जहीर खान ने धोनी पर दिया बड़ा बयान, कहा-बनी बनाई टीम मिली, ज्यादा कुछ करना ही नहीं पड़ा, गांगुली ने...

एमएस धोनी की अगुआई में भारत ने टी20 विश्व कप और वनडे विश्व कप जीता.

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान (Zaheer Khan) ने सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की कप्तानी में ही अपने करियर की शुरुआत की थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. किस देश का कौन सा खिलाड़ी सबसे सफल कप्तान है, इस बात की तुलना अक्सर की जाती है. भारतीय क्रिकेट भी इस सवाल से अलग नहीं है. मौजूदा परिप्रेक्ष्य में बात करें तो सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की कप्तानी एमस धोनी (MS Dhoni) की लीडरशिप से कितनी अलग थी या​ विराट कोहली की कप्तानी कहां स्टैंड करती है, इसे लेकर भी सवाल उठते रहे हैं. कप्तान की महानता कभी आंकड़ों में आंकी जाती है तो कभी उसके तेवरों से. हालांकि टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर (Zaheer Khan) खान ने अब सौरव गांगुली और एमएस धोनी की कप्तानी की तुलना करते हुए बड़ा बयान दिया है.

    करियर की शुरुआत में कप्तान से सपोर्ट की जरूरत होती है
    जहीर खान (Zaheer Khan) ने सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की कप्तानी में ही अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी और यूट्यूब पर एक चैट शो में इसे याद करते हुए उन्होंने कहा कि अपने करियर के शुरुआती मोड़ पर आपको इस तरह की सपोर्ट की जरूरत होती है, जैसी मुझे गांगुली से मिली. इसके बाद ये आप पर है कि आप अपने करियर को क्या दिशा देते हैं. मगर शुरुआती सपोर्ट बेहद अहम है.

    धोनी बाद में सौरव गांगुली की भूमिका में आ गए
    इतना ही नहीं, जहीर खान (Zaheer Khan) ने बताया, जब महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को टीम मिली तो उसमें बहुत अनुभवी खिलाड़ी थे, इसलिए उन्हें बहुत ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ी. ये अलग बात है कि जब इन खिलाड़ियों ने संन्यास लेना शुरू किया तब धोनी ने युवा खिलाड़ियों को उभारना शुरू किया. धोनी तब वैसी ही भूमिका में आ गए और उन्होंने वो सब करना शुरू कर दिया जो युवा खिलाड़ियों के साथ सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने किया था. यही एक अच्छे कप्तान की खास बात होती है कि वो टीम को आगे की ओर ले जाता है.

    जहीर ने साल 2000 में किया था डेब्यू
    भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में शुमार बाएं हाथ के पेसर जहीर खान (Zaheer Khan) ने कहा कि भारतीय क्रिकेट में हर दशक में कप्तान अपने उत्तराधिकारी को बैटन पास करता है और फिर वह खिलाड़ी टीम को अगले स्तर पर ले जाने का काम करता है. जहीर खान ने नैरोबी में साल 2000 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था. इस टूर्नामेंट में उनके साथ युवराज सिंह ने भी डेब्यू किया था.

    Coronavirus की चपेट में आए थे रोनाल्डो के दो साथी, अब पूरी तरह हुए ठीक

    पाकिस्तानी बल्लेबाज ने कनेरिया पर लगाए गंभीर आरोप-लालच के लिए आत्मा तक बेच दी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.