लाइव टीवी

जिस मांकडिंग से पिछले IPL में उठ गया था विवाद, जानिए उसका भारत से क्या है कनेक्शन

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 11:36 AM IST
जिस मांकडिंग से पिछले IPL में उठ गया था विवाद, जानिए उसका भारत से क्या है कनेक्शन
आईपीएल 2019 के दौरान आर अश्विन ने की थी मांकडिंग

आईपीएल 2019 (IPL 2019) में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के कप्तान आर अश्विन (R Ashwin) ने मांकडिंग की थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2020, 11:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईपीएल (IPL) में हर साल कई विवाद हो जाते हैं जो चर्चा को विषय बन जाते हैं. पिछले साल आईपीएल (IPL) में ऐसा ही कुछ हुआ जिसने पुरी क्रिकेट दुनिया को दो भागों में बांट दिया. पिछले साल किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के कप्तान आर अश्विन (R Ashwin) ने राजस्थान रॉयल्स के जॉस बटलर (Jos Buttler) को माकंड किया था जिसके बाद इसे लेकर चर्चा शुरू हो गई थी. जहां कुछ दिग्गज और खेल के जानकार इसे नियमों के अधीन और सही मान रहे थे. वहीं कुछ को यह खेल भावना के खिलाफ लगा था. आऱ अश्विन ( R Ashwin) ने कहा था कि उन्होंने जो किया उसका उन्हें कोई अफसोस नहीं है.

क्या कहते हैं नियम
आईसीसी के नियम 42.14 में शुरुआती तौर पर कहा गया था, 'गेंदबाज को, जब वह गेंद नहीं फेंकी हो और अपनी आम डिलीवरी के लिए स्विंग पूरा ना किया हो तब वह नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े बल्लेबाज को रन आउट कर सकता है.' साल 2017 में नया नियम आया जिसके बाद गेंदबाज को गेंद फेंकने का पूरी तरह अनुमान लगाने के बाद भी नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े बल्लेबाज को आउट करने का हक होता है. यदि गेंदबाज तब अपनी कोशिश में नाकाम रहता है तो अंपायर उस गेंद को डेड बॉल घोषित कर देता है.

भारत के वीनूम माकंड से है ताल्लुक



इस नियम के लिए इस्तेमाल किए गए शब्द का ताल्लुक भी भारत से ही है. सबसे पहले इस शब्द का इस्तेमाल 1947 किया गया था. उस दौरान भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई थी. उसी दौरे पर एक मैच के दौरान भारतीय गेंदबाज वीनू माकंड ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बिल ब्राउन को नॉन स्ट्राइकर एंड गेंद फेंकने से पहले आउट किया था. हालांकि उन्होंने इससे पहले बिल को चेतावनी दी थी. वीनू ने मुकाबले से पहले हुए अभ्यास मैच में भी बिल को इसी तरह आउट किया था. उस समय ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने इसे खेल भावना के खिलाफ बताया था . हालांकि महान बल्लेबाज और ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन ने इसे सही बताया था.



ब्रैडमैन ने अपनी किताब में लिखा था, 'मुझे पूरी जिंदगी में समझ नहीं आया कि माकंड की आलोचना क्यों होती थी. नियमों में साफ तौर पर लिखा गया है कि नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े बल्लेबाज को गेंद के फेंके जाने तक क्रीज से बाहर नहीं जाना होता है. ऐसे में अगर गेंदबाज ऐसा करता है तो क्या गलत है. माकंड नियमों के हिसाब से सही है.'

ये बल्लेबाज था टीम इंडिया की पहली रन मशीन, ठोके 22 हजार से ज्यादा रन, किया था विराट का सेलेक्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 11:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading