अपना शहर चुनें

States

ये शख्स है साथ7 क्रिकेट महोत्सव का असली शिल्पकार

वंडर सीमेंट के निदेशक विवके पटनी
वंडर सीमेंट के निदेशक विवके पटनी

वंडर सीमेंट द्वारा आयोजित साथ7 क्रिकेट महोत्सव अपने दूसरे संस्करण की सफलता के साथ शिखर पर पहुंच गया है. राजस्थान में खेले गए पहले सीज़न की सफलता और भाग लेने वालों के उत्साह को देखकर दूसरे सीज़न की नींव पड़ी थी और आज यह गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान में हो रहा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2017, 4:26 PM IST
  • Share this:
वंडर सीमेंट द्वारा आयोजित साथ7 क्रिकेट महोत्सव अपने दूसरे संस्करण की सफलता के साथ शिखर पर पहुंच गया है. राजस्थान में खेले गए पहले सीज़न की सफलता और भाग लेने वालों के उत्साह को देखकर दूसरे सीज़न की नींव पड़ी थी और आज यह गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान में हो रहा है. न्यूज़18 के साथ विशेष इंटरव्यू में वंडर सीमेंट के निदेशक विवके पटनी ने इससे जुड़े तमाम दिल छू जाने वाले रहस्य उजागर किये.पेश है ख़ास बातचीत...

इस वर्ष साथ7 क्रिकेट महोत्सव का कारवां तीन राज्यों- राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात में फैल गया है. इन सभी राज्यों में पंजीकरण के दौरान कैसी प्रतिक्रिया मिली?
पंजीकरण के दौरान तीनों राज्यों में शानदार प्रति​क्रिया मिली. टूर्नामेंट उन सभी वर्गों, उम्र और व्यवसाय के लोगों के लिए खुला है जो इसमें भाग लेना चाहते हैं. हमें मेसन, एमबीबीएस छात्रों, सरकारी अधिकारी, स्कूल के छात्रों आदि से पंजीकरण प्राप्त हुआ है! इस साल टूर्नामेंट में केवल महिलाओं की 60 से अधिक टीमों का प्रदर्शन होगा. जबकि इस बार एक ख़ास टीम 'प्रशासन' शामिल है जिसमें डीजीएम, बीडीओ, तहसीलदार, डॉक्टर और पुलिस अधिकारी शामिल हैं जो खेलने के लिए एकदम तैयार हैं. वहीं एक अन्य टीम निःशक्तजन खिलाड़ियों की है जिसके खिलाड़ी अतीत में राज्य स्तर तक खेले हैं. एक और भाग लेने वाली टीम 'राजकीय मूक बधिर विद्यालय' से है, जो हियरिंग और स्पीच से संबंधित छात्रों का स्कूल है. यकीनन यह हमारे साथ-साथ दूसरों के लिए भी प्रेरणा का एक बड़ा कारण है. कुल 14000 से अधिक टीम्स इस सीज़न में पंजीकृत हैं और लगभग 48000 लोगों को तीन राज्यों में होने वाले तहसील स्तर के मैचों में भाग लेने के लिए चुना गया है.

इस साल महिलाओं की कितनी टीमों ने पंजीकरण कराया है. क्या कोई ऐसी टीम है जिसमें सभी महिलाएं हैं?
साथ7 क्रिकेट महोत्सव में हमने तय किया कि जो भी टीम अपने साथ एक ​महिला खिलाड़ी रखेगी उसे सात रन बोनस के रूप में मिलेंगे. आश्चर्य की बात है कि इस बार हमें महिलाओं की 60 से अधिक टीमों का पंजीकरण प्राप्त हुआ. जबकि एक टीम में एक या फिर इससे अधिक महिला खिलाड़ियों की संख्या के रूप में  एक हजार से अधिक महिलाएं मैदान में हैं.



 

साथ7 क्रिकेट टूर्नामेंट ग्रास रूट लेवल पर लोगों की मदद करता है?
साथ7 क्रिकेट एक ऐसा वेंचर है जो कि भारत के ग्रामीण क्षेत्र के टैलेंट को प्रमोट करता है. 7 खिलाड़ियों के बीच खेले जाने वाले सात ओवर के इस टूर्नामेंट ने दूरदराज के इलाके के लोगों को अपनी प्रतिभा दिखाने के साथ-साथ खेलने, बातचीत और आनंद लेने का मंच प्रदान किया है. जबकि यह टूर्नामेंट स्थानीय टैलेंट, महिलाओं का कल्याण, समाज में एकता और स्थानीय स्तर पर रोजगार का सृजन करता है. जब से साथ7 क्रिकेट महोत्सव को गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान की 298 लोकेशन पर आयोजित किया गया है. इन तीन महीनों में तकरीबन बहुत सारे लोगों को रोजगार उपलब्ध हुआ है. इस दौरान मैदान और पिच के रखरखाव के अलावा बल्ले, गेंद, बॉल, स्टंप और किट बनाने के लिए भी लोगों की आवश्यकता होती है. जबकि तीनों राज्यों के दूरस्थ गांवों में रोड शो आयोजित करने के लिए भी लोगों की जरूरत होती है. हालांकि इतने बड़े स्तर पर टूर्नामेंट का आयोजन करना एक चुनौतीपूर्ण काम है. वहीं पूरे टूर्नामेंट को बेहतर तरीके से आयोजित करने लिए प्रत्येक लोकेशन पर एक पर्यवेक्षक टीम भी तैनात की जाती है. लिहाजा साथ7 क्रिकेट महोत्सव में प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से 10000 लोग आयोजन और क्रियान्वयन में लगे हुए हैं. यानि 10000 लोगों को रोज़गार उपलब्ध हुआ है.

इन व्यवसाय आधारित टीमों, विशेषकर मेसन के पीछे क्या आइडिया है?
हमने इस बार मेसन टीम को मौका दिया है जो कि वंडर सीमेंट के कार्यक्रम 'साथी' से संबंधित है. इसे प्रत्येक तहसील में सीधे प्रवेश दिया गया है ताकि उनके अंदर खेल भावना और टीम वर्क पैदा हो सके.

विशेष रूप से तैयार साथ7 क्रिकेट महोत्सव 2017 की ट्रॉफी के बारे में हमें कुछ बताएं?
साथ7 क्रिकेट महोत्सव की चैंपियन टीम एक 34-इंच की चांदी की रंगीन ट्रॉफी को उठाने के अलावा 3.5 लाख रूपए का नकद पुरस्कार भी प्राप्त करेगी. यह ट्रॉफी चैंपियन टीम को एक अलग ही एहसास कराएगी.

साथ7 क्रिकेट महोत्सव का फाइनल कब है. आपके हिसाब से कौन सा राज्य इस ट्रॉफी को अपने साथ ले जाएगा?
साथ7 क्रिकेट महोत्सव का फाइनल मुकाबला 24 दिसंबर को झीलों के शहर उदयपुर, राजस्थान में खेला जाएगा. निश्चित रूप से बेस्ट टीम इस ट्रॉफी को अपने साथ ले जाएगी और अपने राज्य को गौरवान्वित करेगी.

साथ7 क्रिकेट महोत्सव का कोई यादगार लम्हा जिसे आप हमारे साथ शेयर करना चाहेंगे?
आपसे शेयर करने के लिए तो बहुत सारे लम्हे हैं, जबकि पिछले साल इस टूर्नामेंट के दौरान खिलाड़ियों के उत्साह ने हमें ख़ासा प्रेरित किया था. उदाहरण के लिए पिछले सीज़न में एक 65 वर्षीय महिला मीरा देवी मैदान पर आईं और मैच खेला. इस घटना ने हमें आश्चर्यचकित किया.

बहरहाल, साथ7 क्रिकेट महोत्सव 2017 में तहसील स्तर के मैचों में 11 शतक और 79 अर्धशतक लगे हैं और यह सबके लिए गर्व की बात है.

यह भी पढ़ें:

अब साथ7 क्रिकेट महोत्सव में जोनल लेवल पर 51 टीमों के बीच होगी टक्कर

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज