दिहाड़ी मजदूरी और दूध बेचते हैं ये भारतीय क्रिकेटर, सौरव गांगुली से है मदद की उम्मीद

दिहाड़ी मजदूरी और दूध बेचते हैं ये भारतीय क्रिकेटर, सौरव गांगुली से है मदद की उम्मीद
गांगुली कब करेंगे दिव्यांग क्रिकेटरों की मदद

भारतीय दिव्यांग क्रिकेटरों को बीसीसीआई (BCCI) से मदद की उम्मीद, क्या मदद करेंगे अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly)

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय टीम की जर्सी पहनने वाले सारे क्रिकेटर किस्मतवाले नहीं होते , खासकर वे जो दिव्यांग हैं और जिन्हें इंतजार है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड उन्हें अपनी छत्रछाया में ले .भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज निर्मल सिंह ढिल्लों पंजाब के मोगा में दूध बेचकर गुजारा कर रहे हैं जबकि संतोष रंजागणे कोल्हापूर में दुपहिया वाहनों की मरम्मत करते हैं . वहीं बल्लेबाज पोशन ध्रुव रायपुर में एक गांव में वेल्डिंग की दुकान पर काम करते थे. कोरोना वायरस महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के बाद उन्हें खेतों में दिहाड़ी मजदूरी करके गुजारा करना पड़ रहा है जिसमें उन्हें रोज 150 रूपये मिलते हैं . ये सभी भारत के क्रिकेटर हैं और हाल ही में राष्ट्रीय टीम की सफलता में इनकी अहम भूमिका रही है लेकिन अब ये पेट पालने के लिये जूझ रहे हैं क्योंकि ये बीसीसीआई (BCCI) के अधीन नहीं आते .

दिव्यांग क्रिकेटरों के लिए कब होगी समिति गठित?

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज