• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • मैदान पर मरने के लिए तैयार थे रिचर्ड्स, बताया-आखिर क्‍यों नहीं पहनते थे हेलमेट?

मैदान पर मरने के लिए तैयार थे रिचर्ड्स, बताया-आखिर क्‍यों नहीं पहनते थे हेलमेट?

रिचर्ड्स ने कहा कि वह बेखौफ खेलने वाले दूसरे खिलाड़ियों से प्रेरणा लेते थे.

रिचर्ड्स ने कहा कि वह बेखौफ खेलने वाले दूसरे खिलाड़ियों से प्रेरणा लेते थे.

एक पॉडकास्ट में विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर शेन वॉटसन (Shane Watson ) से इसके बारे में खुलासा किया

  • Share this:
    मेलबर्न. खेल को लेकर सभी खिलाडि़यों में जुनून रहता है, मगर इनमें से कुछ ऐसे भी होते हैं, जिनका ये जुनून हर सीमाएं पार कर जाता है और फिर वो नाम इतिहास में दर्ज हो जाता है. विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards)  उन्‍हीं में से एक हैं और उनके इसी जुनून ने उन्‍हें दुनिया का सर्वकालिक महान खिलाड़ी बनाया. वेस्‍टइंडीज के दिग्‍गज खिलाड़ी रिचर्ड्स का जुनून क्रिकेट को लेकर इस कदर था कि वो मैदान पर मरने के लिए भी तैयार थे.उन्‍होंने खुद इसका खुलासा किया है. एक पॉडकास्ट में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व हरफनमौला शेन वॉटसन (Shane Watson ) से उन्‍होंने कहा कि खेल को लेकर मेरे भीतर ऐसा जुनून था कि मुझे मैदान पर मरना भी मंजूर था
    अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए मशहूर रिचर्ड्स को कभी हेलमेट पहनना पसंद नहीं किया. उन्होंने कहा कि वह हमेशा जोखिम से वाकिफ थे, लेकिन भयभीत नहीं थे.

    बेखौफ खेलने वाले खिलाड़ियों से प्रेरणा
    रिचर्ड्स ने कहा कि वह बेखौफ खेलने वाले दूसरे खिलाड़ियों से प्रेरणा लेते थे. उन्होंने कहा कि मैने हमेशा उन खिलाड़ियों से प्रेरणा ली है जो निर्भीक होकर खेले. फॉर्मूला वन रेसिंग कार चलाने वालों को देखो , उससे खतरनाक क्या हो सकता है. इस पर वॉटसन ने चुटकी ली और कहा कि 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आने वाली गेंद को हेलमेट के बिना खेलना उससे भी खतरनाक हो सकता है.

    च्‍यूइंगम  नहीं चबा पाते थे
    इस दौरान  रिचर्ड्स ने इस बात का भी खुलासा किया कि आखिर क्‍यों वह डॉक्‍टर के दिए माउथगार्ड को लगाकर नहीं खेलते थे. इस दिग्‍गज खिलाड़ी ने कहा कि डॉक्‍टर ने उन्‍हें माउथगार्ड लगाकर खेलने के लिए कहा था, उन्‍होंने कुछ समय ऐसा किया भी, मगर इससे वह च्‍यूइंगम  नहीं चबा पाते थे.

    दो बार के विश्‍व कप विजेता  रिचर्ड्स ने वेस्‍टइंडीज के लिए 187 टेस्‍ट मैच खेले हैं. इस दौरान उन्‍होंने 50.23 की औसत से 8 हजार 540 रन बनाए हैं. वहीं 187 वनडे मैचों में 47 की औसत से 6 हजार 721 रन बनाए.

    (भाषा इनपुट के साथ )

    Coronavirus: सनराइजर्स हैदराबाद ने किया दान, जानिए कितने रुपये दिए

    वॉटसन फैंस के लिए लाए नया तोहफा, दिग्गजों के साथ मिलकर देंगे क्रिकेट पर ज्ञान

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज