वीवीएस लक्ष्मण ने किया खुलासा, क्यों IPL में धोनी से भी सफल कप्तान हैं रोहित शर्मा

वीवीएस लक्ष्मण ने किया खुलासा, क्यों IPL में धोनी से भी सफल कप्तान हैं रोहित शर्मा
आईपीएल में रोहित शर्मा मुंबई इंडियंस के कप्तान हैं (फाइल फोटो)

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने बतौर कप्तान सबसे ज्यादा चार आईपीएल खिताब जीते हैं

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने कहा कि रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में कप्तान के तौर सफलता का सबसे बड़ा कारण दबाव की परिस्थितियों में भी शांत चित बने रहना है.

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के 33 वर्षीय कप्तान रोहित (Rohit Sharma) ने अब तक आईपीएल (IPL) में चार खिताब जीते हैं जो चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) से एक खिताब अधिक है. इससे वह आईपीएल (IPL) इतिहास के सबसे सफल कप्तान बन गये हैं.

डेक्कन चार्जर्स में रहते हुए ही कप्तान बन गए थे रोहित
लक्ष्मण ने याद किया कि डेक्कन चार्जर्स की तरफ से पहले आईपीएल में खेलते हुए रोहित एक बल्लेबाज और नेतृत्वकर्ता के रूप में कैसे बेहतर बना. उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘वह डेक्कन चार्जर्स की टीम में रहते हुए ही कप्तान बन गया था. जब वह पहले साल आया तो काफी युवा था और तब वह टी20 विश्व कप (T20 World Cup) में ही खेला था और उसे भारत की तरफ से डेब्यू किये हुए ज्यादा समय नहीं हुआ था.’



लक्ष्मण ने कहा, ‘हमारी टीम आईपीएल के पहले सत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी थी लेकिन रोहित ने बेहतरीन खेल दिखाया था. उसने जिस तरह से मध्यक्रम में दबाव में बल्लेबाजी की वह शानदार था. ’ रोहित आईपीएल (IPL) इतिहास में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर हैं. उन्होंने अब तक 188 मैचों में 31.60 की औसत से 4898 रन बनाये हैं जिसमें उनका उच्चतम स्कोर नाबाद 109 रन है.



रोहित ने खुद को किया साबित
लक्ष्मण  (VVS Laxman) ने कहा, ‘प्रत्येक मैच और हर एक सफलता के बाद उसका आत्मविश्वास बढ़ता गया. वह कोर ग्रुप में शामिल हो गया. वह युवाओं की मदद करता और अपने विचार रखता. यह उसकी नेतृत्वक्षमता के शुरुआती लक्षण थे. ’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन सबसे महत्वपूर्ण दबाव की परिस्थितियों से पार पाना था क्योंकि इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों में बल्लेबाजी करके उसने साबित किया था और वह निरंतर बेहतर बनता रहा. यही वजह है कि वह आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में से एक है. ’

शिव केशवन: भारत का शीतकालीन ओलिंपियन जिसने दो दशक तक किया देश का प्रतिनिधित्व

4 शतकों की मदद से 973 रन ठोकने के बाद भी टूटा विराट कोहली का सपना, 6 गेंद में खत्म हो गई सारी उम्मीदें!
First published: May 29, 2020, 1:56 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading