन गेस्ट बनकर आए थे. इस शो में सहवाग ने कहा, ‘ मुझे अच्छी तरह यह बात याद है कि हम पाकिस्तान के खिलाफ 2005 में बेंगलुरु में टेस्ट मैच खेल रहे थे. पहली पारी में मैंने 201 रन बनाए थे. जब मैं बैटिंग कर रहा था तब इंजमाम स्लिप में फील्डिंग कर रहे थे. मैं दानिश कनेरिया की गेंद को लगातार अच्छे से हिट कर रहा था. कुछ देर बाद मैंने इंजी भाई से कहा कि लॉन्ग ऑन को आगे बुला लो. इसपर उन्होंने कहा क्यों? मैंने कहा कि मुझे छक्का लगाना है.’

यह भी पढ़ें:विराट करोड़ों की कार में पहुंचे अरुण जेटली स्टेडियम.. हवा से करती है बात… कीमत जानकर रह जाएंगे हैरान

आंखों पर काला चश्मा.. अकेले कार ड्राइव कर होम ग्राउंड पर पहुंचे Kohli.. सेल्फी शेयर कर लिखा इमोशनल पोस्ट

सहवाग के मुताबिक इंजमाम ने अगली गेंद पर लॉन्ग ऑन के फील्डर को आगे बुला लिया. बकौल सहवाग, ‘इसके बाद दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) ने गेंद मेरे पैड पर फेंकी, और मैंने गेंद को छक्के के लिए बाउंड्री के पार भेज दिया.’ इसके बाद कनेरिया ने इंजमाम से पूछा कि आपने ऐसा क्यों किया? इसपर इंजमाम हंसे और कहा कि सिर्फ एक गेंद के लिए आगे बुलाया है. हालांकि बाद में इंजी ने कहा कि सहवाग के साथ उनके भाई जैसे रिश्ते हैं.

इंजमाम की गिनती पाकिस्तान के सबसे सफल कप्तानों में होती है. सहवाग और सचिन ने इंजमाम की जमकर तारीफ करते हुए उन्हें एक बेहतरीन खिलाड़ी और इंसान बताया. इंजमाम एक शान्त खिलाड़ी के तौर पर जाने जाते थे. वह क्रीज में खड़े खड़े गेंद को बाउंड्री के दर्शन कराते थे.

Tags: India Vs Pakistan, Inzamam ul haq, Virender sehwag

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें