सचिन ने खुद को कमरे में कर लिया था बंद, सामने आई पूरी सच्चाई

सचिन ने खुद को कमरे में कर लिया था बंद, सामने आई पूरी सच्चाई
सचिन तेंदुलकर भारत के महान बल्लेबाजों में शामिल है

शेन वॉर्न (Shane Warne) सचिन (Sachin Tendulkar) को 12 टेस्ट मैच में केवल तीन बार आउट कर पाए हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. क्रिकेट की दुनिया में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को भगवान माना जाता है. वह खिलाड़ी जिसके बल्ले से दुनिया के सबसे बेहतरीन और नामुमकिन से दिखने वाले रिकॉर्ड निकले. वह बल्लेबाज जिसने हर मुश्किल गेंदबाज की चुनौती का सामना किया. सचिन के करियर में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज शेन वॉर्न (Shane Warne) के साथ उनकी क्रिकेट की जंग बहुचर्चित थीं. वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने ऐसे ही एक मैच के बारे में बताते हुए खुलासा किया कि कैसे एक टेस्ट मैच में सचिन चार रन बनाकर आउट हुए और फिर खुद को कमरे में बंद कर लिया था.

एक घंटे तक सचिन ने खुद को किया था बंद
साल 1998 में भारत औऱ ऑस्ट्रेलिया के बीच एम.ए चिदंबरम स्टेडियम में मैच खेला जा रहा था.
लक्ष्मण ने क्रिकेट कनेक्टेड कार्यक्रम में कहा, 'चेन्नई टेस्ट के लिए तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने काफी मेहनत की थी . हालांकि पहली पारी में वह केवल चार रन बनाकर ही आउट हो गए थे. उन्होंने सिर्फ एक चौका लगाया था और फिर अगली गेंद पर मार्क टेलर के हाथों कैच आउट हो गए थे.'
लक्ष्मण ने आगे बताया कि सचिन (Sachin Tendulkar) अपनी इस पारी से इतना दुखी थे कि उन्होंने खुद को फीजियो के कमरे में एक घंटे के लिए बंद कर लिया था. लक्ष्मण ने कहा, 'जब वह बाहर आए तब उनकी लाल थीं. मैं समझ गया था कि वह काफी ज्यादा निराश हैं इसलिए इतना भावुक हो गए.' ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 328 बनाकर 71 रनों की लीड ले ली थी. भारत ने दूसरी पारी में 418 रन बनाए थे जिसमें सचिन की नाबाद 155 रनों की पारी शामिल थी. उन्होंने पहली पारी की पूरी कसर दूसरी पारी में पूरी की थी. उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया था.



लक्ष्मण ने कहा, ' दूसरी पारी में, सचिन ने शानदार पारी खेली और शेन वॉर्न का डटकर सामना किया. . वॉर्न क्रीज की गहराई का इस्तेमाल कर रहे थे, लेकिन सचिन मिड ऑफ और मिड-ऑन पर गेंद को हिट करते थे और उन्होंने फिर शतक लगाया. वॉर्न के साथ उनका मुकाबला सर्वश्रेष्ठ रहा है.' वॉर्न 12 टेस्ट मैचों में केवल 3 बार तेंडुलकर को आउट कर पाए थे.

दुनिया है इस प्रतिद्वंदिता की दीवानी
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बैटिंग तकनीक की तारीफ की है. ली ने एक टीवी कार्यक्रम में बताया कि सचिन दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न के सामने भी इतने मजबूत थे कि वह उन्हें मनचाही जगह शॉट लगाते थे. सचिन और वॉर्न जब खेला करते थे तब उनके बीच की जंग बहुचर्चित हुआ करती थी. अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने भी मान लिया है कि इस जंग में जीत लिटिल मास्टर की होती थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज