वीरेंद्र सहवाग का धोनी के संन्‍यास पर बड़ा बयान, बोले- हमसे तो पूछा भी नहीं गया था

वर्ल्‍ड कप खत्म होने के बाद धोनी के संन्यास को लेकर काफी अटकलें चल रही हैं. ऐसी भी खबरें हैं कि भारत को 2011 में 28 साल बाद विश्व कप दिलाने वाले कप्तान को आने वाले विंडीज दौरे में टीम को जगह न मिले.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 9:30 PM IST
वीरेंद्र सहवाग का धोनी के संन्‍यास पर बड़ा बयान, बोले- हमसे तो पूछा भी नहीं गया था
एमएस धोनी.
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 9:30 PM IST
पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी को इस बात का पूरा अधिकार है कि वह संन्यास कब लें. उन्होंने साथ ही चयनकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि वह पूर्व कप्तान को अपनी रणनीति के बारे में बता दें. बता दें कि वर्ल्‍ड कप खत्म होने के बाद धोनी के संन्यास को लेकर काफी अटकलें चल रही हैं. ऐसी भी खबरें हैं कि भारत को 2011 में 28 साल बाद विश्व कप दिलाने वाले कप्तान को आने वाले विंडीज दौरे में टीम को जगह न मिले. हाल ही में खत्म हुए वर्ल्‍ड कप में धोनी की धीमी बल्लेबाजी सवालों के घेरे में थी.

अंग्रेजी समाचार चैनल टाइम्स नाऊ पर पैनल चर्चा में सहवाग ने कहा, 'यह धोनी पर छोड़ देना चाहिए कि वह संन्यास कब लेंगे. चयनकर्ताओं का काम यह है कि वह धोनी से बात करें और उन्हें बताएं कि वह अब धोनी को आगे मौके नहीं दे सकते.'

सहवाग ने साथ ही कि कहा कि काश उनके समय में चयनकर्ता उनसे भी अपनी रणनीति साझा करते. सहवाग ने कहा, 'काश चयनकर्ताओं ने मुझसे भी मेरी रणनीति के बारे में पूछा होता तो मैं भी उन्हें बता पाता.'

virender sehwag, ms dhoni retire, dhoni retirement, indian team, वीरेंद्र सहवाग, एमएस धोनी, धोनी संन्‍यास, टीम इंडिया
वीरेंद्र सहवाग.


विक्रम राठौर को दी थी सहवाग से बात करने की जिम्‍मेदारी
सहवाग ने जब संन्यास लिया तब चयनसमिति के अध्यक्ष संदीप पाटिल थे. पाटिल भी इस पैनल में मौजूद थे. पाटिल ने कहा, 'सचिन तेंदुलकर से उनके भविष्य पर बात करने की जिम्मेदारी मुझे और राजिंदर सिंह हंस को सौंपी गई थी और सहवाग से बात करने की जिम्मेदारी विक्रम राठौर को सौंपी गई थी. हमने विक्रम से पूछा था तो उन्होंने कहा था कि उनकी सहवाग से बात हो गई लेकिन अगर सहवाग कह रहे हैं तो मैं इसकी पूरी जिम्मेदारी लेता हूं.'

टीम से बाहर किए जाने से पहले बात करना जरूरी
Loading...

सहवाग ने इसके जवाब में कहा, 'विक्रम ने मुझसे बात जरूर की थी लेकिन तब जब मैं टीम से बाहर हो चुका था. टीम में से हटाए जाने से पहले अगर वह मुझसे बात करते तो इसका मतलब होता. खिलाड़ी को बाहर करने के बाद उससे बात करने का कोई मतलब नहीं है. अगर प्रसाद इस समय धोनी को बाहर कर दें और फिर उनसे बात करेंगे तो धोनी क्या कहेंगे, यही कि वह घरेलू क्रिकेट खेलेंगे और अगर वहां अच्छा कर पाए तो फिर उन्हें टीम में चुन लेना चाहिए. बात यह है कि चयनकर्ताओं को खिलाड़ी से बात तब करनी चाहिए जब वह टीम से हटाया गया नहीं हो.'

कपिल देव ने किया धोनी को मैसेज- संन्यास मत लेना

'राहुल, जाधव की हो टीम इंडिया से छुट्टी, इन्‍हें मिले मौका'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 9:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...