पाकिस्तानी दिग्गज ने बताई वजह, वर्ल्ड कप में क्यों भारत को नहीं हरा पाती उनकी टीम

पाकिस्तान के खिलाफ भारत का वर्ल्ड कप रिकॉर्ड शानदार है
पाकिस्तान के खिलाफ भारत का वर्ल्ड कप रिकॉर्ड शानदार है

भारत (India) आईसीसी वर्ल्ड कप (ICC World Cup) में आज तक पाकिस्तान (Pakistan) से कभी नहीं हारा है

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच हमेशा से ही प्रतिद्वंदिता रहती है चाहे खेल जो भी हो. क्रिकेट में तो इसका रोमांच अलग ही स्तर पर पहुंता जाता है. बीते समय में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम काफी मजबूत हुआ करती थी और भारत को जीत के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती थी. हालांकि समय के साथ बदलाव हुआ है. आज दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज नहीं होती लेकिन आईसीसी (ICC) के टूर्नामेंट में दोनों जरूर आमने-सामने आते हैं. बात करें वर्ल्ड कप (ICC World Cup) की तो पाकिस्तान के खिलाफ भारत का रिकॉर्ड शानदार रहा है. भारत टूर्नामेंट के इतिहास में कभी पाकिस्तान से नहीं हारा है. पाकिस्तान (Pakistan) के दिग्गज वकार यूनुस ने बताया कि आखिरकार आज तक उनकी टीम भारत से जीत क्यों वहीं पाई है.

वर्ल्ड कप में भारत से कभी नहीं जीता पाकिस्तान
यूनुस खान ने कहा 'हमने दूसरे फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन किया है. हमने टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन जब विश्व कप की बात आती है तो भारत हमेशा हमपर हावी रहा है. भारतीय टीम हम तरह से इसके काबिल भी रही है. वर्ल्ड कप में हमसे बेहतर क्रिकेट खेला है, लेकिन मैच पर नियंत्रण के बावजूद हम दबाव नहीं झेल पाते और हार जाते हैं.'
साउथ अफ्रीका के स्टार खिलाड़ी ने खोला राज, बताया लार पर बैन के बाद क्या करें गेंदबाज
बीसीसीआई एसीयू ने 'मैच फिक्सर' रविंदर दांडीवाल से की पूछताछ, कहा- भ्रष्टाचारियों में मची खलबली



दबाव के कारण करीबी मुकाबले हारी पाकिस्तानी टीम
यूनुस खान ने साल 2003 में हए वर्ल्ड कप मैच के बारे में बात करते हुए बताया कि भारतीय टीम की ताकत क्या है. उन्होंने कहा 'मुझे बैंगलोर और दक्षिण अफ्रीका में 2003 के मैच याद हैं. टीम इंडिया बहुत अच्छी टीम थी. वे पॉजिटिव माइंड के साथ मैच खेलते हैं. उन मैचों में भी उन्होंने हमसे अच्छा क्रिकेट खेला. वर्ल्ड कप का वह मैच हमारे हाथ में था, लेकिन फिर भी हम हार गए. आप 2011 के वर्ल्ड कप को देखें या 1996 के वर्ल्ड कप को हर बार हमने हाथ में आया मैच गंवा दिया. इस बात का कारण जानना मुश्किल है कि विश्व कप का दबाव कई बार हम क्यों नहीं झेल पाते. यह मानसिक दबाव भी हो सकता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज