वसीम अकरम का खुलासा, सचिन को आउट करने के लिए बनाई खास योजना, मगर मंडरा रहा था बड़ा खतरा

वसीम अकरम का खुलासा, सचिन को आउट करने के लिए बनाई खास योजना, मगर मंडरा रहा था बड़ा खतरा
सचिन तेंदुलकर सकलैन की गेंद पर आउट हो गए थे (फाइल फोटो )

चेन्‍नई टेस्‍ट में टीम इंडिया (Team India) जीत के काफी करीब थी, मगर तभी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का विकेट गिर गया और टीम काफी करीबी अंतर से मुकाबला हार गई.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान के दिग्‍गज गेंदबाज वसीम अकरम (Wasim Akram) ने खुलासा किया कि 1999 में भारत दौरे पर महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को आउट करने के लिए उनकी टीम ने खास रणनीति बनाई थी. 1999 में अकरम की अगुआई में पाकिस्‍तान की टीम भारत दौरे पर आई थी और दोनों टीमों के बीच चेन्‍नई में खेले गए टेस्‍ट मैच को आज भी फैंस नहीं भूल पाए हैं. जहां सचिन ने 136 रन की पारी खेली थी, वहीं पाकिस्‍तान इस मैच में जीत दर्ज करने में सफल रहा था.
वसीम अकरम ने खुलासा किया कि सचिन को आउट करने के लिए उन्‍होंने और सकलैन मुश्‍ताक ने खास रणनीति बनाई थी और वो सफल भी हुए थे. चेन्‍नई टेस्‍ट में सचिन 136 रन पर खेल रहे थे और टीम इंडिया जीत से सिर्फ 17 रन दूर थी. मगर तभी उनका विकेट गिर गया. सकलैन के दूसरा पर अकरम ने उनका कैच लपक लिया. इस मैच के पहली पारी में सकलैन ने सचिन को डक किया था.

सकलैन को अच्‍छे से पढ़ रहे थे सचिन
वसीम अकरम ने पूर्व भारतीय सलामी बल्‍लेबाज आकाश चोपड़ा से यूट्यूब पर बातचीत में बताया कि उन्‍हें आज भी लगता है, जैसे यह मैच कल की ही बात है. उन्‍हें 1987 में बैंगलोर में खेला गया टेस्‍ट मैच याद है, जिसमें सुनील गावस्‍कर ने करीब 90 रन बनाए थे और फिर चेन्‍नई टेस्‍ट. अकरम ने कहा कि यह एक ऐसा टेस्‍ट मैच था, जो निर्णाय‍क दिन में था. भारत को शायद 20 रन के करीब चाहिए थे. सचिन और मोंगिया के बीच अच्‍छी पार्टनरशिप हो रही थी. सचिन सकलैन को अच्‍छे तरह से बढ़ रहे थे और सचिन उनके दूसरा को भी पढ़ रहे थे.
अकरम ने कहा कि जीत के लिए 271 रनों की जरूरत थी और भारत ने 82 रन पर ही पांच विकेट गंवा दिए थे और ऐसे समय में सचिन और नयम मोंगिया ने छठे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की. अकरम ने मोंगिया को तेजी से शॉट खेलने के लिए मजबूर किया. उन्‍होंने कहा कि अगर उस समय मोंगिया सचिन के साथ होते तो परिणाम कुछ और होता. उन्‍होंने उसी समय टीम को कह दिया था कि यही मौका है, जब सचिन को आउट कर सकते हैं. इसके बाद सकलैन उनके पास आए और उन्‍होंने कहा कि खतरा ले सकते हैं, जिससे सचिन उनके जाल में फंस गए.



जब सचिन बाहर निकले तो सभी बाउंड्री पर थे. सिर्फ वहीं एक्‍स्‍ट्रा कवर पर थे. अकरम ने सकलैन को दूसरा फेंकने के लिए कहा, यह जानते हुए कि इस गेंद पर छक्‍का लग सकता है और मास्‍टर ब्‍लास्‍टर मिड विकेट के ऊपर से मारेंगे. सकलैन ने गेंद को मिडिल और लेग पर फेंका और सचिन खेलने के लिए आगे आए. उनके बल्‍ले का ऊपरी किनारा लगा और गेंद अकरम के हाथों में चली गई. पाकिस्‍तान ने यह मुकाबला अपने नाम कर लिया था.

धोनी के नए लुक से हैरान फैंस, कहा- शेर बूढ़ा हो गया पर शिकार करना नहीं भूला

लॉकडाउन के बीच कोहली को दिखा खिलाड़ियों का 'असली रंग', कहा- कभी सोचा नहीं था..

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज